Sunday, December 09, 2018

पत्नी ज़हर और अमृत का एक विशिष्ट मिश्रण - शोध

पत्नी ज़हर और अमृत का एक विशिष्ट मिश्रण

जानें, क्या है लॉ ऑफ बेजा कब्जा

पत्नी के संबंध में आपने अरबों-खरबों जोक्स सुना होगा, जो सत्य के नज़दीक या सत्य हो सकता है। परंतु आप पत्नी के तत्वरूप से आप परिचित नही होंगे। इसलिए आपको इस रिसर्च को अंत तक जरूर पढ़ना चाहिए। विश्वप्रसिद्ध भारतीय वैज्ञानिक एवम दार्शनिक हुलेश्वर जोशी व उसके टीम ने अपने 34 वर्षों के निरंतर शोध से पता लगाया है कि *पत्नी छठवें तत्व के रूप में विकसित हो रही है।* यदि मनुष्य इसकी अनिवार्यता के विकल्प को नही अपनाया तो यह तेईसवीं शताब्दी के प्रारंभ तक पूर्णरूप से छठवें तत्व के रूप में स्वयं को स्थापित कर लेगी।

एक अन्य शोध में उन्होंने पाया है कि *पत्नी ज़हर और अमृत का एक विशिष्ट प्रकार का मिश्रण है।* जो एक ओर आपको खुशियां देती है आपके सफलता और सुविधाओं के लिए समर्पित रहती हैं तो दूसरी ओर आपके ऊपर बेजा कब्जा कर लेती है किसी भी शर्त में अपने स्वयं एवम अपने गर्भ से जन्मे बच्चों तथा कतिपय मामलों में अपने भाई-बहन के अलावा किसी भी अन्य के लिए उपयोगी नही रहने नही देती। पत्नी स्वतः आपके लिए इतनी कल्याणकारी होगी कि आपको ऐसा लगने लगेगा कि आपके जीवन के लिए केवल वही अनिवार्य है बाकि कुछ और नही, जबकि *लॉ ऑफ बेजा कब्जा*  के तहत वह आपको अन्य के लिए कल्याणकारी रहने नही देगी, आपकी व्यक्तिगत इच्छा और जीवन को समाप्त कर देगी अर्थात *लॉ ऑफ बेजा कब्जा के पालन करने के कारण ही पत्नी ज़हर के समान है।*

Enjoy with Wife, it's a Joke.
Share:

Fight With Corona - Lock Down

Popular Information

यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/व्यक्ति अपनी मौलिक पोस्ट प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

Most Information