Tuesday, September 17, 2019

इन 09 उपाय से आप हर महीने लाखों रुपये बचा सकते हैं, एक बार अपनाएं जीवन भर आएगा काम

आर्थिक हानि से बचने के अचूक नुक्से, इन 09 सुझाव को मानेंगे तो कभी भी पुलिस आपकी चालान नहीं काट पाएगी

जीवन अनमोल है चाहे आपकी हो या किसी अन्य की इसलिए यातायात नियमों का अवश्य पालन करें, यातायात नियम का पालन पुलिस और चालान से ही नहीं वरन् मृत्यु से भी बचाती है। इसलिए कुछ बेहद जरूरी बातें आपसे शेयर किया जा रहा है।

मोटर साइकिल अथवा कार चलाते समय आपके पास निम्नांकित दस्तावेज होना अनिवार्य है :-
1- ड्रायविंग लायसेंस (स्वयं की)।
2- आर सी बुक (संबंधित वाहन की)।
3- वाहन बीमा - जीवित होनी चाहिए (थर्ड पार्टी बिना अवश्य कराएं)।
4- पर्यावरण प्रदूषण का प्रमाण पत्र (6 माह से अधिक अवधि न हुआ हो)।
5- दो पहिया वाहन चालन के समय हेलमेट अवश्य पहनें, हेलमेट सुरक्षा मानकों के अनुरूप होनी चाहिए, कुछ लोग फैंसी हेलमेट पहनते हैं जो अनुचित है।


आप उपरोक्त दस्तावेज DIGILocker में भी रख सकते हैं जो पुलिस द्वारा मान्य होगी।

डिजिलॉकर शासन द्वारा प्रायोजित मोबाइल एप्लीकेशन है जो बिलकुल सुरक्षित और लीगल है।  
DIGILocker को प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है।

उपरोक्त दस्तावेजों के अलावा ध्यान देने योग्य बातें, जो आपको आर्थिक हानि होने से बचने के लिए अवश्य पालन करना चाहिए -
6- कार चलाते समय सीट बेल्ट बांधे, आपके बाजू सीट वाले सहयात्री को भी सीट बेल्ट बांधना अनिवार्य है।
7- यातायात नियमों का उल्लघंन न करें। ट्रैफिक सिग्नल न तोड़ें, गलत दिशा में वाहन न चलाएं, स्पीड लिमिट का ध्यान रखें और एम्बुलेंस को रास्ता दें।
8- वाहन चालन के दौरान शराब, नशीले दवाईयों का सेवन न किया हो।
9- वाहन चालन के दौरान मोबाइल से बात न करें, आवश्यक हो तो वाहन किनारे में रोक कर बात करें।

HP Joshi
Atal Nagar, Nawa Raipur, Chhattisgarh 

Share:

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

Fight With Corona - Lock Down

Popular Information

यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/व्यक्ति अपनी मौलिक पोस्ट प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

Most Information