बिलासपुर के दिलीप कुमार ने नेशनल कराटे और कुंग फू चैंपियनशिप - 2022 में जीता गोल्ड मेडल


बिलासपुर के दिलीप कुमार ने 
नेशनल कराटे और कुंग फू चैंपियनशिप - 2022 में जीता गोल्ड मेडल।

उल्लेखनीय है कि दिनाँक 13 फ़रवरी 2022 को रुद्रमादेवी शोटोकन कराटे एसोसिएशन इंडिया, हैदराबाद द्वारा कोतला विजय भास्कर रेड्डी इंदौर स्टेडियम, यूसुफगुडा, हैदराबाद में आयोजित सीएम केसीआर कप, राष्ट्रीय कराटे और कुंग फू चैंपियनशिप 2022 में श्री दिलीप कुमार ने हिस्सा लेकर गोल्ड मेडल जीता है।

Related : 
Share:

पुलिस अधीक्षक श्री सदानंद कुमार (भापुसे) ने किया एण्टी नारकोटिक्स टास्क फोर्स (ANTF) का गठन; नारकोटिक्स पदार्थों के उत्पादन, संग्रहण, विक्रय और परिवहन पर लगेगी लगाम

पुलिस अधीक्षक श्री सदानंद कुमार (भापुसे) ने किया एण्टी नारकोटिक्स टास्क फोर्स (ANTF) का गठन; नारकोटिक्स पदार्थों के उत्पादन, संग्रहण, विक्रय और परिवहन पर लगेगी लगाम

पुलिस अधीक्षक श्री सदानंद कुमार (भापुसे) ने पुलिस महानिदेशक, छत्तीसगढ़ के निर्देशानुसार एण्टी नारकोटिक्स टास्क फोर्स का गठन करते हुए आदेश जारी किया है। यह टास्क फोर्स जिला नारायणपुर में नारकोटिक्स उत्पादन, संग्रहण, विक्रय और परिवहन पर लगाम लगायेगी। एण्टी नारकोटिक्स टास्क फोर्स का नेतृत्व उप पुलिस अधीक्षक सुश्री उन्नति ठाकुर करेंगी, इनके अधिनस्थ निरीक्षक श्री तोप सिंह नवरंग सहित 10 अधिकारी और जवान तैनात किये गये हैं।

श्री सदानंद कुमार ने बताया कि एण्टी नारकोटिक्स टास्क फोर्स विशेषकर एनडीपीएस एक्ट के दायरे में आने वाले अपराधों पर नियंत्रण और कार्यवाही करेगी। एनडीपीएस एक्ट के तहत् चरस, गांजा, अफीम, हेरोइन, कोकेन, मार्फिन और दिमाग में असर डालने वाले कैमिकल्स जैसे एलएसडीए एमएमडीएए व अल्प्राजोलम के उत्पादन, संग्रहण, विक्रय और परिवहन करने वाले लोगों के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी। इस अपराध के दायरे में आने वाले अपराधियों को माननीय न्यायालय द्वारा 10 से 20 साल तक की सजा देने का प्रावधान है।
Share:

पुलिस ने शहीदों की पूण्यतिथि में उनके बलिदान को याद कर श्रद्धांजलि अर्पित की, पुलिस अधीक्षक श्री सदानंद कुमार (भापुसे) ने शहीदों के प्रतिमा का किया अनावरण


पुलिस ने शहीदों की पूण्यतिथि में उनके बलिदान को याद कर श्रद्धांजलि अर्पित की, पुलिस अधीक्षक श्री सदानंद कुमार (भापुसे) ने शहीदों के प्रतिमा का किया अनावरण

शहीद दिवस के दिन जिला नारायणपुर अबूझमाड़ के सीमावर्ती कैम्प कड़ेमेंटा और कन्हारगांव के मध्य बुकिनतोर पुलिया में दिनांक 23.03.2021 को हुए बारूदी विस्फोट में प्रधान आरक्षक श्री पवन मण्डावी, प्रधान आरक्षक श्री जयलाल उईके, आरक्षक श्री सेवक सलाम, आरक्षक चालक श्री देवकरण देहारी और सहायक आरक्षक श्री विजय पटेल शहादत को प्राप्त हुए थे। आज इन वीर शहीदों की प्रथम पुण्यतिथि के अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्री सदानंद कुमार (भापुसे) के पहल पर नारायणपुर पुलिस द्वारा उन्हें याद करते हुए जिलेभर में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये गये, जिसमें हजारों लोगों ने हिस्सा लेकर शहीदों को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की है।

शहीदों की प्रतिमा का हुआ अनावरण
शहीदों के पूण्यतिथि के अवसर पर आज सर्वप्रथम पुलिस अधीक्षक श्री सदानंद कुमार (भापुसे) के द्वारा सोनपुर रोड़, मुरियापारा चौक, नारायणपुर में शहीद सहायक आरक्षक श्री विजय पटेल के प्रतिमा का अनावरण किया, उसके बाद शांतिनगर, गुडरीपारा चौक, नारायणपुर में शहीद प्रधान आरक्षक श्री जयलाल उईके के आदमकद प्रतिमा का अनावरण किया गया। प्रतिमा के अनावरण के दौरान पुलिस अधीक्षक श्री सदानंद कुमार के द्वारा शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए शहीदों के वीरगाथा और बलिदान से लोगों को अवगत कराया गया तथा शहीद परिवार को सम्मानित भी किया गया। इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री अक्षय कुमार (भापुसे) सहित जिले के राजपत्रित पुलिस अधिकारियों, पुलिस अधिकारी, जवान, शहीद परिवार और गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।

जिला कोण्डागांव में अपुअ श्री नीरज चंद्राकर ने शहीद श्री पवन मण्डावी के प्रतिमा का किया अनावरण
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री नीरज चन्द्राकर द्वारा ग्राम भर्रीपारा-स्कूलपारा (बहीगांव) थाना फरसगांव, जिला कोण्डागांव में शहीद प्रधान आरक्षक श्री पवन मण्डावी के प्रतिमा का अनावरण किया गया। इस दौरान शहीद को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए श्री चंद्राकर द्वारा उनके वीरगाथा और बलिदान से लोगों को अवगत कराया गया तथा शहीद परिवार को सम्मानित भी किया गया। प्रतिमा अनावरण के दौरान शहीद परिवार और डीआरजी नारायणपुर के जवानों सहित सैकड़ों स्थानीय लोगों उपस्थित रहे।

रक्षित केन्द्र में शहीदों को दी गई श्रद्धांजलि
पुलिस अधीक्षक श्री सदानंद कुमार (भापुसे) के नेतृत्व में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री अक्षय कुमार (भापुसे), राजपत्रित पुलिस अधिकारियों, पुलिस अधिकारियों, गणमान्य नागरिकों, जन प्रतिनिधियों, जवानों, पुलिस पुरिवार और शहीद परिवारों की उपस्थिति में सायं 5 बजे रक्षित केन्द्र, नारायणपुर स्थित शहीद स्मारक में शहीदे आजम श्री भगत सिंह और जिला नारायणपुर के बुकिनतोर ब्लास्ट में शहीद हुए शहीद श्री पवन मण्डावी, शहीद श्री जयलाल उईके, शहीद श्री सेवक सलाम, शहीद श्री देवकरण देहारी और शहीद श्री विजय पटेल को पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए शहीदों के शहादत को याद किया गया। इसके पश्चात् रक्षित केन्द्र स्थित वाहन शाखा में शहीद श्री देवकरण देहारी की स्मृति में पार्किग शेड का शुभारंभ किया गया।

थाना/कैम्पों में भी मनाया गया शहादत दिवस
शहीद दिवस और शहीद श्री पवन मण्डावी, शहीद श्री जयलाल उईके, शहीद श्री सेवक सलाम, शहीद श्री देवकरण देहारी और शहीद श्री विजय पटेल की प्रथम पूण्यतिथि के अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्री सदानंद कुमार के पहल पर नारायणपुर पुलिस द्वारा थाना कोहकामेटा, थाना धनोरा, थाना छोटेडोंगर और कैम्प अमदईघाटी सहित जिले के समस्त थाना/कैम्पों में शहादत दिवस मनाकर उनके योगदान को याद किया गया।

शहीद दिवस के अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्री सदानंद कुमार (भापुसे) ने उनके बलिदान को याद करते हुए कहा कि इन वीर शहीद जवानों नें राज्य की सुरक्षा में अपना सर्वस्व न्यौछावर किया है। हमारे वीर शहीद जाबांज योद्धाओं के शहादत का ही परिणाम है कि आज हम सब अबूझमाड़ सहित समूचे बस्तर में निर्भिक होकर शांतिपूर्ण जीवन जी रहे है। हमें अमर शहीद जवानों के बलिदान को सदैव याद रखना चाहिए क्योंकि उनके योगदान से ही हम उन्नति की ओर भी अग्रसर हुए हैं।

Related Images:






Share:

पुलिस उप महानिरीक्षक कांकेर ने किया जिला पुलिस बल नारायणपुर का वार्षिक निरीक्षण, ली दरबार जवानों की समस्यायें सुनी और निराकरण का दिया आश्वासन, आदर्श पुलिसिंग के लिये जवानों को किया प्रेरित


पुलिस उप महानिरीक्षक कांकेर ने किया जिला पुलिस बल नारायणपुर का वार्षिक निरीक्षण, ली दरबार जवानों की समस्यायें सुनी और निराकरण का दिया आश्वासन, आदर्श पुलिसिंग के लिये जवानों को किया प्रेरित

आज दिनांक 22.03.2022 को पुलिस उप महानिरीक्षक श्री बालाजी राव (भापुसे), कांकेर रेंज, कांकेर द्वारा जिला नारायणपुर का वार्षिक निरीक्षण किया गया। वार्षिक निरीक्षण के तहत् सर्वप्रथम पुलिस उप महानिरीक्षक ने रक्षित केन्द्र, नारायणपुर में परेड़ की सलामी ली उसके बाद परेड निरीक्षण, किट निरीक्षण और रक्षित केन्द्र कार्यालय का निरीक्षण किया तत्पश्चात् जवानों द्वारा बलवा ड्रिल का अभ्यास किया गया। रक्षित केन्द्र कार्यालय निरीक्षण के दौरान कार्यालयीन दस्तावेजों और आर्म्स/एम्युनेशन के गुणवत्तापूर्ण रखरखाव और संधारण के लिये आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। 


रक्षित केन्द्र, नारायणपुर निरीक्षण के बाद पुलिस उप महानिरीक्षक श्री बालाजी राव, (भापुसे) ने डीआरजी ग्रेट हॉल, नारायणपुर में पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों का दरबार लेकर जवानों की समस्यायें सुनी तथा समस्याओं के निराकरण का आश्वासन भी दिये। इस दौरान पुलिस विभाग को आदर्श पुलिस के रूप में स्थापित करने पर जोर देते हुए अनुशासन को सर्वोच्च आदर्श बनाने हेतु प्रेरित किया। अधिकारी/कर्मचारियों को खुशहाल परिवार एवं खुशहाल भविष्य के लिये बचत की प्रवृत्ति को प्रोत्साहित करने के लिये योजना बनाकर उचित पहल करने की समझाईश दी गई। पुलिस विभाग के अधिकारी/कर्मचारियों को शारीरिक एवं मानसिक रूप से स्वस्थ रहने तथा अपने स्वास्थ्य के प्रति सजग रहने की सलाह दी गई। नक्सल ऑपरेशन को दृष्टिगत रखते हुए जिले में तैनात केन्द्रीय बल के साथ बेहतर समन्वय स्थापित कर कार्य करने कहा गया। तत्पश्चात् पुलिस अधीक्षक कार्यालय नारायणपुर जाकर समस्त शाखाओं का निरीक्षण किया एवं शाखा प्रभारियों को कार्यक्षमता में वृद्धि तथा गुणात्मक सुधार हेतु दिशा-निर्देश भी दिये।

श्री सदानंद कुमार (भापुसे), पुलिस अधीक्षक, नारायणपुर द्वारा बचत की प्रवृत्ति हेतु अधिकारी/कर्मचारियों को प्रोत्साहित किया गया।


निरीक्षण के दौरान पुलिस उप महानिरीक्षक श्री बालाजी राव (भापुसे) के साथ श्री एसपी श्री सदानंद कुमार (भापुसे), एएसपी श्री अक्षय कुमार (भापुसे), एएसपी श्री नीरज चंद्राकर, डीएसपी सुश्री उन्नति ठाकूर, डीएसपी श्री लौकेश बंसल, डीएसपी श्री रितेश श्रीवास्तव, डीएसपी श्री अरविंद कुजूर, डीएसपी श्री विनय कुमार, आरआई श्री दीपक साव, निरीक्षक श्री तोप सिंह नवरंग, निरीक्षक श्री मालिक राम, निरीक्षक श्री आकाश मशीह सहित लगभग 200 अधिकारी और जवान उपस्थित रहे।

Related Images:





Share:

रामकृष्ण मिशन विवेकानंद विद्यापीठ, नारायणपुर में एसपी श्री सदानंद कुमार (आईपीएस) के निर्देश पर आयोजित हुआ यातायात जागरूकता कार्यक्रम


रामकृष्ण मिशन विवेकानंद विद्यापीठ, नारायणपुर में एसपी श्री सदानंद कुमार (आईपीएस) के निर्देश पर आयोजित हुआ यातायात जागरूकता कार्यक्रम

पुलिस अधीक्षक श्री सदानंद कुमार (आईपीएस) के निर्देशानुसार एएसपी श्री नीरज चन्द्राकर के मार्गदर्शन में रामकृष्ण मिशन विवेकानंद विद्यापीठ, नारायणपुर में आज दिनांक 17.03.2022 को यातायात जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन हुआ। जागरूकता कार्यक्रम में जिला के यातायात प्रभारी आरआई श्री दीपक साव द्वारा एनसीसी कैडेट्स और छात्र/छात्राओं को यातायात नियमों की जानकारी दी गई तथा सड़क संकेतक की आवश्यकता, उपयोगिता और महत्व से अवगत कराया साथ ही सड़क दुर्घटनाओं के कारण और रोकथाम के उपाय बताया गया। श्री साव ने कार्यक्रम में शामिल छात्रों को बताया कि यातायात नियम किसी के आजाद़ी पर पाबंदी लगाने के लिये नहीं वरन् सड़क दुघटनाओं को नियंत्रित कर सड़क परिवहन के इस्तेमाल करने वाले आम नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिये तैयार किया गया है। सड़क दुर्घटनाओं के प्रमुख कारणों को रेखांकित करते हुए छात्रों को बताया गया कि दो पहिया वाहन चलाते समय हमेशा हेलमेट पहनें और अधिकतम दो सवारी ही चढ़ें। शराब सेवन करके नशे की हालत में किसी भी स्थिति में वाहन न चलायें तथा नियंत्रित गति में ही वाहन चलायें। इन निर्देशों का सदैव पालन करें क्योंकि इन सामान्य नियमों का पालन नहीं करना जानलेवा हो सकता है।


यातायात जागरूकता कार्यक्रम में रामकृष्ण मिशन विवेकानंद विद्यापीठ के प्राचार्य स्वामी कृष्णामृतानंद, उप प्राचार्य ब्रम्हचारी अद्धितीय चैतन्य, एनसीसी अधिकारी एस/ओ सुश्री सीता केंवट (प्रथम सीजी गर्ल्स बटालियन एनसीसी परचनपाल) और यातायात नारायणपुर के पुलिस अधिकारियों सहित सैकड़ों छात्र/छात्राएँ और एनसीसी गर्ल्स कैडेट उपस्थित रहे।

पुलिस अधीक्षक श्री सदानंद कुमार ने लोगों को होली की शुभकामना देते हुए अपील की है कि होली रंगों की उत्सव है, इसे जीवन को खुशहाल बनाने के उद्देश्य से सद्भावनापूर्वक मनायें। होली के दौरान शराब पीकर वाहन न चलायें क्योंकि ड्रक एण्ड ड्राइव ही जानलेवा सड़क दुर्घटना का सबसे प्रमुख कारण है। श्री सदानंद कुमार ने मीडिया को बताया कि जिला के सभी चौक-चौराहे में पुलिस की कड़ी सुरक्षा रहेगी, पर्याप्त संख्या में यातायात पुलिस तैनात किये जायेंगे जो त्रिपल सवारी, ड्रंक एण्ड ड्राईव और स्पीड बाईकर्स के खिलाफ चालानी कार्यवाही करेगी।
Share:

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर जागरूकता सप्ताह का हुआ शुभारंभ; समाज में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाएँ एसपी श्री सदानंद कुमार के हाथों हुईं सम्मानित

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर जागरूकता सप्ताह का हुआ शुभारंभ; समाज में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाएँ एसपी श्री सदानंद कुमार के हाथों हुईं सम्मानित

आज दिनाँक 8 मार्च 2022 को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर 'अभिव्यक्ति' जागरूकता अभियान के तहत एसपी श्री सदानंद कुमार (आईपीएस) द्वारा डीआरजी ग्रेट हॉल, नारायणपुर में जागरूकता सप्ताह का शुभारंभ किया गया। इस दौरान एसपी श्री सदानंद कुमार द्वारा नारी शक्तियों को जागरूक करते हुए उनके मौलिक अधिकारों, मानव अधिकारों तथा महिलाओं के विशेषाधिकारों से अवगत कराया गया। उसके बाद समाज में उत्कृष्ट कार्य करने वाली 17 सफ़ल महिलाओं को उपहार और सम्मान पत्र प्रदान करते हुए सम्मानित किया गया।

🔵 एसपी श्री सदानंनद कुमार के हाथों सम्मानित हुई महिलाएँ :
# श्रीमति पायल मिस्त्री - एक ऐसी स्वाबलंबी महिला जो गोला बर्फ बेचकर अपने परिवार का पालन पोषण करती है।
# श्रीमति खोमेश्वरी पटेल - एक स्वाबलंबी महिला जो सब्जी बेचने का कार्य करती हैं।
# कु0 लक्ष्मी साहू - एक ऐसी स्वाबलंबी और साहसिक लड़की जो गुपचूप बेचने का स्वरोजगार शुरू कर आत्मनिर्भरता की मिसाल पेश की है।
# श्रीमति कान्ता सरकार - महिला सुरपवाईजर के पद पर जिला अस्पताल नारायणपुर में विगत् 35 वर्षो से कार्यरत हैं।
# श्रीमति शिखा राजपूत - एक ऐसी स्वाबलंबी महिला जो पति के साथ स्क्रीन प्रिंटिग्स और कम्प्यूटर कार्य में दक्ष हैं।
# श्रीमति प्रीति चाण्डक - क्लिनिकल साईकोलॉजिस्ट के पद पर पदस्थ होकर बेहतर कार्य कर रहीं हैं।
# कु0 संगीता बघेल (एएनएम) और कु0 पण्डरी वड्डे (मितानिन) - स्वास्थ्य के क्षेत्र में अपना बहुमूल्य योगदान दे रहीं हैं।
# श्रीमति सोनाली राठौर - (चित्रकार) चित्रकारी और चित्रकला के क्षेत्र में विशेष पहचान बनाईं हैं
# महिला प्रधान आरक्षक लछन्तीन सलाम और म0आर0 फगनी कुमेटी - कोविड टीकाकरण ड्यूटी और कोविड महामारी से निपटने में अपना बहुमूल्य योगदान दिया है।
# म0आर0 सोनी मेटामी और महिला गो0सै0 सुमित्रा साहू - डीआरजी में तैनात होकर नक्सल मोर्चे पर नक्सलियों से लोहा ले रहीं हैं।
# म0आर0 लछन्तीन मण्डावी - मितान पुलिस पेट्रोलपंप संचालन का कार्य कर रहीं हैं।
# महिला वन रक्षक श्रीमति फुलबत्ती उसेण्डी - वन विभाग में उत्कृष्ट कार्य कर रहीं हैं।
# श्रीमति मैना भोयर और श्रीमति बबीता ध्रुव - नगर पालिका में सफाई कर्मचारी के रूप में शहर को स्वच्छ रखने में अपना बहुमूल्स योगदान दे रही हैं।


उल्लेखनीय है कि एसपी श्री सदानंद कुमार के निर्देशानुसार नारायणपुर पुलिस द्वारा समस्त थाना/कैम्पों, चिन्हांकित स्कूल/कॉलेज और सार्वजनिक स्थानों में अभिव्यक्ति जागरूकता अभियान के तहत महिला सप्ताह का आयोजन कर महिलाओं को जागरूक किया जा रहा है, जो निरंतर सप्ताह भर चलेगा। कार्यक्रम के दौरान डीएसपी सुश्री उन्नति ठाकुर द्वारा कार्यक्रम में उपस्थित महिलाओं को छत्तीसगढ़ पुलिस द्वारा विकसित "अभिव्यक्ति" मोबाइल एप्प डाऊनलोड कर इसकी उपयोगिता तथा इस्तेमाल के तरीके के बारे में बताया गया। उसके पश्चात डॉ (सुश्री) कौशिक चंद्राकर, क्लीनिकल साइकोलॉजिस्ट प्रीति चांडक, CHO सुश्री रंजना और आरएमए श्री हेमंत पटेल की एक्सपर्ट चिकित्सकों के टीम ने महिलाओं का हेल्थ चेकअप किया।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान एएसपी श्री अक्षय कुमार (आईपीएस), एएसपी श्री नीरज चंद्राकर, डीएसपी सुश्री उन्नति ठाकुर, डीएसपी श्री रितेश श्रीवास्तव, डीएसपी श्री विनय साहू, डीएसपी श्री अनिल कुर्रे, आरआई श्री दीपक साव, थाना प्रभारी श्री तोपसिंह नवरंग और निरीक्षक श्री आकाश मसीह सहित सैकड़ों महिलाएँ और पुलिस अधिकारीगण उपस्थित रहे।

एसपी के निर्देश पर अभिव्यक्ति जागरूकता अभियान के तहत जिले भर में हुआ विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन -
🔶 थाना बेनूर, कुरुषनार और थाना कुकड़ाझोर में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महिला जागरूकता सह सम्मान कार्यक्रम का आयोजन हुआ। जिसमें दर्जनों महिलाओं को सम्मानित किया गया।
🔶 थाना छोटेडोंगर में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन कर विभिन्न खेलों का आयोजन किया गया तथा विशिष्ट कार्य करने वाली महिलाओं व विभिन्न खेल में भाग लेने वाले प्रतिभागियों को सम्मानित किया गया।
🔶 थाना धौड़ाई में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर मेडिकल कैम्प का आयोजन कर लगभग 50 से अधिक महिलाओं और बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उनका प्राथमिक उपचार कर औषधि वितरण किया गया।
🔶 थाना कोहकमेटा में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर मेडिकल कैम्प और विभिन्न खेलों का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के दौरान महिलाओं और बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण कर प्राथमिक उपचार किया गया तथा विशिष्ट कार्य करने वाली महिलाओं व विभिन्न खेल में भाग लेने वाले प्रतिभागियों को सम्मानित किया गया।

Related Images :







Share:

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस विशेषांक; जानिए क्या है आपके मानव एवं संवैधानिक अधिकार तथा महिलाओं के विशेषाधिकार : श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस विशेषांक; जानिए क्या है आपके मानव एवं संवैधानिक अधिकार तथा महिलाओं के विशेषाधिकार - श्रीमती विधि हुलेश्वर  जोशी

8 March, 2022 अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर मैं श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी, (www.thebharat.co.in के संस्थापक) आपको आपके मानव अधिकारों और महिलाओं के रूप में प्राप्त विशेषाधिकारों से अवगत कराने का प्रयास कर रही हूँ ताकि आपके साथ किसी भी स्थिति में हिंसा, प्रताड़ना और अन्याय जैसे घटना घटित न हों, यदि कतिपय कारणों से आपके साथ ऐसी घटनाएँ घटती है तो इसके ख़िलाफ़ आप क़ानूनी और संवैधानिक अधिकारों का स्तेमाल कर सकें।

मानव अधिकार एवं संवैधानिक अधिकार की संक्षिप्त जानकारी :
# गरीमामय जीवन जीने का अधिकार
# समानता का अधिकार
# अभिव्यक्ति की आज़ादी और शांतिपूर्ण आंदोलन करने का अधिकार
# निजता का अधिकार - गोपनीयता, परिवार, गृह और पत्राचार में हस्तक्षेप से स्वतंत्रता
# व्यापार करने तथा ट्रेड युनियन में शामिल होने अधिकार
# समिति, संगठन और राजनैतिक दल बनाने का अधिकार
# न्याय पाने और शोषण से संरक्षण का अधिकार
# अपराधों के आरोप से बचाव करने का अधिकार, अपराध सिद्ध न होने तक निर्दोष माने जाने का अधिकार
# विवाह करने तथा परिवार में वृद्धि करने का अधिकार
# मतदान में भाग लेने तथा चुनाव में भाग लेकर जनप्रतिधि बनने का अधिकार
# लोक सेवाओं में सम्मिलित होने का अधिकार
# धार्मिक स्वतंत्रता का अधिकार
# आवास का अधिकार
# चिकित्सा का अधिकार
# सुरक्षा पाने का अधिकार
# शिक्षा का अधिकार
# निद्रा का अधिकार
# बिजली पाने का अधिकार
# संपत्ति रखने का अधिकार और उसका संरक्षण करने का अधिकार
# राष्ट्रीयता को बदलने की स्वतंत्रता का अधिकार - समूचे विश्व में कही भी निवास करने, शरण लेने और नागरिकता प्राप्त करने का अधिकार
# सरकार में शामिल होने तथा चुनाव लड़ने का अधिकार
# अवकाश और विश्राम करने का अधिकार
# ऊपर दिए अधिकारों में राज्य या व्यक्तिगत हस्तक्षेप से स्वतंत्रता

महिलाओं के विशेषाधिकार सम्बन्धी जानकारी:
# घरेलू हिंसा से बचाव का अधिकार
# पति द्वारा जबरदस्ती नहीं करने संबंधी प्रावधान
# दफ्तर और कार्यस्थल में यौन हिंसा और प्रताड़ना से सुरक्षा
# पिता के संपत्ति में हिस्सेदारी का अधिकार
# पति अथवा ससुर से गुजारा भत्ता व संपत्ति पाने का अधिकार
# निजता/गोपनीयता का अधिकार
# सरकारी सेवाओं में उचित प्रतिनिधित्व का प्रावधान
# मातृत्व अवकाश प्राप्त करने का अधिकार
# अबार्सन का अधिकार
# रात्रिकाल और पुरूष पुलिस अधिकारियों द्वारा गिरफ्तार न किये जाने का प्रावधान
# पूछताछ और गवाही देने के लिये महिला को पुलिस थाना नहीं बुलाने का अधिकार
# निवास में केवल महिला सदस्य उपस्थित होने पर बिना महिला पुलिस अधिकारी के तलासी नहीं करने का प्रावधान
# पति और पुरुषों द्वारा महिलाओं/लड़कियों की पिटाई नहीं की जा सकती, ऐसा करना क़ानूनन अपराध है।  
# महिला के साथ उनके पति के द्वारा भी उनके सहमति के बिना फिजिकल रिलेशन नहीं बनाया जा सकता है।  

महिला सम्बन्धी महत्वपूर्ण विचार :
# महिलाएँ पुरुषों से किसी भी मामले में कम नहीं।  
# महिलाएँ ट्रेन और फाइटर प्लेन उड़ा रही हैं। 
# महिलाएँ अंतरिक्ष की यात्रा पर जा रही हैं। 
# महिलाएँ एवरेस्ट की चोटी तक जा चढ़ती हैं।  
# महिलाएँ सेना और पुलिस में भर्ती होकर नक्सली और आतंकवाद से लड़ रही हैं। 
# महिलाएँ घर परिवार और समाज के जिम्मेदारियों का निर्वहन पुरुषों की भांति कर रही हैं। 
# महिलाएँ चिकित्सा, शिक्षा और व्यापार जगत  पुरुषों से पीछे नहीं हैं।  
# महिलाएँ पत्नी के रूप में पुरुषों की नौकरानी, सेक्स करने और बच्चे पैदा करने  की मशीन नहीं बल्कि उनके समतुल्य और स्वतंत्र हैं।  
# महिलाओं पर नियंत्रण रखने की मानसिकता असंवैधानिक और अप्राकृतिक है। 
# भोजन बनाना, बर्तन धोना, कपडे धोना और घरेलु काम करना केवल महिलाओं की नहीं, बल्कि पुरुषों की भी जिम्मेदारी है।  
# महिलायें भी पुरुषों की तरह पूरी आज़ादी से कहीं भी घूमने जा सकती हैं, अर्थात महिलों को चारदीवारी में कैद नहीं किया जा सकता। 
# बालिग़ लड़कियाँ अपने इच्छानुसार किसी भी बालिग़ लड़के से उनके जाति धर्म और रंग के आधार पर भेदभाव किये बिना विवाह कर सकती हैं और इस सम्बन्ध में ख़तरा होने पर माननीय न्यायायलय के माध्यम से सुरक्षा भी प्राप्त कर सकती हैं।
# तलाक होने अथवा विधवा होने पर पुनर्विवाह करना महिलाओं का अधिकार है।  
# विधवा होने की स्थिति में श्रृंगार करना अथवा श्रृंगार नहीं करना सम्बंधित महिला का व्यक्तिगत अधिकार है। 
# यदि आपके पति शराब पीकर बेवजह आपके साथ मारपीट करते हैं तो आप आत्मरक्षा के लिए उचित कदम उठा सकती हैं।  
# आपका पति भी आपकी जानकारी और अनुमति के बिना आपके कॉल रिकार्ड नहीं कर सकते।  
# महिलाएँ भी पुरुषों की भांति विभिन्न कारणों से अपने पति को तलाक दे सकती हैं।   
 

श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी
संस्थापक
www.thebharat.co.in
Share:


सबसे अधिक बार पढ़ा गया लेख


यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/कवि/व्यक्ति अपनी मौलिक रचना और किताब निःशुल्क प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कैसे करें?

Blog Archive