पुलिस के सिटीजन काॅप एप्प की उपलब्धि, लगभग 14 लाख, 50 हजार का मोबाईल फोन किया रिकवर

पुलिस के सिटीजन काॅप एप्प की उपलब्धि, लगभग 14 लाख, 50 हजार का मोबाईल फोन किया रिकवर

सिटीजन काॅप के माध्यम से कुल 126 नग मोबाईल फोन बरामद

श्री जी.पी. सिंह, पुलिस महानिरीक्षक, दुर्ग रेंज, दुर्ग के निर्देशन में संचालित सिटीजन काॅप सेल द्वारा सिटीजन काॅप - मोबाईल एप्लीकेशन पर दर्ज मोबाईल फोन के गुम होने की शिकायतों पर कार्यवाही करते हुये 14 नग मोबाईल फोन रिकवर किया गया। श्री सिंह द्वारा इन 14 नग मोबाईल फोन को उनके मूल मालिको को आवश्यक दस्तावेज देखकर आज दिनांक 22/11/2018 को अपने कार्यालय में वापस सुपुर्द किया गया। ये मोबाईल फोन राज्य के बाहर हैदराबाद (तेलंगाना), पंजाब, झारखण्ड, सूरत (गुजरात), बरगढ़ (उडीसा), देवरी (महाराष्ट्र), एवं राज्य के सरायपाली, कांकेर एवं स्थानीय लोगों से रिकवर किये गये हैं।

उल्लेखनीय है कि दुर्ग संभाग में सिटीजन काॅप - मोबाइल एप्लीकेशन के अपग्रेडेड वर्जन के साथ मार्च 2018 में लाॅंच किया गया था, तब से अभी तक सिटीजन काॅप के माध्यम से कुल 126 नग मोबाईल फोन बरामद कर संबंधित मोबाईल धारको को लौटाया जा चुका है। अब तक रिकवर किये गये सभी मोबाईल फोन की कीमत लगभग 14 लाख 50 हजार रूपये के करीब है।।

गुम/चोरी हुए मोबाईल फोन वापस मिलने के कारण लोगों ने मोबाईल फोन वापस मिलने पर खुषी जाहिर करते हुए सिटीजन काॅप मोबाईल एप्प व रेंज पुलिस महानिरीक्षक के द्वारा किये जा रहे कार्यों की सराहना की है। करीमुद्दीन फरीद अपने मोबाईल वीवो-53आई वापस पाकर सिटीजन काॅप के कार्यषैली की सराहना करते हुए अपने फीडबैक में लिखा है ‘’मेरा मोबाईल खरीदने के एक सप्ताह बाद ही चोरी हो गया था इसलिए इस्तेमाल नही का पाने का अफसोस था। आपके प्रयासों से करीब चार महिने बाद यह मोबाईल मिला है। मुझे इसलिए भी खुषी है कि आपने जिस मोबाईल को खोजकर वापस दिया है उसे मैने अपनी पत्नी को गिफ्ट किया था। मै इसके लिए आपका धन्यवाद और आभार प्रकट करता हूं।’’

Related Images


Share:

नये साल, नव संकल्प हमारा

नये साल, नव संकल्प हमारा


नये साल, नव संकल्प हमारा
"मानवता ही धर्म" के सिद्धांत को अपनाएंगे

सहपाठी सब, भाई बहन हैं
अनवरत, रक्षा का धर्म निभाएंगे।।

न, जाति-धर्म की होंगी बन्धन
"मनखे-मनखे एक समान" हो जाएंगे।।।

राष्ट्रीय सुरक्षा, और गरिमा के लिए
न्यौछावर, प्राण कर जाएंगे।।।।

नये साल ...........



भ्रूण हत्या, भेदभाव के खिलाफ
एक नया, मुहिम चलाएंगे।

"जम्मो जीव हे भाई बरोबर"
को धर्म, अपना बनाएंगे।।

स्वर्ग की कल्पना, साकार करने
सत्य, अहिंसा को अपनाएंगे।।।

शाकाहार, आयुर्वेद के लिए
हम 10-10 पेड़ लगाएंगे।।।।

नये साल ...........


Writer
HP Joshi
Sector 27, Atal Nagar
Raipur, Chhattisgarh
Share:

महिला के द्वारा बैक में रखे गिरवी के जमीन को धोखा देकर अपने नाम करने वाले आरोपी रामकुमार उर्फ काली तथा आर्ची के खिलाफ 420 का मामला दर्ज

महिला के द्वारा बैक में रखे गिरवी के जमीन को धोखा देकर अपने नाम करने वाले आरोपी रामकुमार उर्फ काली तथा आर्ची के खिलाफ 420 का मामला दर्ज

बैंक में बंधक जमीन हडपने वाले आरोपियो पर अपराध कायम, रामकुमार उर्फ काली तथा आर्ची की धोखाधड़ी उजागर 

देना बैंक प्रबंधक की रिपोर्ट पर हुई कार्यवाही, लाखों की धोखाधडी का पर्दाफाश

उतई हथखोज पारा निवासी आवेदिका श्रीमती रमाबाई देषलहरे पति स्व. लखन लाल देशलहरे 60 साल ने पुलिस महानिरीक्षक दुर्ग रेंज दुर्ग के कार्यालय जाकर पुलिस महानिरीक्षक श्री जी.पी. सिंह के समक्ष शिकायत प्रस्तुत की, कि इसने वर्ष 1985-86 में देना बैंक शाखा दुर्ग से कर्ज लिया था। और इसके पति के नाम की खसरा नंबर 1008 की 20 डिसमिल भूमि बैंक में बंधक रखकर इसके पति लखन लाल जमानतदार थे। लखन लाल की मृत्यु दिनाॅक 23.10.11 को होने के पष्चात् यह ग्राम उतई के पटवारी से संपर्क की, तब इसे पता चला कि बैैंक में बंधक रखी गई भूमि रकबा 0.08 हेक्टेयर किसी रामकुमार राय पिता सी.एल. राय निवासी सेक्टर 07 भिलाई के नाम से दर्ज है। तब यह बैंक से जानकारी लेने गई, बैंक वालों ने इसे बताया कि जमीन तो बैंक में बंधक है। 

पुलिस महानिरीक्षक द्वारा शिकायत की गंभीरता को देखते हुये थाना प्रभारी उतई को आवेदिका के शिकायत पत्र की सूक्ष्म जाॅच हेतु निर्देषित किया गया था। जाॅच पर पाया गया कि आवेदिका द्वारा वर्ष 1985 में देना बैंक दुर्ग से 02 लाख रूपये का लोन लिया गया था, लोन के एवज में आवेदिका के पति ने अपनी 20 डिसमिल जमीन व ऋण पुस्तिका आदि दस्तावेज बैंक में गिरवी रखा था। लोन समय पर न पटाने के कारण बैंक ने सरफेषी एक्ट के तहत दिसम्बर 2006 में बंधक भूखंड को अपने कब्जे में लिया था। आरोपी रामकुमार राय और आर्ची ने मिलकर उक्त भूमि को ऋण चुका देने का प्रलोभन आवेदिका के पति को देकर देना बैंक का बिना ऋण चुकाये फर्जी दस्तावेज बनाकर बंधक भूमि को पुनः छत्तीसगढ़ ग्रामीण बैंक रिसाली में गिरवी रख दिया। इसके पश्चात् छत्तीसगढ़ ग्रामीण बैंक का ऋण हड़प कर उपरोक्त बंधक जमीन पुनः भिलाई नागरिक सहकारी बैंक मर्यादित भिलाई में बंधक रखकर ऋण लिया और फर्जी तरीके से जमीन की एनओसी प्राप्त कर जमीन की रजिस्ट्री रामकुमार राय के नाम से करवा ली गई। जाॅच में पाया गया कि छत्तीसगढ़ ग्रामीण बैंक रिसाली से समस्त दस्तावेज बैंक में उपलब्ध नहीं है।  संपूर्ण फर्जी कार्यवाही में आवेदिका के पति को ऋण अदा करने का झूठा आष्वासन देकर इस्तेमाल किया गया। जमीन के मूल कागजात देना बैंक में पूर्व से ही बंधक थे। 

देना बैंक प्रबंधक, बैंक के कब्जे एवं स्वामित्व की भूमि की फर्जी रजिस्ट्री से हतप्रभ हो गये और दिनाॅंक 12.11.18 को थाना उतई जाकर देना बैंक के प्रबंधक सायरा बेगम पिता श्री सफर अली ने आरापियों के विरूद्ध लिखित आवेदन देकर आपराधिक षडयंत्र रचकर अमानत में खयानत व धोखाधड़ी की एफआईआर दर्ज कराया। बैंक में बंधक जमीन को फर्जी तरीके से रजिस्ट्री कराने के कुख्यात आरोपी रामकुमार राय उर्फ काली निवासी सेक्टर 07 भिलाई एवं आर्ची भिलाई के विरूद्व थाना उतई में अपराध क्रं. 428/18 धारा 406, 420, 120 बी भादवि का अपराध पंजीबद्व किया गया है। फर्जी तरीके से रजिस्ट्री कराई गई। भूमि उतई के प्राइम लोकेशन में है, इसी भूमि पर आवेदिका एवं उसके पति के द्वारा रामा टाॅकीज संचालित की जाती थी। भूमि का वर्तमान बाजार मूल्य लाखों का है।
Share:

वाट्सएप्प ग्रुप MyPolice (Help! Me) में जूडने के लिए क्लिक करें ......

वाट्सएप्प ग्रुप MyPolice (Help! Me)  मायपुलिस (हेल्प-मी) में जूडने के लिए लिंक में क्लिक करें 

छत्तीसगढ़ के आम नागरिकों को पुलिस मार्गदर्शन प्रदान करने, एवं छत्तीसगढ़ पुलिस के मोबाईल एप्प ‘‘सिटीजन काॅप’’ के प्रचार प्रसार हेतु श्री एचपी जोशी द्वारा वाट्सएप्प ग्रुप MyPolice (Help! Me)  मायपुलिस (हेल्प-मी)  बनाया गया है। इस ग्रुप में जूडने के लिए नीचे दिये गये वाट्सएप्प ग्रुप के नाम पर क्लिक करें। MyPolice (Help! Me)  मायपुलिस (हेल्प-मी)  में क्लिक करते ही स्वतः ग्रुप में ज्वाईन हो जाएंगे।



ग्रुप में केवल, एडमिन ही पोस्ट कर सकेगा। यदि सदस्यों के आग्रह पर सभी सदस्यों के लिए ग्रुप ओपन किया जाता है, ऐसी स्थिति में ग्रुप में किसी भी प्रकार से समाजिक, राजनैतिक, धार्मिक पोस्ट स्वीकार्य नही है।
शुभकामना संदेश एवं अन्य संदेश शेयर नही किया जाएगा।
सदस्य अपनी समस्या का निजी तौर पर एडमिन से चैट के माध्यम से अवगत करायेंगे, जिसके लिए अपेक्षित उपाय बताया जाएगा।
ग्रुप में अभद्र भाषा का प्रयोग स्वीकार्य नही होगा।
संविधान, कानून एवं आईटी एक्ट, का उल्लंघन करने पर पुलिस कार्यवाही की जाएगी।
आपसे आग्रह है कि अपने आसपास हो रहे अपराध की सूचना, व्यक्तिगत रूप से एडमिन को ही दें। यदि सूचना से संबंधित प्रमाण हो, तो बेहतर होगा।
आपसे आग्रह है कि केवल एक ही ग्रुप में जूडें।


Please Share this Link 
Share:

जिला राजनांदगांव में विधानसभा चुनाव - 2018 में 82.52 प्रतिशत मतदान के लिए सुरक्षा बल, मतदान दल एवं मतदाताओं का आभार

जिला राजनांदगांव में विधानसभा चुनाव - 2018 में 82.52 प्रतिशत मतदान के लिए सुरक्षा बल, मतदान दल एवं मतदाताओं का आभार

श्री जीपी सिंह (आईजी दुर्ग) के विशेष मार्गदर्शन एवं श्री कमल लोचन कश्यप (पुलिस अधीक्षक, राजनांदगांव), श्री वायपी सिंह (अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, नक्सल, राजनांदगांव) के पर्यवेक्षण में केन्द्रीय बलों, राज्य सशस्त्र बल, छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल, जिला पुलिस बल के अधिकारी/कर्मचारी, नगर सेना, सहायक आरक्षक एवं विशेष पुलिस अधिकारियो के सुरक्षा घेरे में जिला राजनांदगांव के 06 विधानसभा क्षेत्रों में निष्पक्ष, निर्भीक एवं शांतिपूर्ण विधानसभा आम चुनाव - 2018 सम्पन्न हुआ। ज्ञातव्य हो कि जिले में 82.52 प्रतिशत मतदान हुआ और किसी भी प्रकार से नक्सल हिंसा/अप्रिय घटना घटित नही हुआ।

जिला राजनांदगांव अंतर्गत विधानसभा क्षेत्रों के नाम एवं मतदान प्रतिशत
73 Khairagarh - 84.31%
74 Dongargarh - 81.56%
75 Rajnandgaon - 78.66%
76 Dongargaon - 85.81%
77 Khujji - 84.48%
78 Mohla & Manpur - 80.06%

मै (हुलेश्वर जोशी) लोकतंत्र की रक्षा के लिए चुनाव कार्य में लगे सुरक्षा बलों के अधिकारी/कर्मचारियों, मतदान दल एवं आम नागरिकों (मतदाताओं) के सराहनीय योगदान के लिए उनका आभार व्यक्त करता हूं।


HP Joshi
Atal Nagar, Chhattisgarh
Mob - 9406003006

Share:

धनतेरस पर दुर्ग आईजी श्री जी.पी. सिंह ने लौटाये 17 नग मोबाईल फोन

धनतेरस पर दुर्ग आईजी श्री जी.पी. सिंह ने लौटाये 17 नग मोबाईल फोन
सिटीजन काॅप के माध्यम से कुल 112 नग मोबाईल फोन बरामद
गाजियाबाद (उत्तर प्रदेश), सूल्तानपुर (उत्तर प्रदेश), बालाघाट (मध्य प्रदेश), अहमदनगर (महाराष्ट्र), गोंदिया (महाराष्ट्र), बरगढ़ (उडिसा), आसाम एवं दिल्ली से रिकवर
श्री जी.पी. सिंह, पुलिस महानिरीक्षक, दुर्ग रेंज, दुर्ग के निर्देशन में संचालित सिटीजन काॅप सेल द्वारा सिटीजन काॅप - मोबाईल एप्लीकेशन पर दर्ज मोबाईल फोन के गुम होने की शिकायतों पर कार्यवाही करते हुये 17 नग मोबाईल फोन रिकवर किया गया। श्री सिंह द्वारा इन 17 नग मोबाईल फोन को उनके मूल मालिको को आवश्यक दस्तावेज देखकर आज दिनांक 05/11/2018 को अपने कार्यालय में वापस सुपुर्द किया गया। उल्लेखनीय है कि दुर्ग संभाग में सिटीजन काॅप - मोबाइल एप्लीकेशन के अपग्रेडेड वर्जन के साथ मार्च 2018 में लाॅंच किया गया था, तब से अभी तक सिटीजन काॅप के माध्यम से कुल 112 नग मोबाईल फोन बरामद कर संबंधित मोबाईल धारको को लौटाया जा चुका है। ये सभी 17 नग मोबाईल फोन राज्य के बाहर से गाजियाबाद (उत्तर प्रदेश), सूल्तानपुर (उत्तर प्रदेश), बालाघाट (मध्य प्रदेश), अहमदनगर (महाराष्ट्र), गोंदिया (महाराष्ट्र), बरगढ़ (उडिसा), आसाम एवं दिल्ली से रिकवर किये गये हैं।
गुम/चोरी हुए मोबाईल फोन धनतेरस के अवसर पर वापस मिलने के कारण लोगों को अत्यधिक खुशी हुई है। लोगों ने मोबाईल फोन वापस मिलने पर खुशी जाहिर करते हुए सिटीजन काॅप मोबाईल एप्प व रेंज पुलिस महानिरीक्षक के द्वारा किये जा रहे कार्यों की सराहना की है। विक्रम नाग अपने मोबाईल सैमसंग जे-7 वापस पाकर सिटीजन काॅप के कार्यशैली की सराहना करते हुए अपने फीडबैक में लिखा है ‘वाह क्या बात है ! मै बहुत खुश हुआ, आपके सिटीजन काॅप एप्प के माध्यम से मेरा मोबाईल आज वापस मिला, आपके टीम को बधाईयां। मै तो सोचा था कि अब मुझे ये मोबाईल नही मिलेगा, किन्तु आईजी साहब द्वारा शुरू किये गये इस मोबाईल एप्प के कारण मुझे पुनः प्राप्त हो गया। कृपया सिटीजन काॅप एप्प को बंद न करें, इससे और बहुत लोगों को लाभ मिला है।’’
Share:

Integrity Pledge of Mr. Huleshwar Joshi

Integrity Pledge of Mr. Huleshwar Joshi


I, (Huleshwar Joshi) believe that corruption has been one of the major obstacles to economic, political and social progress of our country. I believe that all stakeholders such as Government, citizens and private sector need to work together to eradicate corruption.

I, (Huleshwar Joshi) realise that every citizen should be vigilant and commit to highest standards of honesty and integrity at all times and support the fight against corruption.

I, (Huleshwar Joshi) therefore, pledge:
  • To follow probity and rule of law in all walks of life.
  • To neither take nor offer bribe.
  • To perform all tasks in an honest and transparent manner.
  • To be accountable for my actions.
  • To act in public interest.
  • To lead by example exhibiting integrity in personal behaviour.
  • To report any incident of corruption to the appropriate agency.
Huleshwar Joshi
Atal Nagar (Capital of Chhattisgarh)
District Raipur, Chhattisgarh



Share:


सबसे अधिक बार पढ़ा गया लेख


यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/कवि/व्यक्ति अपनी मौलिक रचना और किताब निःशुल्क प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कैसे करें?

Blog Archive