"हुलेश्वरोदुष्टताय दहनम" नव दर्शन पर आधारित दुनिया की सबसे अच्छी होलिका दहन... एक बार जरूर देखें


"हुलेश्वरोदुष्टताय दहनम" नव दर्शन पर आधारित दुनिया की सबसे अच्छी होलिका दहन...

नवीन जीवन दर्शन पर आधारित, होलिका दहन का विकल्प प्रस्तुत करते हुए हुलेश्वरोदुष्टताय दहनम की शुरूआत हो चूकी है, यदि आप भी अपने भीतर के स्लीपिंग क्रिमिनल्स को समाप्त करने के पक्षधर हैं और सही मायने में भक्त प्रहलाद के साथ न्याय करना चाहते हैं तो आप भी इसे आगे बढ़ाकर अपने जीवन शैली को बेहतर बनाते हुए धरती को स्वर्ग बनाकर सतयुग की शुरूआत कर सकते हैं।  आदरणीय पाठकगण इसके माध्यम से आपसे निवेदन है कि आप गुरू घासीदास बाबा के संदेश ‘‘पर स्त्री को माता-बहन मानो’’ और ‘‘नारी का समान करो’’ का पालन करें।

हुलेश्वरोदुष्टताय दहनम की शुरूआत क्यों? 
"हुलेश्वरोदुष्टताय दहनम की शुरूआत करने का सबसे प्रमुख कारण यह है कि मुझमें भी सैकड़ों स्लीपिंग क्रिमिनल्स हैं जो मुझे होलिका से अधिक दुष्ट बनाती है। सबसे खास बात तो यह है कि होलिका के दहन के साथ ही उन्हें हजारों साल पहले ही सजा मिल चूका है जबकि मेरे भीतर के वैचारिक अपराधी और हत्यारे को कभी सजा ही नहीं मिल पा रही है इसलिए मैने हुलेश्वरोदुष्टताय दहनम की शुरूआत की है।" हुलेश्वर जोशी, नवा रायपुर, छत्तीसगढ़

हुलेश्वरोदुष्टताय दहनम का अंश





Share:

अबूझमाड़ के नवयुवकों द्वारा बनाया वीडियो गीत हो रहा है वायरल, वायरल गीत ‘‘बन जा तै मोर सजनी’’ देखने के लिए अभी क्लिक करें

अबूझमाड़, जिला नारायणपुर के नवयुवकों द्वारा बनाया वीडियो गीत ‘‘बन जा तै मोर सजनी’’ सोशल मीडिया में बडे स्पीड से वायरल हो रहा है, ये वीडियो गीत यू-ट्यूब चैनल ROCKET DANCE CREW में अपलोड किया गया है, उल्लेखनीय है कि यह वीडियो मुख्यतः जिला मुख्यालय नारायणपुर, शांत सरोवर और एजूकेशन क्लब गरांजी सहित आसपास के क्षेत्रों में रिकार्ड किया गया है। इस विडियो गीत का निर्देशन, कोरियोग्राफी और वीडियोग्राफी सहित वीडियो एडिटिंग नागेश मण्डावी द्वारा किया गया है। इस गीत को आकाश शर्मा और प्राज्ञा द्वारा गाया गया है जबकि इस गीत के लीड रोल में आकाश राव और बेबी यादव द्वारा अभिनय किया गया है।

ये है वायरल गीत ............

Share:

अंतर्राष्ट्रीय महिला सप्ताह के दौरान नव संचार द्वारा किये गये सराहनीय कार्य.......

छत्तीसगढ़ पुलिस के निर्देशानुसार 
जिला पुलिस बल नारायणपुर और सामाजिक संस्था करूणा फाउण्डेशन के सहयोग से अंतर्राष्ट्रीय महिला सप्ताह के दौरान नव संचार फाउण्डेशन द्वारा तिथिवार निम्नानुसार सराहनीय कार्य किया गया है:- 

दिनांक : 08.03.2021, स्थान- गुडरीपारा नारायणपुर
1- मेडिकल कैम्प: आईटीबीपी के महिला चिकित्सकों के सहयोग से कार्यक्रम स्थल में मेडिकल कैम्प लगाया गया, जिसमें लगभग 85 महिलाओं और बच्चों ने अपना उपचार कराया।
2- महिला जागरूकता-सह-सम्मान समारोह: सामाजिक संस्था नव संचार फाउण्डेशन एवं करूणा फाउण्डेशन के सहयोग से महिला जागरूकता-सह-सम्मान कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें लगभग 200 से अधिक महिलाएं और बालिका उपस्थित रहीं। जागरूकता के अंतर्गत घरेलू हिंसा, छेड़खानी, लैगिंक उत्पीड़न, गुड टच और बेड टच की जानकारी, साईबर सुरक्षा, पोक्सो एक्ट, स्वच्छता, मानव तस्करी, कैरियर कांउसलिंग, टोनही निवारण जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर जागरूकता लाने का प्रयास किया गया। कार्यक्रम के दौरान महिलाओं को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर होने और खासकर बेटियों को उच्च शिक्षा दिलाने पर जोर दिया गया। जागरूकता कार्यक्रम के दौरान कार्यक्रम में उपस्थित महिलाओं को सम्मानित भी किया गया। इसके पश्चात् जिला नारायणपुर की ऐसी महिलाएं जो स्वयं आर्थिक रूप से आत्म निर्भर होकर अपना व्यवसाय, जैसे सब्जी और फल बेचना, इेला अथवा दूकान का संचालन करने का काम कर रही हैं उन्हें सम्मान स्वरूप साड़ी और श्रीफल देकर सम्मानित किया गया।

दिनांक : 09.03.2021, स्थान- थाना छोटेडोंगर
1- महिला जागरूकता-सह-सम्मान समारोह: सामाजिक संस्था नव संचार फाउण्डेशन एवं करूणा फाउण्डेशन के सहयोग से महिला जागरूकता-सह-सम्मान कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें लगभग 150 के करीबन महिला और बालिकाएं उपस्थित रहीं। जागरूकता के अंतर्गत घरेलू हिंसा, छेड़खानी, लैगिंक उत्पीड़न, गुड टच और बेड टच की जानकारी साईबर सुरक्षा, पोक्सो एक्ट, स्वच्छता, मानव तस्करी, कैरियर कांउसलिंग, टोनही निवारण जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर जागरूकता लाने का प्रयास किया गया। कार्यक्रम के दौरान महिलाओं को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर होने और खासकर बेटियों को उच्च शिक्षा दिलाने पर जोर दिया गया। जागरूकता कार्यक्रम के दौरान कार्यक्रम में उपस्थित महिलाओं को सम्मानित भी किया गया।
2- एक दिन के पुलिस अधिकारी: कक्षा 10 वीं की छात्रा को निर्देशानुसार 01 दिन के लिए सांकेतिक रूप से निरीक्षक बनाकर, थाना छोटेडोंगर का प्रभार दिया जाकर पुलिस के कार्यशैली से अवगत कराते हुए बेटियों को भी पुलिस अधिकारी बनकर अपराध मुक्त समाज की पुनर्स्थापना करने के लिए प्रेरित किया गया।

दिनांक : 10.03.2021, स्थान- नारायणपुर के चिन्हांकित 07 कन्या स्कूल 
विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन: जिला मुख्यालय नारायणपुर के चिन्हांकित 07 बालिका विद्यालयों में चित्राकला प्रतियोगिता, निबंध प्रतियोगिता, रंगोली प्रतियोगिता, पारम्परिक व्यजंन प्रतियोगिता (व्यजंन घर बना हुआ) कराया गया। जिसमें संबंधित स्कूलों की छात्राएं, शिक्षिका एवं आसपास की महिलाएं सम्मिलित हुई।

दिनांक : 11.03.2021, स्थान- थाना बेनूर
1- महिला जागरूकता-सह-सम्मान समारोह: सामाजिक संस्था नव संचार फाउण्डेशन एवं करूणा फाउण्डेशन के सहयोग से महिला जागरूकता-सह-सम्मान कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें लगभग 200 के करीबन महिला और बालिकाएं उपस्थित रहीं। जागरूकता के अंतर्गत घरेलू हिंसा, छेड़खानी, लैगिंक उत्पीड़न, गुड टच और बेड टच की जानकारी साईबर सुरक्षा, पोक्सो एक्ट, स्वच्छता, मानव तस्करी, कैरियर कांउसलिंग, टोनही निवारण जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर जागरूकता लाने का प्रयास किया गया। कार्यक्रम के दौरान महिलाओं को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर होने और खासकर बेटियों को उच्च शिक्षा दिलाने पर जोर दिया गया। जागरूकता कार्यक्रम के दौरान कार्यक्रम में उपस्थित महिलाओं को सम्मानित भी किया गया।
2- एक दिन के पुलिस अधिकारी: कक्षा 10 वीं की छात्रा को निर्देशानुसार 01 दिन के लिए सांकेतिक रूप से निरीक्षक बनाकर, थाना बेनूर का प्रभार दिया जाकर पुलिस के कार्यशैली से अवगत कराते हुए बेटियों को भी पुलिस अधिकारी बनकर अपराध मुक्त समाज की पुनर्स्थापना करने के लिए प्रेरित किया गया।

दिनांक : 12.03.2021, स्थान- मावली मेला स्थल, नारायणपुर
नाटक ‘‘दसरी’’ का मंचन: महिला सशक्तिकरण के सभी पहलुओं जैसे कन्या भ्रण हत्या, बाल विवाह, बेटियों की उपेक्षा और उनके मानव अधिकारों की हनन तथा बेटा की लालसा और बेटा को अनावश्यक छूट देने वाली मानसिकता पर आधारित नाटक ‘‘दसरी’’ का मंचन किया इस नाटक का मंचन स्कूली छात्रों और पुलिस बल के जवानों द्वारा किया गया है। नाटक ‘‘दसरी’’ की मूल अवधारणा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री नीरज चन्द्राकर एवं सुश्री आरती गर्ग आधारित है, इस नाटक के स्क्रिप्ट और डाॅयलाॅग श्री हुलेश्वर जोशी द्वारा लिखा गया है। चूंकि इस नाटक का मंचन जिला नारायणपुर के सुप्रसिद्ध मावली मेला स्थल के मंच में किया गया, नाटक को लगभग 2000 से अधिक लोगों ने देखा और इसकी सराहना भी किया।

दिनांक : 13.03.2021, स्थान- पुलिस अधीक्षक कार्यालय, नारायणपुर
महिला जागरूकता सायकल रैली: सुपोषित महिला-खुशहाल परिवार’’ के थीम पर पुलिस अधीक्षक कार्यालय से महिला सायकल रैली का आयोजन किया गया, जिसमें जिला नारायणपुर की महिला जनप्रतिनिधि, महिला अधिकारी, शिक्षिका, छात्राएं सहित लगभग 250 महिला सम्मिलित होकर महिला जागरूकता को सफल बनाने में अपना योगदान दिया।

दिनांक : 14.03.2021, स्थान- आडिटोरियम, नारायणपुर
अंतरराष्ट्रीय महिला सप्ताह का समापन समारोह: दिनांक 14.03.2021 को आडिटोरियम, नारायणपुर में अंतरराष्ट्रीय महिला सप्ताह का समापन समारोह आयोजित किया गया, कार्यक्रम के समापन समारोह में माननीय सांसद श्री दीपक बैज, माननीय विधायक श्री चन्दन कश्यप, कलेक्टर श्री धर्मेश कुमार साहू, पुलिस अधीक्षक श्री मोहित गर्ग, सीईओ जिला पंचायत श्री राहूल देव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री नीरज चन्द्राकर, डीएसपी उन्नति ठाकूर, डीएसपी अभिवन उपाध्याय और रक्षित निरीक्षक श्री दीपक साव सहित नव संचार फाउण्डेशन और करूणा फाउण्डेशन के पदाधिकारियों सहित सैकडों जन प्रतिनिधि, पुलिस अधिकारी, शिक्षक, छात्र-छात्राएं और आम नागरिक उपस्थित रहे। समापन समारोह में स्कूली बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी गई। सांस्कृतिक कार्यक्रमों के समापन उपरांत अंतरराष्ट्रीय महिला सप्ताह के दौरान दिनांक 08 मार्च 2021 से 14 मार्च 2021 तक महिला जागरूकता कार्यक्रम में सक्रिय भागीदारी निभाने वाले सामाजिक कार्यकर्ताओं, नारायणपुर की सशक्त महिलाओं, शहीद परिवार की महिलाओं और नाटक ‘‘दसरी’’ के मंचन करने वाले नन्हें छात्र कलाकारों व पुलिस अधिकारियों तथा विभिन्न कैटेगरी जैसे रंगोली प्रतियोगिता, पेंटिग प्रतियोगिता, पकवान प्रतियोगिता, नृत्य प्रतियोगिता, निबंध लेखन प्रतियोगिता में भाग लेने वाले विजेता प्रतिभिागियों को सम्मानित किया गया।
Share:

नाटक "दसरी" (नाटककार श्री एचपी जोशी)


नाटक के मूल अवधारणा :-
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री नीरज चन्द्राकर
सुश्री आरती गर्ग


निर्देशक, स्क्रिप्ट राईटर और वक्ता :-
श्री हुलेश्वर जोशी, प्रधान आरक्षक


सह निर्देशक :-
कु. स्वाति पट्टावी (छात्रा), 
कु. वंदना नाग (छात्रा),
श्री दिलीप निर्मलकर (आरक्षक) 
 श्री हरिश उईके (आरक्षक)


विशेष मार्गदर्शन :-
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री नीरज चन्द्राकर, 
उप पुलिस अधीक्षक सुश्री उन्नति ठाकूर, 
श्रीमती जागृति डी.


पात्र परिचय:
रमेसर (पिता) का रोल - श्री हरीश उइके, 
लछमी (माता) का रोल - चंद्रक्रान्ति, 
बेटी दसरी का रोल - कु. नेहा मंडावी, 
बेटी संतोषी का रोल - कु. रिया दुग्गा, 
बेटी कारी का रोल - कु. बिनेश्वरी यादव, 
बेटा ललित का रोल - ललित जुर्री, 
काकी का रोल - श्रीमती पूर्णिमा ठाकुर, 
भुरवा काका, गांव के गौटिया और वक्ता का रोल - श्री हुलेश्वर जोशी, 
लड़का सत्यवान का रोल - श्री कन्हैया वैष्णव, 
लड़के के पिता प्रोफेसर कृष्णकांत का रोल - श्री चेतन बघेल, 
डॉक्टर का रोल - श्री दिलीप निर्मलकर, 
नर्स का रोल - कु.कृष्टि राठौर 
पुलिस अधिकारी का रोल - श्री सतीश दर्रो एवं साथी जवान 

Share:

नारायणपुर: अंतरराष्ट्रीय महिला सप्ताह का समापन.... सांस्कृतिक कार्यक्रम और सम्मान समारोह

नारायणपुर : अंतरराष्ट्रीय महिला सप्ताह का समापन.... सांस्कृतिक कार्यक्रम और सम्मान समारोह

आज दिनांक 14.03.2021 को जिला पुलिस बल नारायणपुर द्वारा सामाजिक संस्था नव संचार फाउण्डेशन और करूणा फाउण्डेशन के सहयोग से आयोजित अंतरराष्ट्रीय महिला सप्ताह का समापन हुआ। आडिटोरियम में आयोजित समापन समारोह के दौरान माननीय सांसद श्री दीपक बैज, माननीय विधायक श्री चन्दन कश्यप, कलेक्टर श्री धर्मेश कुमार साहू, पुलिस अधीक्षक श्री मोहित गर्ग, सीईओ जिला पंचायत श्री राहूल देव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री नीरज चन्द्राकर, डीएसपी उन्नति ठाकूर, डीएसपी अभिवन उपाध्याय और रक्षित निरीक्षक श्री दीपक साव सहित नव संचार फाउण्डेशन और करूणा फाउण्डेशन के पदाधिकारियों सहित सैकडों जन प्रतिनिधि, पुलिस अधिकारी, शिक्षक, छात्र-छात्राएं और आम नागरिक उपस्थित रहे।

समापन समारोह में स्कूली बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी गई, वहीं जिला पुलिस बल नारायणपुर द्वारा सामाजिक संस्था नव संचार फाउण्डेशन और करूणा फाउण्डेशन के सहयोग से आयोजित अंतरराष्ट्रीय महिला सप्ताह के दौरान दिनांक 08 मार्च 2021 से 14 मार्च 2021 तक महिला जागरूकता कार्यक्रम में सक्रिय भागीदारी देने वाले सामाजिक कार्यकर्ताओं, नारायणपुर की सशक्त महिलाओं, शहीद परिवार की महिलाओं और नाटक "दसरी" के मंचन करने वाले नन्हें छात्र कलाकारों व पुलिस अधिकारियों तथा विभिन्न कैटेगरी जैसे रंगोली प्रतियोगिता, पेंटिग प्रतियोगिता, पकवान प्रतियोगिता, नृत्य प्रतियोगिता, निबंध लेखन प्रतियोगिता में भाग लेने वाले विजेता प्रतिभिागियों को सम्मानित किया गया। 

महिला सशक्तिकरण के सभी पहलुओं जैसे कन्या भ्रुण हत्या, बाल विवाह, बेटियों की उपेक्षा और उनके मानव अधिकारों की हनन तथा बेटा की लालसा और बेटा को अनावश्यक छूट देने वाली मानसिकता पर आधारित नाटक "दसरी" लिखने तथा अल्प अवधि में इसके सफल मंचन करने के लिए नाटक दसरी के प्रतिभागियों का तारीफ किया गया। नाटक दसरी की मूल अवधारणा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री नीरज चन्द्राकर एवं सुश्री आरती गर्ग पर आधारित है, इस नाटक के स्क्रिप्ट और डाॅयलाॅग श्री हुलेश्वर जोशी द्वारा लिखा गया है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री नीरज चन्द्राकर, उप पुलिस अधीक्षक सुश्री उन्नति ठाकूर एवं श्रीमती जागृति डी. के कुशल मार्गदर्शन में श्री हुलेश्वर जोशी, कु. स्वाति पट्टावी, श्री दिलीप निर्मलकर और श्री हरिश उईके द्वारा संयुक्त रूप से निर्देशन किया गया।

उल्लेखनीय है कि जिला पुलिस बल नारायणपुर द्वारा सामाजिक संस्था नव संचार फाउण्डेशन और करूणा फाउण्डेशन के सहयोग से 08 मार्च को गुडरीपारा में तथा दिनांक 09 मार्च को छोटेडोंगर में महिला जागरूकता सह सम्मान कार्यक्रम आयोजित किया गया था। दिनांक 10 मार्च को जिला मुख्यालय नारायणपुर के चयनित 07 स्कूलों में निबंध, रंगोली, पेंटिग एवं व्यंजन प्रतियोगिता आयोजित किया गया था। दिनांक 11 मार्च को बेनूर में महिला जागरूकता सह सम्मान कार्यक्रम आयोजित किया गया तथा दिनांक 12 मार्च को मावली मेला स्थित मंच में नाटक दसरी का मंचन किया गया। दिनांक 13 मार्च को पुलिस अधीक्षक कार्यालय से सशक्त महिला - सशक्त अबूझमाड थीम पर महिला सायकल रैली का आयोजन किया गया था।

माननीय सांसद श्री दीपक बैज द्वारा समस्त विजयी प्रतिभागियों एवं आयोजक मण्डल को शुभकामनाएं दी तथा जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन के कार्यों की सराहना करते हुए अबूझमाड सहित समूचे बस्तर के विकास में जवानों के योगदान और शहादत का जिक्र किया।

Related Image :




Share:

नारायणपुर - अबूझमाड़ संस्कृति पर आधारित परिधान और गहनों के साथ संपन्न हुआ अबूझमाडिया फैंसन शो, अबूझमाड की नन्ही परियो, बेटियों, महिलाओं और पुरूषों ने किया रैम्पवाक

नारायणपुर - अबूझमाड़ संस्कृति पर आधारित परिधान और गहनों के साथ संपन्न हुआ अबूझमाडिया फैंसन शो, अबूझमाड की नन्ही परियो, बेटियों, महिलाओं और पुरूषों ने किया रैम्पवाक

मावली मेला, नारायणपुर के चैथे दिन अंतरराष्ट्रीय महिला सप्ताह के अवसर पर जिला प्रशासन, नारायणपुर पुलिस और जिला पंचायत के सौजन्य से करुणा फाउंडेशन और नव संचार फाउंडेशन के सहयोग से अबूझमाड़ संस्कृति पर आधारित परिधान और गहनों के साथ संपन्न हुआ अबूझमाडिया फैंसन शो, इस शो में अबूझमाड़ की सैकड़ों नन्ही बेटियों, महिलाओं और बालकों ने भाग लेकर रैम्पवाक किया। यह फैशन शो-रैम्पवॉक जिला कलेक्टर श्री धर्मेश कुमार साहू, पुलिस अधीक्षक श्री मोहित गर्ग, जिला पंचायत सीईओ श्री राहूल देव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री नीरज चंद्राकर, उप पुलिस अधीक्षक सुश्री उन्नति ठाकुर, श्रीमती जागृति डी. और सुश्री आरती गर्ग के कुशल मार्गदर्शन में कु. स्वाति पट्टावी के लीड निर्देशन में आयोजित की गई। अलग अलग वर्ग में विजेता प्रतिभागियों को जिला प्रशासन द्वारा स्मृति चिन्ह और पुरुस्कार वितरण किये गए।

रैम्पवॉक को देखकर हजारों की संख्या में उपस्थित जनप्रतिनिधि, अधिकारियों और दर्शकों ने दांतो तले अंगुली दबाने को मजबूर कर दिया। अबूझमाडिया फैंसन शो - रैम्पवॉक ने साबित कर दिया कि अबूझमाड़ की बेटियों की सुंदरता गोरी रंग का मोहताज कदापि नहीं है।

Related Image:





Share:

मास्टर आफ कुंगफू और स्ट्रान्गेस्टमेन आफ एशिया ने दिखाया करतब, कहा अबूझमाड़ के लोगों में ..........

मास्टर आफ कुंगफू और स्ट्रान्गेस्टमेन आफ एशिया ने दिखाया करतब, कहा अबूझमाड़ के लोगों में ..........

मावली मेला, नारायणपुर के चैथे दिन अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर छत्तीसगढ़ ही नहीं वरन् देश की पहचान बन चूके मास्टर आफ कुंगफू दिलीप कुमार और स्ट्रान्गेस्टमेन आफ एशिया मनोज चोपडा ने अपने कला और ताकत का प्रदर्शन किया। बिलासपुर निवासी मास्टर आफ कुंगफू दिलीप कुमार वर्ष-2002 से देश विदेश में सेल्फडिफेंस का प्रशिक्षण देने का काम करते रहे हंै जबकि साढ़े छः फीट उंचे और लगभग पौने दो क्विंटल के रायपुर निवासी स्ट्रान्गेस्टमेन आफ एशिया मनोज चोपडा दूसरा पूरे एशिया का अकेला सबसे शक्तिशाली इंसान हैं।


मंच में मास्टर आफ कुंगफू दिलीप कुमार ने अनेंको करतब दिखाया, जैसे शिर में फर्स रखवाकर हथौडे से तोडवाना, हथौडे से सीने को पीटवाना, बेसबाल को तोडना, इंट को तोडना, हांथ, पीट, पैर और पीठ से खप्पर को तोडना, इत्यादि। श्री दिलीप कुमार ने अंतर्राष्ट्रीय महिला सप्ताह के अवसर पर अबूझमाड के लोगों, खासकर बेटियों से अपील किया है कि "आप अपने शक्ति को पहचानें और सेल्फडिफेंस के तरीके सीखकर शारीरिक रूप से सुदृढ़ और सशक्त बनें। जब आप स्वयं की रक्षा करने में सक्षम होंगे तो आप निर्भय होकर अपने लक्ष्य को सरलता से हासिल कर लेंगे, यही नहीं लोग आपसे उलझने, आपके अस्तित्व और आत्मस्वाभिमान को ललकारने अथवा क्षति पहुंचाने का कोई साहस नहीं सकेगा।"


स्ट्रान्गेस्टमेन आफ एशिया मनोज चोपडा ने मंच के माध्यम से लगभग 1000 पेज के पुस्तक को एक साथ दोनों हाथों से फाडकर दिखाया वहीं कार के नंबर प्लेट को दो तुडके फाड दिये और हाथों से बियर बाॅटल को भी तोडकर दिखया। चूंकि मावली मेला मंच में अनेकोनेक आकर्षण के कार्यक्रम होना था, समयाभाव के कारण अन्य महत्वपूर्ण करतब दिखाया नहीं जा सका। स्ट्रान्गेस्टमेन आफ एशिया मनोज चोपडा ने अबूझमाड के लोगों से कहा "अबूझमाड में ताकतवर लोगों की कमी नहीं है, हर व्यक्ति अलग-अलग प्रकार के विशिष्ट शक्तियों के साथ जन्म लिया हुआ है, उन्होने कहा कि विश्व स्तर पर देश के तिरंगा को बडे शान से फहराने की दृढ़ इच्छाशक्ति ने आज मूझे एशिया का सबसे ताकतवर इंसान बनाया है कोई भी इंसान दृढ़ इच्छाशक्ति और कडे मेहनत के बल बूते अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकता है।"

Related Images :




Share:

अंतर्राष्ट्रीय महिला सप्ताह पर नाटक "दसरी" का मंचन

नाटक "दसरी" का मंचन

जिला प्रशासन, नारायणपुर द्वारा आयोजित मावली मेला स्थल में आज दिनांक 12/03/2021 को नाटक "दसरी" का मंचन किया गया। यह नाटक अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री नीरज चंद्राकर और सुश्री आरती गर्ग के कॉन्सेप्ट पर आधारित तथा श्री हुलेश्वर जोशी द्वारा रचित है। नाटक ‘‘दसरी’’ का मंचन जिला पुलिस बल द्वारा सामाजिक संस्था नव संचार फाउण्डेशन और करूणा फाउण्डेशन के सहयोग से अंतर्राष्ट्रीय महिला सप्ताह पर थीम ‘सुपोषित महिला, खुसहाल परिवार’ के तहत किया गया।

इस नाटक के माध्यम से नन्हे छात्र - छात्राओं और पुलिस के जवानों द्वारा बेटियों के साथ होने वाले सौतेले व्यवहार, बेटी के खिलाफ सामाजिक मानसिकता, भ्रूण हत्या, कुपोषण और बालविवाह जैसे सामाजिक बुराइयों को चित्रांकित करते हुए नाटक के माध्यम से इन सामाजिक बुराइयों को समाप्त करने की अपील की गई। हम किस तरह से बेटियों को उपेक्षित रखकर उनके मानव अधिकारों का हनन करते हैं उन्हें उपेक्षित रखते हैं, कैसे हम अपने बेटा को शिर में चढ़ाकर उन्हें अपराध की दुनिया मे ढकेल देते हैं, हम बेटा के लिए क्या क्या सपने देखते हैं और कैसे उन सपनों को आखिरकार बेटियाँ साकार करती है इसे दिखाने का प्रयास किया गया है। कैसे लछमी जो खुद एक स्त्री है भ्रूण हत्या के लिए कैसे उतावली होकर अपनी झुमका बेच देती है, रमेसर और लछमी कितने क्रूरता से कोख में ही बेटी की हत्या करने का आपराधिक षड्यंत्र रचते हैं। गांव का गौटिया कैसे नाबालिग दसरी के लिए रिश्ते लाकर उसे पढ़ाई से वंचित करने और दसरी के मानव अधिकारों के हनन का प्रयास करता है और रमेसर को दुत्कारता है अपने पॉवर का रौब दिखता है। मगर इन सभी के बीच संतोषी हमेशा अपने खुद के साथ साथ अपनी दीदी के हक और अधिकार के लिए लड़ती रहती है, वहीं जेंटलमैन सत्यवान और प्रोफेसर कृष्णकांत द्वारा दसरी को उसके शिक्षा के अधिकार, विवाह के लिए वर चुनने के अधिकार को संरक्षित करते हुए नाबालिग दसरी की शादी 18 साल के बाद ही करने के लिए समझाइस दी जाती है। उपेक्षाओं के बावजूद दसरी, संतोषी और कारी आइकोनिक बेटी बनकर समाज में मिशाल बनती है, माता पिता को सहारा देती है। अंत मे जब बेटा ललित गैंगस्टर बन जाता है तब रमेसर को पश्चाताप होता है और फिर गर्व करता है अपनी बेटियों के सफलता और जिम्मेदारियों पर... नाटक लोगों को हर क्षण अपने आगे के एक्ट और डायलॉग के लिए बांधकर रखता है, नाटक में हृयविदारक डायलॉग हैं जो दर्शकों के केवल रोंगटे ही खड़े नहीं करते बल्कि रुला भी देता है।

सबसे खास बातः
जब खुल मच में किसी नाटक मंचन या कार्यक्रम हो रहा हो और इस दौरान पानी गिर जाए तो भगदड मच जाती है मगर नाटक ‘‘दसरी’’ लोगों को इतना मुग्ध कर रखा था कि पानी गिरने के बावजूद खूले मंच में हजारों अतिथिगण और दर्शक इसका मंचन देखते रहे, किसी एक ने भी नाटक छोडकर खूद को भींगने से बचाने का प्रयास नहीं किया। नाटक के पात्र नन्हे छात्र कलाकारों और पुलिस अधिकारियों ने इसे अपना अप्रत्यासित सफलता के रूप में अभिव्यक्त किया।

पात्र परिचय:
इस नाटक में रमेसर (पिता) का रोल - श्री हरीश उइके, लछमी (माता) का रोल - चंद्रक्रान्ति, बेटी दसरी का रोल - कु. नेहा मंडावी, बेटी संतोषी का रोल - कु. रिया दुग्गा, बेटी कारी का रोल - कु. बिनेश्वरी यादव, बेटा ललित का रोल - ललित जुर्री, काकी का रोल - श्रीमती पूर्णिमा ठाकुर, भुरवा काका, गांव के गौटिया और वक्ता का रोल - श्री हुलेश्वर जोशी, लड़का सत्यवान का रोल - श्री कन्हैया वैष्णव, लड़के के पिता प्रोफेसर कृष्णकांत का रोल - श्री चेतन बघेल, डॉक्टर का रोल - श्री दिलीप निर्मलकर, नर्स का रोल - कु.कृष्टि राठौर और पुलिस अधिकारी का रोल - श्री सतीश दर्रो द्वारा निभाया गया।

Related Images:












Share:

नव संचार फाउण्डेशन द्वारा शासकीय बालक हायर सैकेण्ड्री स्कूल, नारायणपुर में किया गया कैरियर काउन्सलिंग

नव संचार फाउण्डेशन द्वारा शासकीय बालक हायर सैकेण्ड्री स्कूल, नारायणपुर में किया गया कैरियर काउन्सलिंग

आज दिनांक 03/03/2021 को शासकीय बालक हायर सैकेण्ड्री स्कूल, नारायणपुर में नव संचार फाउण्डेशन द्वारा हायर सैकेण्ड्री स्तर के छात्रों का कैरियर काउन्सलिंग किया गया। जिसमें नव संचार फाउण्डेशन के श्रीमती जागृति डी., सचिव सुश्री आरती गर्ग, श्रीमती उपमा साहू, श्री दीपक साव, रक्षित निरीक्षक तथा शासकीय बालक हायर सैकेण्ड्री स्कूल के प्राचार्य श्री मनोज बागडे एवं समस्त स्टाॅफ उपस्थित रहे।

संस्था के अध्यक्ष श्रीमती जागृति डी. द्वारा छात्रों को परीक्षा में बेहतर अंक प्राप्त करने के गुर सीखाये गये, तथा रक्षित निरीक्षक श्री दीपक साव द्वारा फीयर आफ इग्जामिनेशन कोे हराकर तनावमुक्त परींक्षा और प्रतियोगिता को इन्जाॅय करने के टिप्स दिये गये। प्राचार्य श्री मनोज बागडे द्वारा कम समय में साल भर के पढ़ाई का रिविजन कैसे करना है, किस तरह के प्रश्नों की रिविजन पहले और अनिवार्य रूप से करना है इसे चिन्हांकित करने का तरीका बताते हुए पाठ्य पुस्तक से दोस्ती करने की सीख दी गई।

Related Images :



Share:

अबुझमाड़ महोत्सव - तृतीय अंतर्राष्ट्रीय माड़ मैराथन - 2021 की समीक्षा बैठक-सह-सम्मान समारोह आयोजित

अबुझमाड़ महोत्सव - तृतीय अंतर्राष्ट्रीय माड़ मैराथन - 2021 की समीक्षा बैठक-सह-सम्मान समारोह आयोजित

आज दिनांक 03.03.2021 को जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन द्वारा डीआरजी ग्रेट हाॅल, नारायणपुर में अबुझमाड़ महोत्सव - तृतीय अंतर्राष्ट्रीय माड़ मैराथन - 2021 के सफल आयोजन की समीक्षा बैठक-सह-सम्मान समारोह आयोजित किया गया। उक्त समीक्षा बैठक-सह-सम्मान समारोह में श्री धर्मेश कुमार साहू, कलेक्टर, श्री मोहित गर्ग, पुलिस अधीक्षक, श्री राहूल देव, सीईओ, जिला पंचायत, श्री नीरज चन्द्राकर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, श्री जी.आर. मण्डावी, जिला शिक्षा अधिकारी, श्री अभिनव उपाध्याय, उप पुलिस अधीक्षक, श्रीमती उन्नति ठाकूर, उप पुलिस अधीक्षक, श्री दीपक साव, रक्षित निरीक्षक तथा सर्व वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता श्रीमती जागृति डी, श्रुति उपाध्याय, मनु चन्द्राकर, और सुश्री आरती गर्ग सहित पुलिस/प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी/कर्मचारी, शिक्षक और छात्र सहित सामाजिक संगठन करूणा फाउण्डेशन पदाधिकारी और सदस्यगण उपस्थित रहे।

बैठक-सह-सम्मान समारोह में फ्रण्टलाईन में कार्य करने वाले समस्त अधिकारी/कर्मचारियों और सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा अबुझमाड़ महोत्सव - तृतीय अंतर्राष्ट्रीय माड़ मैराथन - 2021 के दौरान अपने कार्य की अनुभव और चुनौतियों को शेयर करते हुए आगामी आयोजन के दौरान इसे बेहतर बनाने के सुझाव दिये गये। इसके बाद कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, सीईओ, जिला पंचायत और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक द्वारा अबुझमाड़ महोत्सव - तृतीय अंतर्राष्ट्रीय माड़ मैराथन - 2021 के सफल आयोजन को सफल बनाने के लिए काम करने वाले सभी विभागों के अधिकारी/कर्मचारियों, शिक्षकों, सामाजिक कायकर्ताओं और छात्रों को प्रमाण-पत्र देकर सम्मानित किया गया। सम्मान समारोह के दौरान शिक्षा विभाग की ओर से शिक्षक श्री अजय डहरिया द्वारा बस्तर के विकास में पुलिस जवानों के श्रेय को रेखांकित करते हुए शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई। 

श्री राहूल देव, सीईओ, जिला पंचायत ने माड़ मैराथन को जिला नारायणपुर का पहचान बताते हुए आयोजन को सफल बनाने के लिए समस्त अधिकारी/कर्मचारियों और वालेंटियर्स का आभार प्रकट किया।

श्री मोहित गर्ग, पुलिस अधीक्षक द्वारा नारायणपुर के बच्चों और युवाओं के टेलेण्ट की सराहना करते हुए उन्हें मंच प्रदान करने की जोर देते हुए अधिकारी/कर्मचारियों, पत्रकारों और सामाजिक कार्यकर्ताओं, व्यापारी संघ,  सेलून  संघ, डीजे  संघ  और क्रिकेट टीम सहित छात्रों को अपने जिला, प्रदेश और देश की उन्न्ति के लिए निरंतर बेहतर और गुणवत्तायुक्त संवाद जारी रखने की बात कही गई। श्री गर्ग ने मैराथन के आयोजन को सफल बनाने के लिए सबके सक्रिय भागीदारी की प्रसंशा की। 

श्री धर्मेश कुमार साहू ने अबुझमाड़ महोत्सव - तृतीय अंतर्राष्ट्रीय माड़ मैराथन - 2021 को नारायणपुर के लोगों, जन प्रतिनिधियों, सामाजिक संस्थाओं, पुलिस/प्रशासन, शिक्षकों, छात्रों और युवाओं का का ग्राण्ड सक्सेस बताते हुए आगामी मैराथन को नई उंचाईयों तक ले जाने की गुंजाईस पर जोर देते हुए अबुझमाड़ के पर्यटन को वैश्विक पहचान दिलाने की दिशा में काम करने की अपील की है। श्री साहू ने विश्व महिला सप्ताह के दौरान जिला के समस्त विभागों और सामाजिक संस्थाओं को महिला सशक्तिकरण के लिए जागरूता अभियान और आयोजन करने की अपील की है।

Related Images :





Share:

‘‘नव संचार फाउण्डेशन’’ द्वारा वन विभाग के सहयोग से गुडरीपारा में चलाया अभियान, वन विभाग द्वारा महिलाओं को दिये जाएंगे रोजगार के अवसर

‘‘नव संचार फाउण्डेशन’’ द्वारा वन विभाग के सहयोग से गुडरीपारा में चलाया अभियान, वन विभाग द्वारा महिलाओं को दिये जाएंगे रोजगार के अवसर

सामाजिक संस्था ‘‘नव संचार फाउण्डेशन’’ द्वारा वन विभाग के सहयोग से आज दिनांक 02 मार्च 2021 को नारायणपुर के गुडरीपारा में जन जागरूकता अभियान चलाया गया। इस दौरान एसीडीओ फारेस्ट श्री आशीष सिंह और फारेस्ट अधिकारी श्री विजेन्द्र तथा संस्था के अध्यक्ष श्रीमती सीमा गर्ग, सचिव जागृति डी., सह सचिव सुश्री आरती गर्ग, श्रीमती उपमा साहू, श्रीमती मनु चन्द्राकर श्रीमती श्रुति उपाध्याय सहित सैकड़ों लोग उपस्थित रहे।

नव संचार फाउण्डेशन द्वारा गुडरीपारा (नारायणपुर) के महिलाओं और बच्चों को एकजूट कर महिलाओं और बच्चों से बात की गई, उनके साथ खेल भी खेला गया उसके बाद उनके हाथ धुलवाकर न्यूट्रिशियन के लिए अण्डे और बिस्किट वितरित किये गये। श्रीमती जागृति डी. के अनुरोध पर वन विभाग के एसडीओ श्री आशीष सिंह द्वारा स्थानीय महिलाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए ईमली उपलब्ध कराया जाकर उसके छीलके, पल्प और बीज अलग करने का काम सौपा जाएगा। वहीं संस्था के पदाधिकारियों और उपस्थित अन्य सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा जिला कलेक्टर श्री धर्मेश कुमार साहू से मिलकर नारायणपुर से गुडरीपारा को जोडने वाले सड़क को उन्नत करने और बिजली कनेक्शन व स्ट्रट लाईट लगवाने हेतु अनुरोध किया गया। श्री साहू द्वारा शीघ्र ही मांग पूरी करने का आश्वासन देते हुए नव संचार फाउण्डेशन के पदाधिकारियों को गुणवत्तायुक्त सामाजिक कार्य करने के लिए शुभकामना दी गई।

Related Images :





Share:

‘‘नव संचार फाउण्डेशन’’ द्वारा नारायणपुर के गुडरीपारा में चलाया गया जन जागरूकता अभियान

‘‘नव संचार फाउण्डेशन’’ द्वारा नारायणपुर के गुडरीपारा में चलाया गया जन जागरूकता अभियान

समाजिक संस्था ‘‘नव संचार फाउण्डेशन’’ के द्वारा आज 01 मार्च 2021 को नारायणपुर के गुडरीपारा में जन जागरूकता अभियान चलाया गया। इस दौरान संस्था के अध्यक्ष श्रीमती सीमा गर्ग, सचिव जागृति डी., सह सचिव सुश्री आरती गर्ग, कोषाध्यक्ष श्री रोशन लाल गर्ग और सदस्य मधुकर राव सहित सैकड़ों लोग उपस्थित रहे। विशिष्ट अतिथि के रूप में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री नीरज चन्द्राकर सपत्नीक उपस्थित रहे।

नव संचार फाउण्डेशन के पदाधिकारियों और सदस्यों द्वारा गुडरीपारा में घर-घर जाकर महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों को एकत्र कर उनके हाथ धुलवाये गये और फिर नास्ता और जूश पिलाया जाकर हाथ धोने के फायदे बताते हुए स्वच्छता पर जोर देने की अपील की गई। संस्था के अध्यक्ष श्रीमती सीमा गर्ग द्वारा दीघार्य और अच्छे जीवन के लिए शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को अच्छा रखने के नुस्खे बताते हुए खेल-खेल में बच्चों को लगने वाले छोटे-मोटे चोट के घरेलु उपचार बताते हुए टोने टोटके के लिए बैगा के बजाय बेहतर उपचार के लिए अस्पताल जाने का सुझाव दिया गया। वहीं सचिव श्रीमती जागृति डी. द्वारा जीवन में शिक्षा का महत्व बताते हुए इस साल सभी बच्चों को शतप्रतिशत विद्यालय भेजने की अपील की। अंत में विशिष्ट अतिथि श्री नीरज चन्द्राकर ने बच्चों से कहा कि आप सभी देश के असली शासक और संरक्षक होने वाले हैं इसके लिए आवश्यक है कि आप सब स्कूल जाएं और मन लगाकर खूब पढ़ें और निरंतर आगे बढ़ें ताकि आपके शैक्षणिक, समाजिक, आर्थिक और राजनैतिक विकास हो सके।
Share:

सामाजिक संस्था ‘‘नव संचार फाउण्डेशन’’ ने नारायणपुर में महिलाओं को स्वरोजगार उपलब्ध कराने और महिलाओं/बच्चों में जागरूकता लाने के लिए किया पहल

सामाजिक संस्था ‘‘नव संचार फाउण्डेशन’’ ने नारायणपुर में महिलाओं को स्वरोजगार उपलब्ध कराने और महिलाओं/बच्चों में जागरूकता लाने के लिए किया पहल

जिला मुख्यालय नारायणपुर में नक्सल प्रभावित लोगों के विस्थापित क्षेत्र गुड़रीपारा और शांतिनगर में महिलाओं और बालकों के आर्थिक, शैक्षणिक उत्थान और स्वास्थ्य जागरूकता के लिए कार्य करने वाली सामाजिक संस्था नव संचार फाउण्डेशन द्वारा 27 फरवरी 2021 को माड़ महोत्सव के दौरान स्टाॅल लगाकर धावकों, स्थानीय नागरिकों और स्थानीय महिलाओं/बच्चों के लिए सुविधा केन्द्र बनाया जाकर उनके लिए नास्ते और जूश की व्यवस्था की गई। छाॅलीवुड कलाकार पद्मश्री अनुज शर्मा द्वारा श्री मोहित गर्ग, पुलिस अधीक्षक नारायणपुर, श्री नीरज चन्द्राकर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक और श्री दीपक साव, रक्षित निरीक्षक, नारायणपुर की गरिमामय उपस्थिति में संस्था के टी-शर्ट का विमोचन किया गया साथ ही पद्मश्री अनुज शर्मा के हाथों स्थानीय महिलाओं और बच्चों को निःशूल्क सैण्डल और जूते के लिए कूपन दिलवाया गया और कुछ मनारेजनात्मक खेल भी खेलाया गया।

पद्मश्री अनुज शर्मा ने संस्था के पदाधिकारियों के उद्देश्यों और लक्ष्य की सराहना करते हुए लक्ष्य प्राप्ति के लिए शुभकामनाएं देते हुए कहा कि अबुझमाड़ सहित समूचे बस्तर में इस प्रकार के समाजिक संगठनों के सक्रिय भागीदारी की आवश्यकता है। उन्होने समाजिक संस्थाओं से अपील करते हुए कहा कि बस्तर विशालकाय वनवासी क्षेत्र है, चूंकि वनवासी क्षेत्र में केवल सरकार के योगदान से त्वरित गति से सम्पूर्ण विकास की परिकल्पना नही की जा सकती है इसलिए समाजिक संस्थाएं बढ़ चढ़कर बस्तर के विकास को गति देने का काम करें।

श्रीमती जागृति डी. (सचिव) द्वारा संस्था के उद्देश्य के बारे में बताते  हुए कहा गया कि हमारी संस्था ‘‘नव संचार फाउण्डेशन’’ अबुझमाड़ में जन जागरूकता लाकर लोगों के जीवन स्तर को सुधारने के लिए संकल्पित है, हम इसके माध्यम से हम जरूरतमंद महिलाओं के लिए स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराने तथा स्थानीय महिलाओं और बालकोे के मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए सरकार और लोगों के बीच मध्यस्थता का काम करेंगे।

Related Images 





Share:


सबसे अधिक बार पढ़ा गया लेख


यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/कवि/व्यक्ति अपनी मौलिक रचना और किताब निःशुल्क प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कैसे करें?

Blog Archive