Thursday, March 19, 2020

कोरोना वायरस के लक्षण, संक्रमण और रोकथाम के उपाय - HP Joshi

सावधान, कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए धार्मिक, सामाजिक, सांस्कृतिक और पारिवारिक आयोजन पर रोक लगाएं।

बारम्बार सेनेटाइजर, डेटॉल अथवा साबुन से 20 सेकंड से अधिक समय तक हाँथ धोएं।


मुह, नाक, कान और चेहरे को छूने से परहेज करें।

भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने से परहेज करें।
सुरक्षा की दृष्टि से ताजे फल और गर्म भोजन ग्रहण करें तथा गर्म पानी ही पीएं।

जिन्हें कोरोना वायरस संक्रमण संभावित है उनके संपर्क में आने से परहेज करें।

कोरोना संक्रमित लोगों की आइडेंटिटी उजागर न करें, परंतु चिकित्सा विभाग को 104 नंबर में फ़ोन करके सूचित करें।

कोरोना से डरे नहीं, परहेज करें।

इम्युनिटी सिस्टम को बढ़ाने वाले ही भोज्य पदार्थों का सेवन करें।

संभव है कोरोना वायरस मनुष्य के साथ साथ पशु और पक्षियों के माध्यम से भी फैल सकता है।

एक वेबसाइट के अनुसार अब तक के कोरोना संक्रमित मरीजों में से 38% लोगों को संक्रमण से मुक्त किया जा चुका है।


कविता के माध्यम से जानें - कोरोना वायरस (COVID-19) लक्षण और बचाव के तरीके
संक्रमण से परहेज, सही समय पर जांच और उचित उपचार से 0% कैजुअलिटी संभव है। इस हेतु देश भर के प्रमुख अस्पतालों में उचित उपचार की प्रबंध की गई है।

कोरोना संक्रमित देशों, क्षेत्रों से अपने घर लौट लोगों को सबसे पहले कोरोना संक्रमण की जांच कराने की जरूरत है, अन्यथा उनके सहित उनके परिवार, परिजन, पड़ोस और इस तरह पूरे शहर में कोरोना की महामारी फैल कर हमारे जीवन को प्रभावित कर सकती है।

भीड़भाड़ इलाके में जाने के दौरान बचाव के लिये मास्क पहना जा सकता है, मास्क उपलब्ध न होने पर कपड़े अथवा रुमाल से मुह और नाक को ढका जा सकता है।

कोरोना के लक्षण : यदि किसी व्यक्ति को खांसी, बुखार और स्वांस लेने में तकलीफ हो रही हो तो तत्काल जांच कराएं, रिपोर्ट प्राप्त होने तक परिवार, दोस्तों, रिस्तेदार और अन्य व्यक्ति के संपर्क में आने से बचें।

जनहित में जारी .......

HP Joshi
Nava Raipur, Chhattisgarh
Share:

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

Fight With Corona - Lock Down

Popular Information

यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/व्यक्ति अपनी मौलिक पोस्ट प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

Most Information