Tuesday, August 11, 2020

मिनीमाता पुण्यतिथि विशेष - श्री हुलेश्वर जोशी

मिनीमाता की पुण्यतिथि पर सादर श्रद्धांजलि - श्री हुलेश्वर जोशी


(15 मार्च 1913 - 11 अगस्त 1972)


आज मिनीमाता की पुण्यतिथि है; वही मिनीमाता उर्फ मीनाक्षी जो स्वतंत्र भारत मे अविभाजित मध्यप्रदेश में प्रथम महिला सांसद हुई जो तीन बार सांसद रही। दिल्ली में विशेषकर मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और असम के लोगों के लिए आश्रयस्थल रही; सतनामी समाज मे जन्मी, साहू समाज द्वारा पालन पोषण की गई और गुरु घासीदास बाबा की बहू अर्थात संविधान निर्माता सांसद गुरु आगम दास की अर्धांगिनी हुई। मिनीमाता मुख्यतः छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और असम में अत्यंत पूज्यनीय है। मिनीमाता हर महिलाओं के लिए प्रेरणास्रोत हैं इनके जीवन और समाज के लिए दिए गए योगदान अत्यंत प्रेरणादायक है।


मिनीमाता जगतजननी के रूप में भी विख्यात रही है; जो भी अमीर गरीब लोग दिल्ली स्थित उनके निवास में जाते वे उनके वात्सल्य से पोषित और संरक्षित होने का सौभाग्य प्राप्त करते। मिनीमाता किसी एक जाति, धर्म अथवा सीमाक्षेत्र के लिए ही नहीं वरन सम्पूर्ण भारतीयों के लिए अत्यंत पूज्यनीय है।


लगभग 5 दशक पूर्व आज के दिन ही दिल्ली के निकट विमान हादसे में मिनीमाता सतलोक गमन कर गई थी।

Share:

1 comment:

Fight With Corona - Lock Down

Citizen COP - Mobile Application : छत्तीसगढ़ पुलिस की मोबाईल एप्लीकेशन सिटीजन काॅप डिजिटल पुलिस थाना का एक स्वरूप है, यह एप्प वर्तमान में छत्तीसगढ़ राज्य के रायपुर एवं दुर्ग संभाग के सभी 10 जिले एवं मुंगेली जिला में सक्रिय रूप से लागू है। वर्तमान में राज्य में सिटीजन काॅप के लगभग 1 लाख 35 हजार सक्रिय उपयोगकर्ता हैं जो अपराधमुक्त समाज की स्थापना में अपना योगदान दे रहे है। उल्लेखनीय है कि इस एप्लीकेशन को राष्ट्रीय स्तर पर डिजिटल इंडिया अवार्ड एवं स्मार्ट पुलिसिंग अवार्ड से सम्मानित किया गया है। यहां यह भी उल्लेखनीय है कि इसे शीघ्र ही पूरे देश में लागू किये जाने की दिशा में भारत सरकार विचार कर रही है। अभी सिटीजन काॅप मोबाईल एप्लीकेशन डाउलोड करने के लिए यहां क्लिक करिए - एच.पी. जोशी

लोकप्रिय ब्लाॅग संदेश (Popular Information)

यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/व्यक्ति अपनी मौलिक पोस्ट प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

Recent

माह में सबसे अधिक बार पढ़ा गया लेख