Saturday, August 18, 2018

विधानसभा चुनाव को लेकर दुर्ग रेंज की पुलिस ने कसी कमर

विधानसभा चुनाव को लेकर दुर्ग रेंज की पुलिस ने कसी कमर


चुनाव आयोग के निर्देशों के परिपालन में श्री जी.पी. सिंह ने अपनी ओर से तैयारी प्रारंभ कर दी है। जिसके तहत रेंज पुलिस महानिरीक्षक कार्यालय, 32 बंगला दुर्ग में रेंज के पांचों जिलों के पुलिस अधीक्षकों की मीटिंग ली गयी। श्री सिंह ने सभी पुलिस अधीक्षकों से गत चुनाव के संबंध में फीड बैक लिया तथा निर्देंशित किया कि:-

अभी से चुनाव हेतु पुलिस की तैयारी प्रारंभ कर दें, ताकि रेंज में शांतिपूर्वक एवं निर्विघ्न चुनाव सम्पन्न कराया जा सके।
जिले के सभी मतदान केन्द्रों का दौरा कर उसकी लोकेशन, भवन की स्थिति, जिला मुख्यालय से दूरी, कनेक्टिविटी एवं सुरक्षा की समीक्षा कर, जिले में उपलब्ध बल एवं संसाधनों से तुलना कर, अभी से अतिरिक्त बल एवं संसाधनों की मांग का प्रस्ताव पुलिस मुख्यालय को भेजें, ताकि समय पर आवश्यक बल एवं संसाधन प्राप्त हो सके। यदि मतदान केन्द्र मंें सुरक्षा कारणों से परिवर्तन की आवश्यकता हो, तो चुनाव आयोग को प्रस्तावित करें।
चुनाव कार्य में सहयोग के लिये आबंटित होेने वाले केन्द्रीय पुलिस बल, अर्ध सैनिक बल एवं अन्य प्रदेशों के पुलिस बल कें लिये होल्डिग एरिया, आवास, संचार एवं परिवहन व्यवस्था, स्वास्थ्य सुविधा, उनके प्रशिक्षण तथा अन्य लाजिस्टिक सपोर्ट उपलब्ध कराने की योजना बना लें। इसके लिये स्टेंक होल्डर विभागों से समन्वय स्थापित कर लें।  
रिएक्टिव पुलिसिंग के बजाय प्रोएक्टिव पुलिसिंग की जावे। चुनाव में गडबडी फैलाने वाले व्यक्तियों व गडबडी वाले क्षेत्रों को चिन्हित कर यथोचित कार्यवाही करें। असमाजिक तत्वों के विरूद्ध जीरो टालरेंस की नीति अपनाते हुए प्रभावी प्रतिबंधात्मक कार्यवाही करायें। मोटर व्हीकल एक्ट, लघु अधिनियम, प्रतिबंधात्मक धाराओं के तहत प्रभावी कार्यवाही हो। 
उपयुक्त स्थानों पर सटीक नाकाबंदी की व्यवस्था कर, वाहनों एवं संदिग्धों की जांच कराई जावे। होटल, लाज, ढाबा, धर्मशाला, रेलवे स्टेशन, बस स्टेंड एवं अन्य भीडभाड वाले क्षेत्रों मंे यथोचित बल लगाकर सघन जांच एवं तलाशी कराई जावे। 
आर्म्स एवं विष्फोटक लायसेंसदारानों की सूची का मिलान कलेक्टर कार्यालय के रिकार्ड से कराकर, लायसेंसदारानों की चेकिंग करावें। तसदीक पर अनियमितता अथवा अवैध हथियार/विस्फोटक होने पर यथोचित वैधानिक कार्यवाही की जावे। चुनाव के दौरान समय पर हथियार थानों में जमा कराने की व्यवस्था सुनिश्चित कर लें।
नक्सल प्रभावित जिलों बालोद, राजनांदगांव एवं कबीरधाम में नक्सल गतिविधियों को लेकर विशेष रूप से अलर्ट रहें। नक्सल गतिविधियों के परिप्रेक्ष्य में सरहदी राज्यों के पुलिस अधिकारियों के साथ बार्डर मीटिंग आयोजित कर चुनाव के दौरान नक्सल उत्पात को रोकने के लिये प्राथमिकतायें तय कर कार्ययोजना बनाकर अमल करें। एरिया डामिनेशन, आरओपी, नक्सल अभियान एवं आसूचना संकलन पर ध्यान दें।
चुनाव संबंधी शिकायतों के त्वरित निराकरण के लिये पृथक से शिकायत सेल बनाया जावे। इसी तरह चुनावी गतिविधियों के संचालन के लिये वुनाव नियंत्रण कक्ष बनाकर वहां उपयुक्त अधिकारी/कर्मचारी सहित आवश्यक उपकरण मुहैया करावें।

Share:

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

Popular Information

Most Information