Thursday, August 05, 2021

व्यापार सुझाव : "कॉर्न फ्लेक्स" का व्यापार, ऐसा व्यापार जो आपको 500% का मुनाफ़ा देने को तैयार है - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

व्यापार सुझाव : "कॉर्न फ्लेक्स" का व्यापार, ऐसा व्यापार जो आपको 500% का मुनाफ़ा देने को तैयार है - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

यदि आप व्यापारी हैं या व्यापार करने के इच्छुक हैं तो CORN Flakes का व्यापार आपको 300% से 500% तक की शुद्ध आमदनी दे सकता है। हालांकि मैं  व्यापार के नाम पर आपको ग्राहकों से लूट करने की सहमति नहीं दे रही हूँ। आपसे अनुरोध है कि आप मल्टी नेशनल कंपनी का विकल्प बनकर ग्राहकों को कम दामों में आवश्यक वस्तुएं उपलब्ध कराएं। मेरी यही उद्देश्य  है।  

Corn Flakes का वैट और मूल्य :
उदाहरण के लिए Kellogg CORN FLAKES की एमआरपी चेक कर लीजिये; जो अधिकतर दुकानों और मेडिकल स्टोर में एमआरपी में ही मिलती है। 250 ग्राम कॉर्न फ्लेक्स का एमआरपी 95/- पंचानबे रुपये है।

जोंधरी/भुट्टा से CORN FLAKES बनाने की विधि :
1- बस्तर से ₹10/kg में CORN (जोंधरी/भुट्टा) खरीद लें।
2- भुट्टा (CORN) को साफ़ करवा लें।
3- साबुत भुट्टा (CORN) को उबाल लें।
4- उबले हुए भुट्टा (CORN) को मशीन की सहायता से प्रेस कर चपटी कर लें अर्थात फ्लेक्स का आकार दे दें।
(नोट: इसके लिए संभव है पोहा बनाने की मशीन भी काम में लायी जा सकती है या कॉर्न फ्लेक्स के साथ आप पोहा बनाने का भी व्यापार एक ही मशीन से कर सकते हैं।)
5- चपटी भुट्टा (CORN Flakes) को हल्के से सेंक लें; अर्थात Toast कर दें।
6- अपने ब्रांड के नाम लगे पैकेट्स में वजन करके पैकेजिंग करें।
7- बधाई हो! आपकी व्यापार निकल पड़ी। आप ₹10/-KG वाले भुट्टा को ₹400/-KG में बेचने वाले व्यापारी बन चुके हैं।


सलाहकार :
श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी,
नवा रायपुर, छत्तीसगढ़
Share:

3 comments:


प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कैसे करें?


यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/व्यक्ति अपनी मौलिक पोस्ट प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

सबसे अधिक बार पढ़ा गया लेख