Wednesday, March 04, 2020

ISRO युवा वैज्ञानिक कार्यक्रम 2020 - ऑनलाइन पंजीकरण शुरू है अपने बच्चे को बनाएं वैज्ञानिक

ISRO युवा वैज्ञानिक कार्यक्रम 2020 - ऑनलाइन पंजीकरण शुरू है अपने बच्चे को बनाएं वैज्ञानिक 
युवा वैज्ञानिक कार्यक्रम 2020 - ऑनलाइन पंजीकरण
YUVIKA 2020ऑनलाइन पंजीकरण एवं हस्ताक्षरित आवेदनों को जमा करने की तिथि 05 मार्च 2020 तक बढ़ाई गई है।



युवा विज्ञानी कार्यक्रम (युविका) 2020
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने वर्ष 2019 से स्कूली बच्चों के लिए “युवा वैज्ञानिक कार्यक्रम” “युवा विज्ञानी कार्यक्रम” (युविका) नामक विशेष कार्यक्रम की शुरुआत की है। इस कार्यक्रम के द्वितीय सत्र का आयोजन मई 2020 के दौरान किया जाएगा।

इस कार्यक्रम का मुख्‍य लक्ष्‍य युवाओं को अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी, अंतरिक्ष विज्ञान तथा अंतरिक्ष अनुप्रयोगों पर मौलिक ज्ञान देना है, ताकि अंतरिक्ष गतिविधियों के उभरते क्षेत्रों में उनकी रुचि बढ़ाई जा सके। इस प्रकार, इस कार्यक्रम का लक्ष्‍य युवाओं में जागरूकता फैलाना है, जो हमारे राष्‍ट्र के भविष्‍य की निर्माण कड़ी हैं। इसरो ने उन्‍हें “युवा रूप में ही चयनित” करने की योजना बनाई है।

यह कार्यक्रम गर्मी की छुट्टियों (11-22 मई 2020) के दौरान 2 सप्‍ताह की अवधि का होगा तथा कार्यक्रम में प्रमुख वैज्ञानिकों से आमंत्रित व्‍याख्‍यान, उनके द्वारा अनुभव साझा करना, सुविधाओं एवं प्रयोगशालाओं को देखने जाना, विशेषज्ञों के साथ विचार-विमर्श हेतु विशेष सत्र, व्‍यावहारिक एवं प्रतिपुष्टि सत्र शामिल होंगे।

इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए सी.बी.एस.ई., आई.सी.एस.ई. तथा राज्‍य पाठ्यक्रम को सम्मिलित करते हुए प्रत्‍येक राज्‍य/संघशासित प्रदेश से तीन विद्यार्थियों का चयन किया जाएगा। देश भर से प्रवासी भारतीय नागरिक       (ओ.सी.आई.) अभ्यर्थियों के लिए 5 अतिरिक्त सीटें आरक्षित हैं।

चयन ऑनलाइन पंजीकरण द्वारा किया जाएगा। 3 से 24 फरवरी 2020 तक ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया चलेगी। ऐसे विद्यार्थी, जिन्‍होंने 8वीं कक्षा उत्‍तीर्ण की है तथा 9वीं कक्षा में अध्ययनरत हैं (शैक्षणिक वर्ष 2019-20 में), वे इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए पात्र होंगे। चयन मानदंड 8वीं कक्षा के शैक्षणिक निष्पादन एवं पाठ्य विषयेत्तर गतिविधियों के प्रदर्शन पर आधारित होंगे। चयन मानदंड निम्नलिखित हैः



ग्रामीण क्षेत्रों के विद्यार्थियों को चयन मानदंड में विशेष प्राथमिकता दी गई है। यदि चयनित अभ्‍यर्थियों में बराबरी होती है, तो कम आयु वाले अभ्‍यर्थियों को प्राथमिकता दी जाएगी।

इच्‍छुक विद्यार्थी 3 फरवरी 2020 (1400 बजे) से 24 फरवरी 2020 (1800 बजे) तक इसरो की वेबसाइट www.isro.gov.in पर ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं। 03 फरवरी 2020 से वास्तविक लिंक उपलब्ध होगी। प्रत्‍येक राज्‍य से अनंतिम रूप से चयनित अभ्‍यर्थियों की सूची 02 मार्च 2020 को घोषित की जाएगी। अनंतिम रूप से चयनित अभ्‍यर्थियों से प्रासंगिक प्रमाणपत्रों की प्रमाणित छायाप्रतियां 23 मार्च 2020 अथवा इससे पूर्व अपलोड करने का अनुरोध किया जाएगा। संबंधित प्रमाणपत्रों की जाँच के बाद, अंतिम चयनित सूची 30 मार्च 2020 को प्रकाशित की जाएगी।

इस आवासीय कार्यक्रम को 11-22 मई 2020 के दौरान इसरो के 4 केंद्रों पर आयोजित करने का प्रस्ताव है। चयनित अभ्यर्थियों को अहमदाबाद, बेंगलूरु, शिलाँग एवं तिरुवनंतपुरम स्थित इसरो/अं.वि. के किसी भी एक केंद्र में रिपोर्ट करने का अनुरोध किया जाएगा। चयनित विद्यार्थियों को इसरो के अतिथि गृहों/छात्रावासों में ठहराने का प्रबंध किया जाएगा। विद्यार्थियों की यात्रा (निकटतम रेलवे स्‍टेशन से रिर्पोटिंग स्‍टेशन तक आने-जाने का वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी का किराया), पाठ्यक्रम सामग्री तथा संपूर्ण पाठ्यक्रम के दौरान आवास और भोजन आदि का व्यय, इसरो द्वारा वहन किया जाएगा। विद्यार्थी को रिर्पोटिंग केंद्र पर लाने तथा ले जाने के लिए ए‍क अभिभावक/माता-पिता को भी वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी का किराया प्रदान किया जाएगा।


अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (एफ.ए.क्यू.)
किसी अन्य स्पष्टीकरण के लिए कृपया yuvika2020@isro.gov.in  तथा युविका सचिवालय (रेस्पाँड एवं ए.आई.) के दूरभाष : 080 2217 2269   पर संपर्क करें।

******

जनहित में जारी......
श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी
Share:

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

Fight With Corona - Lock Down

Popular Information

यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/व्यक्ति अपनी मौलिक पोस्ट प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

Most Information