अमर शहीद श्री कनेर सिंह उसेण्डी के प्रतिमा का हुआ अनावरण; शहीद के जयकारे से गुंजायमान हुआ शहर पूरा

अमर शहीद श्री कनेर सिंह उसेण्डी के प्रतिमा का हुआ अनावरण; शहीद के जयकारे से गुंजायमान हुआ जिला मुख्यालय नारायणपुर

आज दिनाँक 24.02.2022 को सूलेंगा स्कूल ग्राउण्ड, नारायणपुर में वीर योद्धा शहीद श्री कनेर सिंह उसेण्डी की प्रथम पुण्यतिथि के अवसर पर शहीद की पत्नी श्रीमती प्रमिला उसेण्डी, पुत्र कुशाग्र और पुत्र पीयूष के हाथों प्रतिमा का अनावरण कराया गया। पुलिस अधीक्षक श्री गिरिजा शंकर जायसवाल द्वारा शहीद के प्रतिमा में माल्यार्पण कर उनके योगदान से लोगों को अवगत कराया गया तथा 2मिनट मौन धारण करने उपरांत परिजन, पुलिस अधिकारी/जवान, स्थानीय जनप्रतिनिधि, आम नागरिक और युवाओं द्वारा माल्यार्पण और पुष्पांजलि अर्पित की गई।

उल्लेखनीय है कि शहीद श्री कनेर सिंह उसेण्डी दिनांक 24.02.2021 को जिला नारायणपुर क्षेत्रान्तर्गत ग्राम परादी व काकुर के बीच जंगल में नक्सलियों से हुई मुठभेड़ में लड़ते हुए अदम्य साहस और वीरता का परिचय देते हुए वीरगति को प्राप्त हुए हैं। उन्होंने अपने सेवा काल में दर्जनों नक्सल अभियान को सफल बनाने में अपना योगदान दिया है। जिसके परिणाम स्वरूप उनके स्मृति में सूलेंगा स्कूल मैदान, नारायणपुर में प्रतिमा का अनावरण किया गया।

एएसपी श्री नीरज चंद्राकर के नेतृत्व में पुलिस जवानों, गणमान्य नागरिकों और युवाओं के साथ पुलिस लाइन से शहीद रथ के साथ बाइक रैली का शुभारंभ किया गया जो जिला मुख्यालय नारायणपुर के प्रमुख चौक चौराहे से होकर शहर से गुजरते हुए प्रतिमा स्थल तक पहुँची। इस दौरान डीएसपी सुश्री उन्नति ठाकुर, एसडीओपी श्री लौकेश बंसल, डीएसपी श्री अनिल कुर्रे, डीएसपी सुश्री मोनिका मरावी, आरआई श्री दीपक साव, थाना प्रभारी श्री तोप सिंह नवरंग, वरिष्ठ समाज सेवी श्री नरेन्द्र मेश्राम सहित लगभग 200 से अधिक स्थानीय जनप्रतिनिधि, पुलिस अधिकारी-जवान, शहीद परिवार और आम नागरिक उपस्थित रहे।

श्री जायसवाल ने कहा कि शहीद श्री कनेर सिंह उसेण्डी ने अबूझमाड़ की शांति, सुरक्षा और उन्नति के लिए अपने प्राणों की आहुति देकर बस्तर की धरा को अपने लहू से सींचा है। अतः नारायणपुर पुलिस, शहीद श्री कनेर सिंह उसेण्डी के इस अदम्य साहस और वीरता को नमन करती है। नारायणपुर पुलिस परिवार और अबूझमाड़ तथा बस्तर के प्रत्येक नागरिक शहीद श्री कनेर सिंह उसेण्डी के योगदान के लिए चिरऋणी हैं। मैं नारायणपुर पुलिस की ओर से शहीद परिवार को विश्वास दिलाता हूँ कि नारायणपुर पुलिस सदैव शहीद परिवार के हर जरूरत पर साथ रहेगा।

वीर योद्धा अमर शहीद श्री कनेर सिंह उसेण्डी का संक्षिप्त जीवन परिचय

वीर योद्धा शहीद श्री कनेर सिंह उसेण्डी का जन्म दिनांक 11.10.1985 को ग्राम धनोरा, जिला नारायणपुर निवासी स्व० श्री बिसरु राम उसेण्डी तथा श्रीमति मोहनबती उसेण्डी के घर हुआ। शहीद श्री कनेर सिंह उसेण्डी प्राथमिक शिक्षा गृह ग्राम धनोरा में तथा उच्च शिक्षा नारायणपुर में प्राप्त किये। शहीद श्री कनेर सिंह उसेण्डी ने खेलकूद के क्षेत्र में विशेषकर किकेट एवं फूटबॉल में विशेष उपलब्धियाँ हासिल की।

वीर योद्धा शहीद श्री कनेर सिंह उसेण्डी दिनांक 15.09.2008 को नारायणपुर जिले में पुलिस विभाग में आरक्षक के रूप में भर्ती हुए थे। पुलिस विभाग में भर्ती होकर लगातार नक्सल उन्मूलन अभियान में बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे थे, उन्होंने दर्जनों नक्सल विरोधी अभियान को सफल करने में अपना बहुमूल्य योगदान दिया है। शहीद श्री कनेर सिंह उसेण्डी ने दिनांक 24.02.2021 को जिला नारायणपुर क्षेत्रान्तर्गत ग्राम परादी व काकुर के बीच नक्सलियों से हुई मुठभेड़ में अदम्य साहस और वीरता का परिचय देते हुए अपना सर्वस्व न्यौछावर कर वीरगति को प्राप्त किया।

Related Images:






Share:

कडेमेटा में माननीय विधायक श्री चंदन कश्यप ने गोंडवाना समाज के भवन का किया भूमिपूजन; एसपी श्री गिरिजा शंकर जायसवाल, वरिष्ठ अधिकारी व जिले के प्रमुख जनप्रतिनिधि रहे उपस्थित

कडेमेटा में माननीय विधायक श्री चंदन कश्यप ने गोंडवाना समाज के भवन का किया भूमिपूजन; एसपी श्री गिरिजा शंकर जायसवाल, वरिष्ठ अधिकारी व जिले के प्रमुख जनप्रतिनिधि रहे उपस्थित

आज दिनाँक 24.02.2022 को माननीय विधायक श्री चंदन कश्यप और एसपी श्री गिरिजा शंकर जायसवाल ग्रामीणों के आमंत्रण पर कडेमेटा पहुँचे जहाँ माननीय विधायक ने गोंडवाना समाज द्वारा निर्मित गोंडवाना समाज सामाजिक भवन का भूमिपूजन किया। इस दौरान एसपी श्री गिरिजा शंकर जायसवाल (आईपीएस), और एएसपी श्री ये. अक्षय कुमार, (आईपीएस), कांग्रेस के वरिष्ठ जनप्रतिनिधिगण, गोंडवाना समाज के पदाधिकारीगण सहित लगभग 300 से अधिक ग्रामीण उपस्थित रहे। ग्रामीणों की माँग पर माननीय विधायक, नारायणपुर ने कडेमेटा में प्राथमिक स्कूल, आँगनबाड़ी, नवीन पंचायत भवन और हैंडपंप खुदवाने की घोषणा की। गोंडवाना समाज सामाजिक भवन भूमिपूजन के बाद माननीय विधायक कन्हारगाँव के लिए रवाना हुए जहाँ उन्होंने डेमरुगाँव सड़क निर्माण कार्य का निरीक्षण किया तथा एसपी श्री जायसवाल कडेमेटा केम्प और थाना धौड़ाई का विजिट कर कैम्प सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया जहाँ श्री जायसवाल ने जवानों से मिलकर उनकी समस्याओं को जाना और निदान के लिए आश्वासन दिया। जवानों से मिलने के बाद श्री जायसवाल ने कडेनार-कडेमेटा निर्माणाधीन सड़क का निरीक्षण किया। इस दौरान श्री जायसवाल के साथ आईपीएस श्री ये. अक्षय कुमार, एसडीओपी श्री अभिषेक पैकरा, डीएसपी श्री अरविंद खलखो तथा छोटेडोंगर और धौड़ाई के थाना प्रभारी उपस्थित रहे।

Related Images:






Share:

एसपी ने विश्वप्रसिद्ध ऐतिहासिक मावली माता मेला की सुरक्षा व्यवस्था का लिया जायज़ा; कहा आम नागरिक निर्भीक होकर मेला का आनंद लें

एसपी ने विश्वप्रसिद्ध ऐतिहासिक मावली माता मेला की सुरक्षा व्यवस्था का लिया जायज़ा; कहा आम नागरिक निर्भीक होकर मेला का आनंद लें

आज दिनाँक 22/02/2022 को एसपी श्री गिरिजा शंकर जायसवाल ने प्रभावी सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने के उद्देश्य से विश्वप्रसिद्ध ऐतिहासिक मावली माता मेला सुरक्षा व्यवस्था का बारीकी से जायज़ा लिया, इसके अंतर्गत मंच सुरक्षा, मेला सुरक्षा, पार्किंग एवं सड़क सुरक्षा व्यवस्था सहित सीसीटीवी कैमरों की डिप्लॉयमेंट का अवलोकन किया। श्री जायसवाल ने मेला स्थल में तैनात जिला पुलिस बल, छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल और आईटीबीपी के सभी अधिकारी/कर्मचारियों से मिलकर उन्हें आम नागरिकों की सुरक्षा और सुविधाओं को सर्वोच्च प्राथमिकता में रखने के निर्देश दिए। मावली माता मेला सुरक्षा व्यवस्था जायज़ा लेने के बाद श्री जायसवाल ने पैदल ही मेला स्थल का निरीक्षण किया तथा इस दौरान उन्होंने गन्ना रस पीने का आनंद लिया। मावली माता सुरक्षा व्यवस्था जायज़ा लेने के दौरान एसपी श्री जायसवाल के साथ एएसपी श्री नीरज चंद्राकर, डीएसपी श्री अनिल कुर्रे, आरआई श्री दीपक साव और थाना प्रभारी श्री तोप सिंह नवरंग उपस्थित रहे।

श्री जायसवाल ने बताया कि "मावली माता मेला अबूझमाड़ की धार्मिक - सांस्कृतिक विरासत की एक झाँकी है। यह मेला अबूझमाड़ की जनता के लिए ख़ुशियों का पर्व लेकर आता है, जिसे न सिर्फ़ अबूझमाड़ वरन देश - विदेश के भी लोग एन्जॉय करते हैं।" उन्होंने यह भी बताया कि जिला मुख्यालय नारायणपुर में आयोजित होने वाली मावली माता मेला इस वर्ष दिनाँक 23/02/2022 से 27/02/2022 तक चलेगी। मेला की सुरक्षा के लिए तीन लेयर में पुलिस और केंद्रीय बल के लगभग 300 जवानों को तैनात किया गया है, ताकि आगंतुक निर्भीक होकर इस ऐतिहासिक मेला का आनंद ले सकें।

श्री जायसवाल के निर्देश पर मावली माता मेला स्थल में अस्थाई पुलिस चौकी तथा हेल्प डेस्क बनाया गया है। आम जनता किसी भी प्रकार के असुविधा होने अथवा आकश्मिक स्थिति में मावली माता मेला कंट्रोल रूम के मोबाइल नंबर 94791-94213, 94791-94299 अथवा 07781-252236 में फ़ोन करके सुरक्षा और सहयोग प्राप्त कर सकते हैं।

Related Images:






Share:

प्रश्नपत्र : "सर्वश्रेष्ठ छात्र" आत्म परीक्षण ऑनलाइन परीक्षा - 2022

"सर्वश्रेष्ठ छात्र" आत्म परीक्षण ऑनलाइन परीक्षा - 2022 - प्रश्नपत्र 


यह ऑनलाइन प्रतियोगी परीक्षा "सेंट्रल कॉउंसिल ऑफ ह्युमन राइट" और ब्लॉग www.thebharat.co.in के संयुक्त तत्वावधान में वरिष्ठ समाज सेवक, लेखक और विचारक श्री हुलेश्वर जोशी के विशेष मार्गदर्शन में आयोजित है।  

आवश्यक दिशा निर्देश : 
# कृपया "सर्वश्रेष्ठ छात्र" आत्म परीक्षण ऑनलाइन परीक्षा - 2022 मे हिस्सा लेने के लिए नीचे दिए गए खाली स्थान मे उचित आवश्यक और सही जानकारी भरें उसके बाद प्रश्नों मे उचित विकल्पों का चुनाव करें। सभी विकल्पों का चुनाव करने के बाद अंत में सबमिट बटन को प्रेस करें। 

# यदि आप एक भी प्रश्न के लिए उचित विकल्प का चुनाव नहीं करेंगे तो आपका प्रश्नपत्र सबमिट नहीं होगा। 

# सबमिट करने पर आपके मोबाईल अथवा कंप्यूटर की स्क्रीन ब्लैंक हो जाएगी तो घबराना नहीं है बल्कि बिना रिफ्रेस किए स्क्रीन को ड्रेग करते हुए ऊपर की ओर जाना है जिससे आपको व्यू स्कोर का ऑप्शन डिस्प्ले होगा जिसे क्लिक करने से आपको प्राप्त अंक की जानकारी और सही उत्तर मिल जाएंगे । 

# किसी भी प्रकार की समस्या के लिए श्री हुलेश्वर जोशी से 9826164156 मे कॉल करके समाधान पा सकते हैं। 

Share:

मनखे अव रे भाई... मानवीय आचरण को रेखांकित करने वाली बेहतरीन छत्तीसगढ़ी कविता

मनखे अव रे भाई...

मनखे अव रे भाई...मनखे कस "जी" लव।
दुआभेदी तुम काबर करथव? मनखे ल तो चीन्ह लव।

"नफ़रत, घृणा अऊ छुआछूत"
नोहय हमर सिंगार।
मनखे अव रे भाई
मनखे ले कर लव पिंयार।

मनखे अव रे भाई...मनखे कस "जी" लव।
दुआभेदी तुम काबर करथव? मनखे ल तो चीन्ह लव।


कुकुर चराए अउ टट्टी कराये बर
होत बिहनिया, जग जाथव।
फेर दाई-ददा ल एक गिलास पानी देहे बर
जीव ल काबर चोराथव?

मनखे अव रे भाई...मनखे कस "जी" लव।
दुआभेदी तुम काबर करथव? मनखे ल तो चीन्ह लव।


अन्न उगईया किसान मन ल
भाई, नीच तुमन कहिथव जी।
फ़ेर ख़ैरात के खवईया जांगरचोट्टा मन ल
महान कइसे समझथव जी।

मनखे अव रे भाई...मनखे कस "जी" लव।
दुआभेदी तुम काबर करथव? मनखे ल तो चीन्ह लव।


गोबर-पिसाब ल पी के कइसे?
पतित पावन हो जाथव जी।
मनखे के छुए ले, कांही नई होवय
फेर छइन्हा म घलो छूआथव जी।

मनखे अव रे भाई...मनखे कस "जी" लव।
दुआभेदी तुम काबर करथव? मनखे ल तो चीन्ह लव।


काबर घुमत हवव
धरे-धरे
जब्बर बरछी अउ तलवार।
गुसियाये गुसियाये टिहक़त हवव
अपन देवता के तो बन जव चिन्हार।

मनखे अव रे भाई...मनखे कस "जी" लव।
दुआभेदी तुम काबर करथव? मनखे ल तो चीन्ह लव।


भाई रे...
अगास म काबर, फ़ेंकत हव तलवार।
एक फुल तो गोंदा के फ़ेंकव
मिलहि तुँहला मया दुलार।

मनखे अव रे भाई...मनखे कस "जी" लव।
दुआभेदी तुम काबर करथव? मनखे ल तो चीन्ह लव।


धरम के नाव म, भाई तुमन
धरम ले काबर भटकत हव।
"जम्मो जीव हे भाई-बहिनी बरोबर"
फेर तुम ईंखरे जीव ल लेवत हव।

मनखे अव रे भाई...मनखे कस "जी" लव।
दुआभेदी तुम काबर करथव? मनखे ल तो चीन्ह लव।


रचनाकार : 
श्री हुलेश्वर प्रसाद जोशी, 
नारायणपुर-बस्तर (छत्तीसगढ़) 
Share:

अधिसूचना : "सर्वश्रेष्ठ छात्र" आत्म परीक्षण ऑनलाइन परीक्षा - 2022 {Notification of "BEST STUDENT" SELF TEST ONLINE EXAMINATION - 2022}

Notification of "BEST STUDENT" SELF TEST ONLINE EXAMINATION - 2022 

यह ऑनलाइन प्रतियोगी परीक्षा "छत्तीसगढ़ सोसाइटी फ़ॉर स्कूल एंड प्रोफेशनल एजुकेशन" और ब्लॉग www.thebharat.co.in के संयुक्त तत्वावधान में वरिष्ठ समाज सेवक, लेखक और विचारक श्री हुलेश्वर जोशी के विशेष मार्गदर्शन में आयोजित है।

# यह ऑनलाइन सामान्य ज्ञान परीक्षा स्टूडेंट्स को बेहतर नागरिक बनने के लिए प्रेरित करने के उद्देश्य से ली जा रही है। इस आत्म परीक्षण आधारित ऑनलाइन सामान्य ज्ञान परीक्षा में भाग लेने वाले समस्त प्रतिभागी स्टूडेंट्स (कक्षा - 1 से मास्टर डिग्री) को सर्टिफिकेट प्रदान किये जायेंगे।
# परीक्षा मे 30 प्रश्न पूछे गए हैं, इस परीक्षा का पूर्णांक 100 अंक है। कृपया झूठे अथवा बनावटी जवाब न दें क्योंकि परीक्षा में शामिल होने वाले सभी प्रतिभागी को सर्टिफिकेट प्रदान किये जायेंगे।
# गलत उत्तर के लिए ऋणात्मक अंक का प्रावधान नहीं है।
# प्रत्येक प्रश्न के लिए उनके अंकों का भार उसके गुणवत्ता के आधार पर है।
# परीक्षा तिथि - 20 फ़रवरी 2022 को परीक्षा में शामिल होने वाले प्रतिभागी को ही सर्टिफिकेट प्रदान किये जायेंगे।
# एक से अधिक बार परीक्षा में शामिल होने पर भी प्रथम प्रयास की परीक्षा को ही वैध माना जायेगा।

अथवा 
Share:

नारायणपुर पुलिस की मज़बूत सुरक्षा घेरे में सोनपुर से डोण्डरीबेड़ा रोड़ का मुरमीकरण कार्य पूर्ण

नारायणपुर पुलिस की मज़बूत सुरक्षा घेरे में सोनपुर से डोण्डरीबेड़ा रोड़ का मुरमीकरण कार्य पूर्ण


अबूझमाड़, जिला नारायणपुर के अंतर्गत सोनपुर से डोण्डरीबेड़ा सड़क का आज मुरमीकरण का कार्य पूर्ण हो गया है। उल्लेखनीय है कि अभी हाल ही में अबूझमाड़ के सर्वांगीण विकास के ध्येय से पुलिस अधीक्षक श्री गिरिजा शंकर जायसवाल, आईपीएस के निर्देशन में नारायणपुर पुलिस और केंद्रीय बलों के मज़बूत सुरक्षा घेरे में सोनपुर से डोण्डरीबेड़ा सड़क की मुरमीकरण का कार्य प्रारंभ किया गया था। यहाँ यह भी उल्लेखनीय है कि इस सड़क के बनने के पूर्व यहाँ पगडण्डी हुआ करता था जो पगडण्डी झील झरने और डोंगरी-पहाड़ियों से होकर गुजरती थी। इस सड़क के निर्माण होने से कदेर, मेटानार, मसपुर, होरादी, गारपा, ब्रेहबेड़ा, ओरछापाल, बालेबेडा और डोण्डरीबेड़ा सहित दर्जनों ग्राम के लोग सीधे जिला मुख्यालय से जुड़ सकेंगे। पैदल चलने को जो लोग मजबूर थे अब सायकल, मोटर साइकिल और अन्य वाहन से कम समय में अपना रास्ता तय कर सकेंगे।



Share:

नारायणपुर पुलिस ने ओरछा एलओएस कमांडर दीपक पल्लो के ख़ास और एक लाख रुपये का ईनामी नक्सली, मिलिशिया कमांडर सोमारू पोड़ियाम ऊर्फ़ बली पोड़ियाम को किया गिरफ़्तार

नारायणपुर पुलिस ने ओरछा एलओएस कमांडर दीपक पल्लो के ख़ास और एक लाख रुपये का ईनामी नक्सली, मिलिशिया कमांडर सोमारू पोड़ियाम ऊर्फ़ बली पोड़ियाम को किया गिरफ़्तार

एक लाख रुपये का ईनामी नक्सली, मिलिशिया कमांडर सोमारू पोड़ियाम ऊर्फ़ बली पोड़ियाम गिरफ़्तार; 10 साल से है भठबेडा मिलिशिया कमांडर, कई नक्सल हिंसा में था शामिल

पुलिस महानिरीक्षक बस्तर रेंज श्री सुन्दराज पी. के निर्देशन में संचालित किए जा रहे नक्सल विरोधी अभियान के तहत पुलिस अधीक्षक श्री गिरिजा शंकर जायसवाल की सूचना पर कार्यवाही करते हुए आज दिनाँक 12.02.2022 को डीआरजी नारायणपुर ने मिलिशिया कमांडर सोमारू पोड़ियाम ऊर्फ़ बली पोड़ियाम को गिरफ़्तार किया। एसपी नारायणपुर को मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई कि भठबेडा मिलिशिया कमांडर सोमारू पोड़ियाम ऊर्फ़ बली पोड़ियाम अपने घर भठबेडा आया है। एसपी श्री जायसवाल ने सूचना पर त्वरित कार्यवाही करते हुए दिनाँक 11.02.2022 की देर शाम डीआरजी टीम को ओरछा से रवाना किया था। आज दिनाँक 12.02.2022 को डीआरजी टीम सोमारू पोड़ियाम के घर की घेराबंदी करने जा रही थी इसी दौरान एक आदमी घने जंगलों में छिपते हुए भागने का प्रयास कर रहा था। संदेह के आधार पर डीआरजी जवानों ने पकड़कर नाम पूछा तो ये ग्रामीण होने की बात कहकर टालमटोल कर रहा था। जिससे पूर्व में नक्सली संगठन में काम कर चुके जवानों द्वारा उसकी पहचान की गई तथा उसे उसके नाम से पुकारने पर उसने अपना नाम सोमारू पोड़ियाम होना स्वीकार किया। फिर विस्तृत पूछताछ करने पर सोमारू पोड़ियाम ने खुद को मिलिशिया कमांडर बताते हुए कई नक्सल अपराध में शामिल होना बताया, जिसमें (1) 2016 में इकुल, बीजापुर में डीआरजी, एसटीएफ और कोबरा की संयुक्त पार्टी के साथ मुठभेड़ में शामिल होना। (2) 2019 में भठबेडा के जंगल मे डीआरजी और एसटीएफ की संयुक्त टीम के साथ मुठभेड़ में शामिल होना, जिसमें एसटीएफ के एक जवान घायल हुआ था। (3) 2020 में गोदाड़ी के पास पुलिस पार्टी से मुठभेड़ में शामिल होना, जिसमें जवान श्री संतु राम वड्डे शहीद हुआ। में शामिल होना काबुल किया। उसके बाद डीआरजी नारायणपुर द्वारा मिलिशिया कमांडर सोमारू पोड़ियाम ऊर्फ़ बली पोड़ियाम को गिरफ़्तार किया गया।

उल्लेखनीय है कि मिलिशिया कमांडर सोमारू पोड़ियाम ऊर्फ़ बली पोड़ियाम नक्सली कमांडर पाली के कहने पर वर्ष 2006 (13 साल की उम्र) में लखमु वेट्टी और कोपा कोयाम के साथ नक्सलियों की बाल संघ में शामिल हुआ तथा बाद में कृषि शाखा आलबेड़ा में काम किया। उसके बाद वर्ष 2009 में नक्सली कमांडर दीपक पल्लो ने इसे भठबेडा मिलिशिया में शामिल किया और इसके कार्य से प्रभावित होकर लगभग छः महीने के भीतर 2009 में ही मोटू कोर्राम को हटाकर इसे भठबेडा मिलिशिया कमांडर बना दिया। सोमारू पोयाम नक्सली संगठन में 12 बोर बंदूक रखता था।
Share:

पुलिस ने मनाया भूमकाल दिवस, नारायणपुर जिला के सभी पुलिस थाना क्षेतान्तर्गत जवानों ने अमर शहीद गुण्डाधुर को किया श्रद्धासुमन अर्पित

पुलिस ने मनाया भूमकाल दिवस, नारायणपुर जिला के सभी पुलिस थाना क्षेतान्तर्गत जवानों ने अमर शहीद गुण्डाधुर को किया श्रद्धासुमन अर्पित
पुलिस महानिरीक्षक, बस्तर रेंज श्री सुंदरराज पी. की पहल पर पुलिस अधीक्षक श्री गिरिजा शंकर जायसवाल, आईपीएस के निर्देशन एवं अतिरिक्त पुुलिस अधीक्षक श्री नीरज चन्द्राकर के नेतृत्व में आज दिनांक 10.02.2022 को भूमकाल आंदोलन के महानायक अमर शहीद गुण्डाधुर की स्मृति में जिला नारायणपुर के सभी पुलिस थाना क्षेत्रान्तर्गत पुलिस अधिकारी/कर्मचारियों द्वारा भूमकाल दिवस मनाया गया। इस दौरान सभी थाना क्षेत्रान्तर्गत अमर शहीद गुण्डाधुर के योगदान और आदर्शों को याद करते हुए उन्हे श्रद्धासुमन अर्पित किया गया। भूमकाल दिवस के अवसर पर पुलिस ने कार्यक्रम आयोजित कर स्थानीय नागरिकों और छात्र-छात्राओं को अमर शहीद गुण्डाधुर के योगदान से अवगत कराते हुए उन्हे मानव अधिकारों से अवगत कराया गया।


उल्लेखनीय है कि अमर शहीद गुुण्डाधुर के नेतृत्व में सन् 1910 में बस्तर में हुए भूमकाल आंदोलन में आदिवासियों ने अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ डटकर संघर्ष किया था। अमर शहीद गुुण्डाधुर का जीवन अत्यंत संघर्ष मय रहा। वे संघर्ष के विरुद्ध एक महानायक के रूप में ख्याति प्राप्त करने में सफल रहे। उन्होनें अत्यंत सीमित संसाधनों के बावजूद अंग्रेजी हुकूमत से लोहा लेकर बस्तर के मूल निवासियों के अधिकारों के लिये अपनी शहादत दी है।

भूमकाल दिवस के अवसर पर श्री जायसवाल ने कहा कि बस्तर अमर शहीद गुुण्डाधुर के योगदान के लिये चीरऋणी है। आदिवासी अधिकारों और अस्मिता की लड़ाई में अपने प्राणों की आहूति देने वाले अमर शहीद गुण्डाधुर का जीवन हमें प्रेरित करती है कि हम उनके पद चिन्हों पर चलें। श्री जायसवाल ने लोगों से अपील की है कि बस्तर के हर नागरिक को गरिमामय तरीके से जीने का अधिकार है। इसके लिये आवश्यक है कि बस्तर के हर गांव में आंगनबाडी, स्कूल-काॅलेज, अस्पताल, राशन दूकान, सड़क, पुल-पुलिया, बिजली, पानी और मोबाईल टाॅवर हो तथा बस्तर का हर व्यक्ति निर्भिक होकर जीवन जी सकें।
Share:

एक गाथा; विकास के बढ़ते कदम की (जिला नारायणपुर)


संस्करण: प्रथम संस्करण
प्रकाशन तिथि: जनवरी 2022

प्रकाशक:
आईपीएस श्री गिरिजा शंकर जायसवाल,
पुलिस अधीक्षक, नारायणपुर

विशेष सहयोग (लेखन):
# श्री नीरज चंद्राकर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, नारायणपुर
# सुश्री उन्नति ठाकुर, उप पुलिस अधीक्षक, अजाक/मुख्यालय, नारायणपुर
# श्री दीपक साव, आरआई, नारायणपुर
# श्री हुलेश्वर जोशी, प्रधान आरक्षक, पुलिस लाइन, नारायणपुर

टाइपिंग एवं ग्राफिक्स सेटिंग्स:
श्री हुलेश्वर जोशी,
प्रधान आरक्षक, पुलिस लाइन, नारायणपुर

 


Share:


सबसे अधिक बार पढ़ा गया लेख


यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/कवि/व्यक्ति अपनी मौलिक रचना और किताब निःशुल्क प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कैसे करें?

Blog Archive