Sunday, June 16, 2019

ईश्वर कौन - HP Joshi

ईश्वर कौन - HP Joshi

मनुष्य स्वयं के निर्णय से जीवन जिए तो श्रेयस्कर होगा, पर प्रेरणा से जीवन जीने वाले अधिकांश व्यक्ति दुःखी ही रह जाता है वहीं अधिकांश खुशी भी हो जाते हैं। ऐसा मैं पहला व्यक्ति कदापि नहीं जो कह रहा है "जिस प्रकार से आपका एक निर्णय आपकी पूरी जिंदगी बदल देती है वैसे ही आपका एक निर्णय/एक संकल्प आपको जीवनपर्यंत के लिए ख़ुश रख सकता है।"  

इस संदर्भ में मैं एक पुरानी कहानी लिखना चाहता हूं "जापान में एक बहुत खुशमिजाज व्यक्ति, चाहें तो आप संत मान सकते हैं, वे अपने जीवन के लगभग 25 वर्ष को यूं ही स्ट्रेस और दुःख में बर्बाद कर लिया था। आप सबको भलीभांति ज्ञात है जापान में बहुत भयंकर और बार बार भूकंप आते रहते हैं। एक दिन वोको जी सुबह सुबह उठे तो उसके मन में एक विचार आया ईश्वर ने एक दिन और जीने के लिए दिया है तो बताओ वोको जी क्या तुम आज ख़ुश रहना चाहते हो???
भीतर से ही वोको जी चिल्ला पड़ा - हां, हां मै आज ख़ुश रहना चाहता हूं।
बस इतने से विचार के कारण वह पूरे दिन ख़ुश रहा, जबकि उसके दिनचर्या अथवा आसपास के परिवेश में कोई बदलाव ही नहीं हुआ था। रात्रि में सोने के पहले वह सोचने लगा, निष्कर्ष में पहुंचा कि वह रोज प्रातः जागेगा तो स्वयं को आवाज लगाएगा, वोको जी क्या तुम आज ख़ुश रहना चाहते हो???
फिर स्वयं ही जवाब देगा, हां, हां ज़रूर, मैं जरूर ख़ुश रहूंगा।
इसी तरह वह रोज इसे दोहराने लगा, कई बार वह तनावग्रस्त हो जाता, कई बार कुछ ऐसी कोई घटना सामने आ जाती जो उन्हें परेशान करने लगती, फिर उन्हें याद आता कि सुबह उसने क्या संकल्प लिया है?
फिर स्वयं ही बोलता, बेटा बताओ आपको ख़ुश रहना कि नहीं???
फिर बोलता, हां, हां मैंने तो सुबह ही ख़ुश रहने का संकल्प लिया है, जरूर ख़ुश रहूंगा।"

ऐसे ही एक छोटा सा विचार, छोटा सा संकल्प आपके जीवन को केवल सफल ही नहीं वरन् सुखमय भी बना देगी, आप भी रोज इसे दोहरा सकते हैं, आप भी वोको जी की भांति ख़ुश हो सकते हैं। VOKO जी को एक बार अपना गुरु बना कर देखिए, VOKO ही आपको सुख का भगवान प्रतीत होने लगेंगे।

HP Joshi
Atal Nagar
Nawa Raipur Chhattisgarh
Share:

Popular Information

Most Information