Tuesday, January 12, 2021

नारायणपुर प्रवास के दौरान मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने मितान पुलिस पेट्रोल पंप का किया उदघाटन और डीआरजी के जवानों से मिलकर किया उनका हौसला अफजाई

श्री भूपेश बघेल दिनांक 9 जनवरी और 10 जनवरी 2021 को नारायणपुर जिला के प्रवास पर रहे, इस दौरान दिनांक 09 जनवरी 2021 को उन्होंने श्री मोहित गर्ग, पुलिस अधीक्षक, नारायणपुर के निर्देशन में तैयार "सुना गोठ - अबूझमाड़ के संगवारी" (हल्बी, गोंडी और छत्तीसगढ़ी बोली में, एल्बम) श्रीमती जागृति डी के निर्देशन और श्री मोहित गर्ग पुलिस अधीक्षक नारायणपुर के संकल्पना पर आधारित डॉक्यूमेंट्री "एक्सप्लोरिंग अबूझमाड़ - द लार्जेस्ट अनसर्वेड एरिया ऑफ इंडिया" नारायणपुर पुलिस द्वारा राकेश डांस क्रू के सहयोग से तैयार शॉर्ट फिल्म "पूना डेरा - Surrender", "मुखबीर - Police Informer",  "विस्फोट - Blast of Fear" और "विकास- Need of Development" तथा "गोंडी से हिंदी - शब्दकोश" का विमोचन किया। उन्होने कहा बस्तर से बाहर के जो अधिकारी/कर्मचारी बस्तर में सेवा और निवास के लिए आते हैं उनके लिए यह शब्दकोश अत्यंत उपयोगी साबित होगा। तत्पश्चात उन्होंने शासकीय स्कूल परिसर में नारायणपुर जिला प्रशासन के सहयोग से नारायणपुर पुलिस द्वारा संचालित देश के सबसे बड़े मलखम्ब खेल ग्राउंड का उद्घाटन किया, श्री बघेल ने मलखम्ब खिलाड़ी बच्चों के मलखम्ब प्रदर्शन को देखकर खिलाड़ी बच्चों को अपनी शुभकामनाएं देते हुए इन्हें राज्य के गौरव बढ़ाने के लिए खेल के मूल सिद्धांतों से बच्चों को अवगत कराया। ज्ञातव्य हो कि नारायणपुर पुलिस द्वारा पुलिस जवान श्री मनोज प्रसाद जो मलखम्ब प्रशिक्षक हैं के अधीन मलखम्ब प्रशिक्षण केन्द्र की शुरूआत कराया गया, जिसे अब जिला प्रशासन और राज्य सरकार का भी सहयोग प्राप्त होने लगा है। इस प्रशिक्षण केन्द्र में वर्तमान में लगभग 120 प्रशिक्षणार्थी प्रशिक्षण प्राप्त कर रहें हैं, जल्द ही यह प्रशिक्षण केन्द्र देश के सबसे बडे मलखम्ब प्रशिक्षण केन्द्र के रूप में विकसित हो सकता है। श्री मनोज प्रसाद के नेतृत्व में अलग-अलग केटेगरी में 8गोल्ड मेडल प्राप्त कर  वर्ष- 2020 में छत्तीसगढ़ के खिलाडी देश में प्रथम रेंकिंग में हैं। राजेश कोर्राम (9वर्ष) आल इंडिया इन्विटेशन मलखम्ब चैम्पियन शीप, प्रतापपुर (अम्बिकापुर) के ओपन केटेगरी में गोल्ड मेडल प्राप्त किये जो छत्तीसगढ़ और अबुझमाड का प्रथम गोल्डमेडलिस्ट है। सभी 8 गोल्डमेडलिस्ट बच्चे खिलाडी अबुझमाड के मूल निवासी हैं। 

उल्लेखनीय है कि श्री मोहित गर्ग, पुलिस अधीक्षक, नारायणपुर के निर्देशन में तैयार ‘‘सुना गोठ - अबुझमाड के संगवारी एल्बम नारायपुर पुलिस के जवानों और राकेट डांस क्रु द्वारा संयुक्त रूप से तैयार किया गया है इस एल्बम के गाने हल्बी, गोंडी और छत्तीसगढ़ी बोली में रिकार्ड किये गये हैं। सुना गोठ आडियो एल्बम में कुल 05 गाने हैं ये गीत (01) करा समर्पण - हल्बी के माध्यम से स्थानीय युवाओं और बालकों को किस प्रकार से जबरदस्ती नक्सली बना लिया जाता है और उन्हें अमानवीय हिंसा के लिए कितना प्रताड़ित किया जाता है तथा उन्हें अपने बडे नक्सली लीडर का कितना अधिक गुलामी करना पडता है, इसका फिल्मांकन किया गया है। इस गीत के माध्यम से दिखाया गया है कि अत्यधिक क्रुर नक्सली बनने के बाद भी उन्हें प्रेम, शिक्षा, सम्मान, स्वाभिमान और मानव अधिकारों से वंचित होकर दहशत और किल्लत भरे जीवन जीने को मजबूर रहना पडता है। (02) सुना काय दादा दीदी - हल्बी में (03) प्रशासन करे दे सुरक्षा - हल्बी में (04) वाय निमा वाय बाबा - गोंडी में और (05) बस्तर के माटी महान - छत्तीसगढी में रिकार्डेड है। उल्लेखनीय है कि ‘‘करा समर्पण’’ हल्बी गीत का विडियो वर्जन अभी हाल ही में रिलिज किया गया है, जो लम्बे दिनों तक सोशल मीडिया में ट्रेण्ड करता रहा शेष गाने का विडियो वर्जन की रिकार्डिग चल रही है। वहीं श्रीमती जागृति डी के निर्देशन और श्री मोहित गर्ग, पुलिस अधीक्षक नारायणपुर के संकल्पना पर आधारित डाक्यूमेंट्री ‘‘एक्सप्लोरिंग अबुझमाड’’ - द लार्जेस्ट अनसर्वेड एरिया आफ इंडिया नारायणपुर पुलिस द्वारा तैयार किया गया है। इस डाक्यूमेंट्री के माध्यम से जनजातीय जीवन के सुंदरता जिसमें खासकर मारिया, मुरिया, गोड और हल्बा के परम्पराओं, संस्कृति और नैतिक मूल्यों को बखुबी से दिखाया गया है। इसके अंतर्गत जहां एक ओर नारायणपुर में लगने वाले हाट बाजार, मुर्गा लडाई और यहां के आम जन जीवन पर आधारित स्कील्स को दिखाया गया है तो वहीं नक्सल अभियान में तैनात जवानों के कार्य पद्धिति और दिनचर्या को भी दिखाने का प्रयास किया गया है। बस्तर संभाग में अपने औषधी गुणों के लिए प्रचलित खाद्य एवं पेय पदार्थ जैसे चापडा चटनी और सल्फी ताडी को भी दिखाया गया है। पुलिस प्रशासन के विशेष योगदान से नारायणपुर अब उन्नत और विकसित हो रहा है, कुछ दशकों पूर्व सडक, स्कूल और स्वास्थ्य के मामले में सबसे पिछडा नारायणपुर अब अपने प्राकृतिक सौन्दर्य, सैकडों पर्वत श्रृंखला, नदियों और दर्जनों झरना को पर्यटन के स्वरूप को विश्व पटल में ख्याति दिलाने तथा पर्यटकों को भयमुक्त माहौल देने की ओर अग्रसर है, यह डाक्यूमेंट्री ट्रेवलिंग गाईड के रूप में भी तैयार किया गया है। नारायणपुर पुलिस द्वारा राकेश डांस क्रू के सहयोग से तैयार शॉर्ट फिल्म पुना-डेरा : Surrender के माध्यम से बस्तर के नक्सल-प्रभावित इलाकों में भटके हुए नौजवान जो नक्सली बन गए उन्हें मुख्यधारा में वापस लौटने तथा सरेंडर करने के लिए प्रेरित किया गया है। शॉर्ट फिल्म मुखबीर : Police Informer के माध्यम से दिखाने का प्रयास किया गया है कि किस प्रकार से नक्सली लोगों को गुमराह करके धोखा देकर पुलिस के मुखबीर होने का झूठा आरोप लगाकर युवा, छात्रों, व्यवसायी और किसानों को मौत के घाट उतार देते हैं। इसके माध्यम से बताने का प्रयास किया गया है कि कैसे नक्सली लीडर लूट पाट और हिंसा का मार्ग अपनाकर लोगों को अच्छे जीवन जीने से रोकने के लिए भयभीत करते हैं। शॉर्ट फिल्म विस्फोट : Blast of Fear के माध्यम से दिखाया गया है कि बस्तर में नक्सली किस तरह से आम नागरिकों जीवन का भय दिखाकर सरकार और पुलिस के खिलाफ काम करने को मजबूर करते हैं; जो लोग उनके आपराधिक षड्यंत्र और हिंसा में भाग नही लेते उन्हें कैसे ये लोग मार देते हैं और उनके परिवारों को भी प्रताड़ित करते हैं तथा शार्ट फिल्म विकास : Need of Development के माध्यम से बस्तर के आम नागरिकों के मानव अधिकारों के लिए क्षेत्र का विकास कितना आवश्यक है इसे बताने का प्रयास किया है साथ ही यह भी दिखाने का प्रयास किया गया है कि पुलिस-प्रशासन के द्वारा उनके लिए आवश्यक संसाधनों को मुहैया कराया जा रहा है।

मंचीय कार्यक्रम के बाद श्री बघेल द्वारा नारायणपुर पुलिस द्वारा तैयार "मितान पुलिस पेट्रोल पंप" का उदघाटन किया गया, उन्होंने पुलिस अधीक्षक श्री गर्ग को निर्देशित किया कि इस पेट्रोल पंप में नक्सली पीड़ित परिवार के ही महिला सदस्यों को रोजगार में रखा जावे तथा महिला पुलिस अधिकारियों द्वारा ही पेट्रोल पंप का संचालन हो। श्री बघेल ने घोषणा किया कि मितान पुलिस पेट्रोल पंप के किनारे जो खाली जगह है उसमें दुकान बनाया जाकर उस दुकान को स्थानीय स्व-सहायहता समुह को दिए जाएंगे ताकि वे अपने संस्था द्वारा निर्मित प्रोडक्ट्स/सामग्रियों को बेच कर आत्मनिर्भर हो सकेंगे। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने आईजी बस्तर श्री पी सुन्दरराज और श्री माहित गर्ग, पुलिस अधीक्षक नारायणपुर के तारिफ करते हुए कहा कि यह पेट्रोल पंप महिलाओं का सशक्त बनाएगी। 

"मितान पुलिस पेट्रोल पंप" के उदघाटन के बाद श्री बघेल DRG हाल में ITBP, BSF, CAF, DEF और DRG के जवानों से मिलकर उनके हौसला अफजाई किया तथा उनके कार्यों की सराहना भी किया। उल्लेखनीय है कि नारायणपुर जिला में यह पहला अवसर है जब राज्य के मुख्यमंत्री डीआरजी के महिला जवानों से उनके टेबल में बैठकर उनसे बातचीत की तथा उनकी समस्याओं को जाना। श्री बधेल ने जवानों को उपहार भी दिया और नक्सल क्षेत्र में स्वस्थ्य निरोगी रहकर कैसे नक्सलियों का सामना कर सकते हैं इस पर जवानों को टिप्स दिए।

Related Images :







 

 























Share:

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment


प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कैसे करें?


यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/व्यक्ति अपनी मौलिक पोस्ट प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

सबसे अधिक बार पढ़ा गया लेख