Sunday, February 18, 2018

रानी बेटी तय थोकिन लोरी सुना दे ओ ...... Poem

रानी बेटी तय थोकिन लोरी सुना दे ओ ...... Poem



रानी बेटी तय थोकिन लोरी सुना दे ओगुरतुर बोली मिठासके झुलना झूला दे ओरानी बेटी तय थोकिन लोरी सुना दे ओ .....


नइ हे पानी के पियास तय Poem सुना दे ओ
हवय काम के जबर बोझा कोनो मन्तर चला दे ओ
रानी बेटी तय थोकिन लोरी सुना दे ओ .......


अबड पिरा मुड़ी म हाथ चंदन लगा दे ओतोर हाथ म पिघले चाहि चॉकलेट खवा दे ओरानी बेटी तय थोकिन लोरी सुना दे ओ ......





HPJoshi
Durg, Chhattisgarh
Share:

Popular Information

यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें। इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/व्यक्ति अपनी मौलिक पोस्ट प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

Most Information