Thursday, September 05, 2019

मेरे जीवन को शून्य से शिखर तक पहुंचाने में मेरे गुरुजनों का महत्वपूर्ण योगदान - हुलेश्वर जोशी

मेरे जीवन को शून्य से शिखर तक पहुंचाने में मेरे गुरुजनों का महत्वपूर्ण योगदान - हुलेश्वर जोशी


मेरी खुशियों का श्रेय मेरे गुरुजनों को, मेरी सफलता के लिए जिम्मेदार मेरे गुरुजी

आज शिक्षक दिवस के पावन अवसर पर मैं अपने समस्त गुरुजनों को सादर प्रणाम करता हूं। मै उनके पदचिन्हों पर चलकर ही एक छोटा निरक्षर, भोला भाला बच्चा से जागरूक इंसान बन पाया हूं इसलिए अपने गुरुजनों का आभार प्रकट करता हूं। 


मेरे स्कूल शिक्षा में महत्वपूर्ण योगदान देने वाले, मुझे सदैव प्रेम और ज्ञान से सिंचित करने वाले निम्नांकित गुरुजन हैं:- 

श्री मंडलोई गुरुजी
श्री अनिल बंजारे गुरुजी
श्री पटेल सर
शासकीय प्राथमिक स्कूल, मनकी

श्री उपासी राम साहू गुरुजी - Head Master
श्री लाल गुरुजी
श्रीमती लाल मैडम
श्री तिग्गा सर
श्री पाण्डेय सर - Head Master
शासकीय पूर्व माध्यमिक स्कूल अखरार

श्री विक्टर गुरुजी
श्री तिलगाम सर - Head Master
श्री सौखी लाल पंकज सर
शासकीय बालक पूर्व माध्यमिक विद्यालय डिण्डौरी

श्री धन्नू लाल पटेल गुरुजी 
श्री बैजनाथ साहू गुरुजी - Principal
श्री राजेंद्र जायसवाल सर 
श्री अरुण कुमार राजपूत सर 
सरस्वती विद्या विहार उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, अखरार

श्री जीवन लाल साहू गुरुजी - Principal 
श्री मुन्ना लाल सोनी गुरुजी 
श्री महेन्द्र सिंह मार्को गुरुजी 
श्री सुशील तिवारी सर 
नेताजी सुभाष चन्द्र बोस उच्चतर माध्यमिक विद्यालय डिण्डौरी

श्री हरिश सिंह राज गुरूजी 
सुश्री मधुमालती बाजपेयी मैडम 
श्री दूबे सर 
श्री व्ही के श्रीवास्तव - Principal
श्री प्रहलाल प्रसाद लाठिया
राजीव गांधी कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय, लोरमी

स्कूल के गुरुजनों के अलावा भी मेरे गुरु हैं जिनमें मेरी परदादी मां श्रीमती श्यामा देवी, दादा श्री मालिक जोशी, दादी मां माता कली देवी, पिता श्री शैल जोशी, माता श्रीमती मोतिम जोशी, बड़े भैया श्री देव जोशी और मेरी धर्मपत्नी श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी का भी मेरे जीवन में विशेष योगदान है, जिनके मार्गदर्शन के बिना जीवन में सुख और सफलता की परिकल्पना ही व्यर्थ और बेईमानी है। कुछ वरिष्ठ अधिकारियों, सहपाठी, मित्रों और सहकर्मियों का भी मेरे जीवन में अमूल्य योगदान रहा है। मै शिक्षक दिवस के अवसर पर अपने आलोचकों का भी आभार प्रकट करता हूं जिन्होंने कतिपय मामलों में गुरु की भूमिका निभाई है।
Share:

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

"करा समर्पण" हल्बी गीत

यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/व्यक्ति अपनी मौलिक पोस्ट प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

सबसे अधिक बार पढ़ा गया लेख