Monday, June 07, 2021

नारायणपुर पुलिस की अनोखी पहल : ऐसे किया जा रहा है कोरोना जागरूकता कार्यक्रम का संचालन

नारायणपुर पुलिस की अनोखी पहल, ऐसे किया जा रहा है कोरोना जागरूकता कार्यक्रम का संचालन

कोविड-19, कोरोना महामारी से आम जनता को बचाने तथा इसके प्रसार को रोकने के लिए जिला प्रशासन द्वारा नारायणपुर में लॉकडाउन किया गया है लम्बे दिनों से लॉकडाउन होने तथा घरों में रहने के कारण आम नागरिकों खासकर बच्चों की सृजनात्मक क्षमताओं में कमी आई है जिसे मद्देनजर रखते हुए पुलिस अधीक्षक श्री मोहित गर्ग के निर्देशानुसार अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री नीरज चंद्राकर के नेतृत्व में उप पुलिस अधीक्षक श्री अनुज कुमार, उप पुलिस अधीक्षक श्री अभिनव उपाध्याय, उप पुलिस अधीक्षक सुश्री उन्नति ठाकुर, उप पुलिस अधीक्षक श्रीमती नेहा वर्मा, रक्षित निरीक्षक श्री दीपक साव और थाना प्रभारी श्री तोपसिंह नवरंग की टीम द्वारा दिनांक 10.05.2021 से प्रतिदिन सामाजिक दूरी व कोरोना गाइडलाइंस का पालन करते हुए विभिन्न प्रकार के मनोरंजक कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं। कार्यक्रम के पहले दिन सोनपुर चैक, पाठक चैक और जीएडी कॉलोनी में पुलिस टीम ने लोगों को उनके घर के बालकनी अथवा छत में बुलाकर नीचे सड़क से ही पुलिस अधिकारियों द्वारा लोगों में सृजनात्मक क्षमताओं के विकास हेतु सुझाव और कोरोना से संबंधित प्रश्न पूछे गए साथ ही कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के बेहतर उपाय भी बताए गए। लोगों को रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करने के रोचक तरीके बताए गए तथा वैक्सीनेशन के फायदे बताते हुए लोगों को वैक्सीनेशन कराने की अपील की गई। कोरोना से संबंधित प्रश्नों के त्वरित और सटिक जवाब देने वाले लोगों और बच्चों को तत्काल मौके पर ही उपहार प्रदान किये गये। पुलिस अधिकारियों द्वारा अपने अनोखे अंदाज में आम नागरिकों के मनोरंजन हेतु स्वयं माईक पकड़कर गाने भी गाये गये, इससे प्रभावित होकर तथा पुलिस टीम के अनुरोध पर आम नागरिकों ने भी अपने बालकनी से ही राष्ट्रगान, गीत व संगीतों का गायन और वादन किया गया, जिससे क्षेत्र में साकारात्मक माहौल का निर्माण हुआ।


पेंटिंग, कविता और लेखन प्रतियोगिता:
कार्यक्रम समाप्ति के बाद दिनांक 11.05.2021 के सायं 5बजे का टारगेट देते हुए लोगों खासबर बच्चों को अपने घरों में रहकर पेंटिंग करने, कविता और लेख लिखने हेतु आग्रह किया गया था जिसमें 80 लोगों, बच्चों ने हिस्सा लिया। लोगों ने अपने अपने दीवालों पर अपनी पेंटिंग्स, कविता और लेख चस्पा किए, कुछ अच्छी पेंटिंग्स, कविता, लेख लिखने वाले प्रतिभागियों को उपहार दिए गए, जिनमें से आन्या जैन, वीर जैन, शुभम जैन, वीरम और डिम्पी ने अपने बेहतरीन कला का प्रदर्शन किया।


ट्रेडिशनल ड्रेस कॉम्पिटिशन का आयोजन:
लॉकडाउन के चलते लोगों खासकर महिलाओं के निराशाजनक जीवन में उत्साह और उमंग लाने के लिए उद्देश्य से नारायणपुर पुलिस द्वारा व्हाट्सएप नम्बर जारी करते हुए दिनांक 13.05.2021 के 12ः00 बजे तक लक्ष्य देते हुए ट्रेडिशनल ड्रेस कॉम्पिटिशन का आयोजन किया गया, इसके तहत प्रतिभागियों को अपने घर में ही ट्रेडिशनल ड्रेस पहनकर उसकी फोटो व्हाट्सएप नम्बर में भेजना था। इस ट्रेडिशनल ड्रेस कॉम्पिटिशन में लगभग 50 महिलाओं और बच्चों ने भाग लिया, इनमें से धन्नी, खुशबू, भावना, याचना, यश और नित्या ने अपने सबसे अच्छी फोटोग्राफ्स भेजी है। वहीं कृति, नेताल और डिम्पी ने कोरोना जागरूकता से संबंधित सबसे अच्छे वीडियो रिकॉर्डिंग करके भेजा है।

पुलिस के इस अभिवन पहल को नारायणपुर के आम नागरिकों से खूब सराहना मिल रही है, प्रतिदिन लोग अपने घर के छत और बालकनी में पुलिस टीम द्वारा आयोजित मनोरंजक और ज्ञानवर्धक कार्यक्रमों के लिए प्रतीक्षारत रहते हैं वहीं जिन क्षेत्रों में पुलिस टीम द्वारा ऐसे कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जा सका है इन क्षेत्रों के लोगों द्वारा पुलिस अधिकारियों और कण्ट्रोल रूम में फोन कर कार्यक्रम आयोजित करने हेतु आग्रह किया जा रहा है, शीघ्र ही उस क्षेत्रों/मोहल्ले में भी जागरूकता कार्यक्रम संचालित किये जाएंगे। उल्लेखनीय है कि पेंटिंग प्रतियोगिता, कविता और लेखन प्रतियोगिता तथा ट्रेडिशनल ड्रेस कॉम्पिटिशन में भाग लेकर अच्छे फोटोग्राफ्स भेजने वाले प्रतिभागियों को पुलिस अधीक्षक, नारायणपुर द्वारा पुरुस्कार और सर्टिफिकेट प्रदान किये जाएंगे।
Share:

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कैसे करें?

यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/व्यक्ति अपनी मौलिक पोस्ट प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

सबसे अधिक बार पढ़ा गया लेख