श्री जीपी सिंह, आईजी दुर्ग ने किया महिला पुलिस स्वयं सेवकों के 02 दिवसीय प्रषिक्षण का उद्घाटन

श्री जीपी सिंह, आईजी दुर्ग ने किया महिला पुलिस स्वयं सेवकों के 02 दिवसीय  प्रशिक्षण का उद्घाटन



श्री जीपी सिंह, पुलिस महानिरीक्षक, दुर्ग रेंज द्वारा महिला पुलिस स्वयं सेवकों का 02 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम दिनांक 27/02/2018 को नेहरू सांस्कृतिक भवन, सेक्टर 01, भिलाई में प्रारंभ किया गया। श्री जीपी सिंह द्वारा पुलिस स्वयं सेवक महिलाओं को पुलिस परिवार मे शामिल होने के लिये बधाई दी।  

प्रशिक्षण का शुभारम्भ करते हुए उन्होनें कहा कि समाज को अग्रसर करने, समाज की कुरीतियों को हटाने एवं महिलाओं को सुदृढ़ बनाने के लिए उनका कार्य महत्वपूर्ण है। आपके कार्य से महिलाओं मे सुदृढ़ता व पुलिस की क्षमता मे वृद्धि होगी। सभी स्वयं सेवक महिलाएँ अपना कार्य बिना झिझक के पूर्ण करें, पुलिस उनके साथ है। महिला पुलिस स्वयं सेवक अच्छा कार्य कर समाज में मिसाल कायम करें, ताकि यह योजना छत्तीसगढ़ सहित सम्पूर्ण भारत मे लागू हो सकें।

महिला पुलिस स्वयं सेवकों से समन्वय स्थापित करने हेतु थाना स्तर पर महिला पुलिस अधिकारी को नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाएगा। नोडल अधिकारी, महिला पुलिस स्वयं सेवकों से प्राप्त सूचनाओं को थाना प्रभारी एवं पुलिस अधीक्षक को देंगे। 

शासन की योजना के अंतर्गत भर्ती महिला पुलिस स्वयं सेवकों को दो दिवसीय प्रशिक्षण में विशेषज्ञों द्वारा महिलाओं/बच्चों से संबंधित अपराध, सायबर अपराध, घरेलु हिंसा, प्रताडना, छेडखानी सहित कानून की संक्षिप्त जानकारी व पुलिस के साथ कार्य करने का प्रशिक्षण दिया जाएगा। 

कार्यक्रम के दौरान डाॅ. संजीव शुक्ला, पुलिस अधीक्षक दुर्ग, श्री भोजराज पटेल, नगर पुलिस अधीक्षक, दुर्ग एवं जिले के अन्य वरिष्ठ अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित रहे। इस अवसर पर पद्मश्री शमशाद बेगम ने महिला पुलिस स्वयं सेवकों को प्रोत्साहित किया व गीत के माध्यम से उन्हे अच्छा कार्य करने का संदेश दिया।

Share:

आईजी श्री जी.पी. सिंह ने पदोन्नति प्राप्त उप पुलिस अधीक्षक को स्टार लगाकर बधाई दी


आईजी श्री जी.पी. सिंह ने पदोन्नति प्राप्त उप पुलिस अधीक्षक को स्टार लगाकर बधाई दी 

राज्य सरकार द्वारा जारी आदेश दिनांक 22/02/2018 के तहत् राज्य के 43 निरीक्षकों को उप पुलिस अधीक्षक के पद पर तथा 04 निरीक्षक (अंगुली चिन्ह) को उप पुलिस अधीक्षक (अंगुली चिन्ह) के पद पर प्रमोशन दिया गया है। उक्त आदेश से पदोन्नति प्राप्त दुर्ग रेंज के 05 निरीक्षक श्री जगदीश उईके, श्री पूरन किशोर साहू, श्री आदित्य कुमार शर्मा, श्री महेश कुमार सिन्हा एवं श्री सोनूराम पठारे का आज दिनांक 24/02/2018 को पुलिस महानिरीक्षक कार्यालय दुर्ग में आईजी श्री जी.पी. सिंह ने स्टार लगाकर उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी। 

उन्होनें उप पुलिस अधीक्षक के पद पर आने वाले कर्तव्य/जिम्मेदारियों के बेहतर तरीके से निर्वहन करने टिप्स दिए तथा स्मार्ट तरीके से पुलिसिंग करते हुए आम लोगों में पुलिस के प्रति आदर्श रूप को प्रस्तुत करने का सुझाव दिया।

Share:

विभागीय जाॅच के दौरान नैसर्गिक न्याय के सिद्धांतों का पालन हो - आईजी दुर्ग


विभागीय जाॅच के दौरान नैसर्गिक न्याय के सिद्धांतों का पालन हो - आईजी दुर्ग 

श्री जी.पी. सिंह, पुलिस महानिरीक्षक, दुर्ग रेंज द्वारा दिनांक 23.02.2018 को जिला दुर्ग में लंबित विभागीय जांच प्रकरणों के त्वरित निराकरण के संबंध में जिले के समस्त विभागीय जाॅचकर्ता अधिकारियों की मीटिंग आयोजित कर निम्नानुसार निर्देश दिए गए:-

आईजी दुर्ग द्वारा लंबित विभागीय जांच की समीक्षा करते हुए विभागीय जांच में होने वाली व्यवहारिक त्रुटियों की ओर ध्यान आकृष्ट करते हुए विभागीय जांच में रही समस्याओं/दिक्कतों की जानकारी हासिल कर जाॅच एवं निराकरण के प्रभावी तरीके अपनाने के टिप्स दिए।

विभागीय जाॅच के दौरान नैसर्गिक न्याय के सिद्धांतों का पालन करते हुए अपचारी पुलिसकर्मी को अपना पक्ष रखने का अवसर देने तथा जाॅच के दौरान संबंधित नियमों का पालन करते हुए एक निश्चित समयावधि के भीतर विभागीय जांच को पूर्ण करने का लक्ष्य दिया गया। असहयोगात्मक रवैय्या अपनाने वाले अपचारी पुलिसकर्मियों के विरूद्ध पुलिस रेग्युलेशन में निहित प्रावधान के तहत नियमानुसार एकपक्षीय कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया।

श्री जी.पी. सिंह द्वारा बताया गया कि ‘‘रेंज अधीन जिलों में लंबित विभागीय जांच को त्वरित गति देने के लिए रेंज अधीन जिलों के विभागीय जांचकर्ता अधिकारियों की एक अभियान के रूप में जिलावार बैठक ली जायेगी तथा समय-समय पर विभागीय जाॅच प्रगति की नियमित रूप से समीक्षा की जायेगी।’’

Share:

होली का त्यौहार भाईचारे के साथ मनाएं

होली का त्यौहार भाईचारे के साथ मनाएं


आप आदरणीय/आदरणीया से अनुरोध है कि होली का त्यौहार भाईचारे के साथ मनाएं। होली हर्ष और उमंग के साथ जीवन को खुशियों से रंगने संकल्प का त्यौहार है, इसलिए होली के दौरान कच्चे रंग का इस्तेमाल करें तथा पक्के रंगों का इस्तेमाल करके पानी बर्बाद न करें, क्यों कि जल ही जीवन है। होली को पूरे होंस-हवास में मनाएं, नशीले पदार्थों का सेवन करके त्यौहार को व्यर्थ न बनाएं।

होलीका दहन के नाम पर हरे भरे पेड को काटना मानव जीवन को संकट में डालने के समान है इसलिए वृक्षों को न काटें, इसके स्थान पर कचरे एवं अपने घर के खराब पडे अथवा घुन लगे फर्नीचर को जलाना बेहतर होगा।

ज्ञातव्य हो कि, किसी भी व्यक्ति से जबरन चंदा वसूली करना लूट है, तथा किसी के घर से लकडी/कंडे, टेबल/कुर्सी को होली के नाम पर जबरन ले जाना चोरी एवं डकैती की श्रेणी में आता है। 

हाल ही में छात्रों का वार्षिक परीक्षा होना है इसलिए ध्वनि प्रदुषण, शोर-गुल करके बच्चों के जीवन के साथ खिलवाड नही करें। 

दोस्तों, 2 मार्च को होली का त्यौहार है और इसी दिन जूम्मे की नमाज अदा की जाएगी इसलिए त्यौहार को हर्षाेल्लास एवं सद्भाव के साथ मनाने में सबकी सहभागिता आवश्यक है। हिन्दू भाईयों से अपील है कि मुस्लिम बंधुओं के अनुमति के बिना उन्हें जबरन रंग नही लगाएं।

शराब पीकर अथवा मुखौटा पहनकर वाहन चलाना, तीन सवारी, ओवर स्पीड, बिना हेलमेट और नाबालिक बच्चों का वाहन चलाना मृत्यु का कारक है, इससे परहेज करें। 

नशीले वस्तुओं की बिक्री करने वालों, शराब पीकर शांति भंग करने वालों, जबरदस्ती चंदा वसुलने वालों, लकडी चोरी करने वालों और हरे भरे पेड काटने वालों के बारे में पुलिस को 100 नंबर में काॅल करके जरूर बताएं।

मेरा आपसे एक अनुरोध यह भी है कि अपने खुसी के लिए मांस-मदिरा का सेवन नही करें, क्योंकि मांस का सेवन करने का मतलब जीव हत्या को बढावा देना है। दोस्तों आप सबको तो ज्ञात है कि हम सभी जीव एक ही ईश्वर के संतान हैं अर्थात् सभी जीव भाई के समान हैं।


Huleshwar Joshi
Sector 27, Naya Raipur
Chhattisgarh
Share:

साइबर ठगी के शिकार हुए लोगों के दुर्ग पुलिस ने वापस कराये पैसे.

साइबर ठगी के शिकार हुए लोगों के दुर्ग पुलिस ने वापस कराये पैसे...

साइबर टीम नें करीब आधे दर्जन लोगों का पैसा वापस कराया हैं। ज्ञात हो की दुर्ग पुलिस की साइबर टीम लगातार साइबर अपराधों एवं एटीएम फ्रॉड के मामले में एटीएम एवं बैंकों में ग्राहकों को ठगी करनेवाले गिरोहों से बचने के लिए चलित थाने के माध्यम से जागरूकता कार्यक्रम चला रही हैं।



इसी संदर्भ में साइबर ठगी के शिकार मैत्री नगर भिलाई निवासी, डी लक्ष्मी को करीब 24000/-रूपए, नगर दुर्ग निवासी मदन लाल को 10,000 रूपए, आशीष नगर, रिसाली निवासी रविन्द्र नाथ को 10,000/- रूपए, क्रॉस स्ट्रीट निवासी पीताम्बर लाल साहू को 1500/- रूपए, दीनदयाल कॉलोनी, जुनवानी रोड निवासी गौरव भरद्वाज को 70,00/- रूपए लौटाए गए।





Share:

आईजी श्री जीपी सिंह की नक्सल मोर्चा पर अंतरराज्यीय समन्वय बैठक

आईजी श्री जीपी सिंह की नक्सल मोर्चा पर अंतरराज्यीय सीमावर्ती जिलों के पुलिस अधीक्षकों एवं थाना प्रभारियों की समन्वय बैठक, दिनांक 19/02/2018, स्थान राजनांदगांव

नक्सल अभियान में अंतरराज्यीय सीमाएं बाधक न हो इस संबंध में दुर्ग आईजी श्री जीपी सिंह द्वारा संभाग के नक्सल प्रभावित जिला राजनांदगांव एवं कबीरधाम के पुलिस अधीक्षक, आईटीबीपी व सीआरपीएफ के वरिष्ठ अधिकारियों सहित गोंदिया (महाराष्ट्र) तथा बालाघाट, मण्डला (मध्यप्रदेश) के पुलिस अधीक्षकों एवं वरिष्ठ अधिकारियों की नक्सली अभियान के संबंध में समन्वय बैठक दिनांक 19/02/2018 को राजनांदगांव में ली गई। बैठक में नक्सल प्रभावित क्षेत्रों की वर्तमान स्थिति की विस्तृत जानकारी ली गई। नक्सली अभियान के दौरान केन्द्रीय बलों एवं सीमावर्ती राज्यों की पुलिस से बेहतर समन्यव स्थापित कर सफलता प्राप्त करने के संबंध में निर्देष दिए गए। 

नक्सल क्षेत्र में आमद-रफ्त नक्सलियों के बडे़ लीडर के संबंध में सूचना हासिल कर संयुक्त आॅपरेषन चलाया जाए। बैठक में नक्सल अभियान के दौरान आने वाले कठिनाईयों एवं चुनौतियों से निपटने के लिए व्यवस्थाएं सुनिष्चित की जावे। सूचना तंत्र को व्यापक/प्रभावी बनाया जावे तथा इस संबंध में अंदरूनी क्षेत्रों में सिविक एक्षन के तहत् खेल गतिविधियां, मेडिकल कैम्प एवं जागरूकता अभियान चलाकर आम नागरिकों के मन में सुरक्षा की भावना लाने के संबंध में निर्देष दिए गए। अति-संवेदनषील नक्सल क्षेत्रों, थाना, कैम्प एवं सुरक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण स्थानों को चिन्हांकित करते हुए अतिरिक्त बल की तैनाती की जाए।

नये क्षेत्र में नक्सलियों के प्रसार को पूर्ण रूप से प्रतिबंधित करने कार्ययोजना तैयार की गई। आत्म-समर्पण करने वाले नक्सलियों के लिए शासन द्वारा संचालित पुनर्वास नीति को गंभीरतापूर्वक क्रियान्वित करने हेतु पुलिस अधिकारियों को निर्देषित किया गया तथा विकास के दृष्टि से पिछडे क्षेत्रों में सड़क और संचार व्यवस्था को सुदृढ़ करने हेतु जिला कलेक्टर के माध्यम से कार्यवाही सुनिष्चित करने निर्देष दिए गए।

नक्सल अभियानों के दौरान सुरक्षा बलों के निचले स्तर के अधिकारियों के सुझावों पर विषेष ध्यान देने की आवष्यकता है, जिस हेतु वरिष्ठ अधिकारी ऐसे सुझावों को अमल में लाने का प्रयास करें।

आईजी श्री जीपी सिंह की नक्सल मोर्चा पर अंतरराज्यीय समन्वय बैठक

Share:

दुर्ग आईजी श्री जीपी सिंह द्वारा पुलिस वेलफेयर सिक्योरिटी गार्ड प्रशिक्षण केंद्र दुर्ग का शुभारंभ

पुलिस वेलफेयर सिक्योरिटी गार्ड प्रशिक्षण केंद्र दुर्ग का शुभारंभ 

दुर्ग आईजी श्री जीपी सिंह द्वारा मुख्यमंत्री कौशल विकास योजनान्तर्गत रक्षित केंद्र दुर्ग में पुलिस वेलफेयर सिक्योरिटी गार्ड प्रशिक्षण केंद्र का आज दिनांक 19/02/2018 को शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर दुर्ग के पुलिस अधीक्षक डॉ संजीव शुक्ला सहित जिले के अन्य राजपत्रित अधिकारी उपस्थित रहे।


ज्ञातव्य हो इस प्रशिक्षण केंद्र के माध्यम से लगभग 45 महिलाओं को वर्तमान मे  सिक्योरिटी गार्ड का प्रशिक्षण दिया जावेगा।





Share:

पुलिस अब आपके स्मार्टफोन में, दुर्ग जिले में लागू होगा सिटीजन कॉप

पुलिस अब आपके स्मार्टफोन में, दुर्ग जिले में लागू होगा सिटीजन कॉप

"सिटीज़न कॉप मोबाइल एप्लीकेशन" को दुर्ग संभाग के सभी जिलों में शीघ्र ही लॉन्च किया जाएगा। इस संबंध में दुर्ग आईजी श्री जीपी सिंह के निर्देश पर रक्षित केंद्र दुर्ग में आज 08/02/2018 को सिटीजन कॉप एडमिन पेज संचालन विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसमे संभाग के सभी जिलों के राजपत्रित पुलिस अधिकारियों सहित लगभग 45 अधिकारी /कर्मचारियों को जनता से प्राप्त सूचनाओं/शिकायतों मे बेहतर कार्यवाही एवं एडमिन पेज के मॉनिटरिंग करने के संबंध में प्रशिक्षण देकर पारंगत किया गया है


ज्ञातव्य हो कि वर्तमान में प्रदेशभर में सिटीज़न कॉप के 70,000 सत्तर हजार से अधिक यूजर्स हैं, जो पुलिस के साथ मिलकर अपराध मुक्त समाज की स्थापना के लिए लगातार कार्य कर रहे हैं। यह एप्लीकेशन रायपुर आईजी होने के दौरान दुर्ग आईजी श्री जीपी सिंह द्वारा 8/9/2015 को रायपुर रेंज अधीन जिलों मे लागू कराया गया है, जिले राष्ट्रीय स्तर मे डिजिटल इंडिया अवार्ड -2016 एवं स्मार्ट पुलिसिंग अवार्ड -2015 से सम्मानित किया गया है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह द्वारा भी सम्मानित किया गया है तथा चरणबद्ध तरीके से प्रदेश मे लागू करने के निर्देश दिए गए हैं।




Share:

पूजा पचिस्ठा के नवा तरीका .....

पूजा पचिस्ठा के नवा तरीका .....

हे भगवान मोर रक्षा करबे, जिनगी ह भारी आर्थिक संकट ले गुजरत हे ............।
अरे तय कहां चल दे ओ, दे तो माचिस ल लइकामन कहां रख देहे।
मोर गोड म कभु काटा झन गड़य भले दूसर के गोड म खीला गड जावय, परोसी ह बड़े आदमी बनत हे ओला घटा के कुछ मोला देदे।
अरे माचिस मांगे हावव कहां मर गे! ओ ...........

एले काकर फोन आगे, पूजा घलो म बाधा!लातो मोर मोबाइल ल काखर फोन आगे, वो सारा बेटा xxxx होहि, 2महीना होंगे ₹5000 वापिस नई करे है। अउ फेर ₹25000 मंगत हे, xxxx होहि त कहि देबे मय मोबाइल ल भूल गे हावव।
हे भगवान मोर परोसी के लइका मन भारी हो हल्ला करथें, थोरकुन लइका मन ल बुध्दि देहव।
पूजा समाप्त .... बिना अगरबत्ती जलाए।

Share:

मनुष्य का व्यवहार

मनुष्य का व्यवहार

हाल ही में मेरा #Cellphone खराब हो गया था, समस्या था कि कभी #Charging बताता था तो कभी नही, कभी होता था तो कभी नही, कभी होने पर भी #Display नही होता था या होते हुए भी Cellphone बंद हो जाता था। बनवाने के दौरान ज्ञात हुआ कि iC खराब होने के कारण, Mobile #FakeBehave कर रहा है।
आज #मनुष्य भी Cellphone से प्रेरित #आचरण करता है।


Share:

मृतशरीर को जलाना/दफनाया जाना केवल रूढ़िवादी परम्परा

मृतशरीर को जलाना/दफनाया जाना केवल रूढ़िवादी परम्परा

एतद्द्वारा मैं (हुलेश्वर जोशी) अपने परिजनों, रिस्तेदारों, और मित्रों से आग्रह करता हूँ, कि भविष्य में जब मेरी मृत्यु हो तो कृपया इस संबंध में सर्वप्रथम अविलम्ब चिकित्सा विभाग को सूचित करने की कृपा करें, ताकि मेरा मृत्यु सार्थक हो सके।


अंगदान सबसे बड़ा जीवन दान है कई लोगों को जीवन दे सकती है, इसलिए आपसे भी अनुरोध है कि आज ही National Organs and Tissues Transplant Organization, Ministry of Health and Family Welfare, Govt of India के वेबसाइट http://notto.nic.in/ में जाकर मृत्यु पश्चात अंगदान का संकल्प लें।

मैंने अपने मृतशरीर को व्यर्थ जलने /दफन होने से बचाया है, यह रूढ़िवादी परंपरा को खत्म करने का मेरा एक छोटा सा प्रयास है। आइये सब मिलकर इस रूढ़िवादी परंपरा को खत्म करें।


ज्ञातव्य हो, कि मैंने आज 24/01/2018 को मृत्यु उपरांत अपने शरीर के समस्त Organs एवम Tissues को दान कर दिया है।



मैंने अंगदान किया, इसे शेयर करना अच्छी बात है। यह बहुत अच्छा होता कि आप स्वयं अंगदान कर लें।


मेरे अंगदान की सूचना देते हुए ज्ञात हुआ कि मुझसे पहले लगभग देशभर के 1लाख से अधिक लोगों ने अंगदान का संकल्प लिया है, जिसमे मेरे परिचित/ मित्र भी शामिल हैं मगर मुझे पहले ज्ञात नही हुआ था।


Huleshwar Joshi
Duty : IGP Office Durg Range Durg
Res : Sector 27, Naya Raipur, Chhattisgarh
Mobile 94060-03006/94791-90018





मृतशरीर को जलाना/दफनाया जाना केवल रूढ़िवादी परम्परा है, आओ अंगदान करें। 5 से 10 लोगों को जीवन / बेहतर जीवन प्रदान करें। यदि आपमें वास्तविक #मानवसेवा की भावना जागृत हो जाए और #मानवधर्म को स्वीकारने लगें, तो वर्तमान परिदृश्य में आपको ज्ञात हो जाएगा कि पूर्ण #मृतशरीर का #दाहसंस्कारअथवा मृतशरीर को #दफ़नाना केवल #रूढ़िवादी परंपरा हो चुकी है। फिर आप अवश्य ही, मृत्यु पश्चात #अंगदान का संकल्प लेंगे।

 





किसी ने कहा "अंगदान कर लिए अच्छी बात, अब इसका प्रचार करके महान बनना चाहते हो?"

मैंने कहा, रूढ़िवादी परंपरा को समाप्त कर रहा हूँ वैसे मेरे आसपास के लोगों को ज्ञात होना चाहिए ताकि मेरे मृत्यु की सूचना परिवार से पहले NOTTO (चिकित्सा विभाग) को दे सकें।

Share:


सबसे अधिक बार पढ़ा गया लेख


यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/कवि/व्यक्ति अपनी मौलिक रचना और किताब निःशुल्क प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कैसे करें?

Blog Archive