Tuesday, July 30, 2019

मैं दुनिया का सर्वश्रेष्ठ बहानेबाज हूं : HP Joshi

मैं दुनिया का सर्वश्रेष्ठ बहाने बाज हूं : HP Joshi

मैं श्रेष्ठ बहानेबाज हूं मेरे बहानें का कोई तोड़ नहीं, क्योंकि हर पल मेरे पास एक से बढ़कर एक, चुनिंदा और बेहतर बहानें होते हैं। मैं इन्हीं बहानों के उपयोग से हर असफलताओं की जिम्मेदारी और काम की हर जिम्मेदारियों से मुक्त हो पाता हूं। मैं बहाने बाज हूं दुनिया का सर्वश्रेष्ठ बहाने बाज! 

मेरे प्रमुख 07 बहानें निम्न प्रकार के हैं :-
1 - अभी मेरा उम्र नहीं हुआ है अथवा मेरा उम्र इसके लायक नहीं रहा।
2 :- मेरा स्वास्थ्य अभी तो अव्वल दर्जे का है, मुझे योग और व्यायाम की क्या जरूरत अथवा मेरा स्वास्थ्य इतना अच्छा नहीं कि मैं यह कर सकूं।
3 :- मेरा तो किस्मत ही खराब है मुझे अच्छा अवसर नहीं मिलता, मेरे पूर्वजों ने मेरे लिए कुछ अच्छा नहीं किया अथवा मैं भाग्यशाली हूं मेरे पास सब कुछ है मुझे और कुछ चीज की आवश्यकता नहीं।
4 :- मेरे पास इतना बुद्धि नहीं है अथवा मैं मूर्ख नहीं हूं जो ये करूं यह जानते हुए कि इसमें सफलता है।
5 :- इन बहानों के माध्यम से मैं हार की, काम की और जीत की जिम्मेदारियों से बच जाता हूं।
6 :- मैं संभावनाओं की तलाश करने की जिम्मेदारियों से बच जाता हूं।
7 :- मैं ऐसा तो कर ही नहीं सकता और न तो ऐसा भी कर सकता हूं। अर्थात परन्तु यह कर सकता हूं के बावजूद ऐसा भी नहीं कर सकता का बहाना बना लेता हूं।

दोस्तों, आप इसे पढ़ रहे हैं तो आपसे अनुरोध है दुनिया के इन सबसे प्रचलित 07 बहानों से बचिए इन बहानों से बचने के भी उपाय है जो आपके जीवन को सफलता के आयाम तक पहुंचा सकते हैं, बहानों से बचने के निम्न 07 उपाय है :-
1 :- अपने हर पराजय की, हर असफलताओं की जिम्मेदारी स्वयं लें।
2 :- अपने कार्य की जिम्मेदारी स्वयं लें, दूसरों पर न टालें।
3 :- अपनी जीत और सफलताओं की जिम्मेदारी स्वयं लें और सभी सहयोगियों का आभार प्रकट करें।
4 :- संभावनाओं की तलाश करें।
5 :- परन्तु का विकल्प हमेशा रखें। अर्थात ऐसा भले ही न कर सकूं, परन्तु इससे बेहतर कर सकता हूं।
6 :- रोज कुछ सीखें या परोपकार के लिए एक काम करें।
7 :- अपने स्वयं की अथवा आसपास के सफल और असफल लोगों के सफलताओं और असफलताओं की नियमित रूप से समीक्षा करें।
Share:

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कैसे करें?


यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/व्यक्ति अपनी मौलिक पोस्ट प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

सबसे अधिक बार पढ़ा गया लेख