Friday, February 07, 2020

पूरे देश में लागू हो सकता है सिटीज़न कॉप मोबाइल एप्प : जीपी सिंह, एडीजी

पूरे देश में लागू हो सकता है सिटीज़न कॉप मोबाइल एप्प : जीपी सिंह, एडीजी

छत्तीसगढ़ पुलिस का मोबाइल ऐप "सिटीजन कॉप" को माइक्रो मिशन -03 के तहत BPR&D नई दिल्ली द्वारा चयनित किया गया है। इसी परिप्रेक्ष्य में आज दिनांक 7/02/2020 को बीपीआरडी नई दिल्ली द्वारा सिटीजन कॉप के उपयोगिता एवम फीचर्स को बारीकी से जानने के लिए श्री जीपी सिंह, एडीजी EOW को आमंत्रित किया गया था। श्री जीपी सिंह द्वारा सिटीजन कॉप का लाइव डेमोस्ट्रेशन दिया गया। इस दौरान पुलिस अनुसंधान एवम विकास ब्यूरो, गृह मंत्रालय, नई दिल्ली के डीजी, एडीजी, आईजी एवम डीआईजी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

BPR&D नई दिल्ली के डीजी श्री वीएसके कौमुदी द्वारा सिटीजन कॉप एप्प की सराहना की गई। BPR&D के वरिष्ठ अधिकारियों ने एप्प की उपयोगिता जानकर श्री सिंह को बेहतर एप्प तैयार करवाने के लिए बधाई दी। संभव है इसे पूरे देश में लागू किया जा सकता है।

उल्लेखनीय है कि सिटीजन कॉप मोबाइल एप्प को श्री सिंह द्वारा रायपुर आईजी के कार्यकाल में दिनांक 08/09/2015 को रायपुर रेंज के 05 जिलों में लागू कराया गया था, जो वर्तमान में प्रदेश के 11 जिले में संचालित किया जा रहा है।

वर्तमान में सिटीजन कॉप के छत्तीसगढ़ राज्य में लगभग 1.25 लाख यूजर्स सहित देश भर में 3.5 लाख से अधिक यूजर्स सक्रिय हैं।

सिटीज़न कॉप मोबाइल एप्प के माध्यम से पुलिस ने लगभग 50 करोड़ रुपए कीमत के 35 हजार चोरी/गुम मोबाइल फोन रिकवर कर उनके मूल मालिकों को लौटाया गया है।

सिटीजन कॉप को भारत सरकार द्वारा वर्ष 2016 में प्लेटिनम कैटेगरी में "डिजिटल इंडिया अवॉर्ड" एवम फिक्की द्वारा वर्ष 2015 में "स्मार्ट पोलिसिंग अवॉर्ड" से सम्मानित किया गया है।

सिटीजन कॉप एप्प में हर राज्य के पुलिस की आवश्यकता के अनुरूप नित नए फीचर्स जोड़े और कस्टमाइज किए जा रहे हैं।

इस एप्प की सबसे खास बात यह है कि पिछले साढ़े चार से संचालित एप्प को बनाने अथवा मेंटेनेंस करने में छत्तीसगढ़ सरकार अथवा पुलिस विभाग ने कोई आर्थिक लागत नहीं लगाया है, अर्थात ज़ीरो बजट में संचालित है यह एप्प।

Related Images



Share:

1 comment:

Fight With Corona - Lock Down

Popular Information

यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/व्यक्ति अपनी मौलिक पोस्ट प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

Most Information