आईपीएस श्री गिरिजा शंकर जायसवाल (एसपी, नारायणपुर) ने जिला नारायणपुर को महाराष्ट्र से जोड़ने वाली सड़क के रूके हुए कार्य को पुनः प्रारंभ कराया

एसपी श्री गिरिजा शंकर जायसवाल (आईपीएस) ने सोनपुर से डोण्डरीबेडा रोड़ निर्माण कार्य का किया आकस्मिक निरीक्षण, जिला नारायणपुर को महाराष्ट्र से जोड़ने वाली सड़क के रूके हुए कार्य को पुनः प्रारंभ कराया

आज दिनांक 21.01.2022 को पुलिस अधीक्षक श्री गिरिजा शंकर जायसवाल, आईपीएस ने थाना सोनपुर अंतर्गत सोनपुर से डोण्डरीबेडा तक निर्माणाधीन सड़क निर्माण कार्य को पुनः प्रारंभ कराते हुए लाभान्वित गाँव डोण्डरीबेडा, डोण्डरपुर, मसपुर और गारपा में चल रहे सड़क निर्माण कार्य का जायजा लिया। इस दौरान श्री जायसवाल ने सोनपुर के अंदरूनी गाँव डोण्डरीबेडा, डोण्डरपुर, मसपुर और गारपा के ग्रामीणों से मिलकर उनकी कुशलक्षेम जाना तथा पुलिस-प्रशासन के कार्यों से अवगत कराते हुए ग्रामीणों को उनके मानव अधिकारों से अवगत कराया।

यहाँ यह उल्लेखनीय है कि सड़क एवं परिवहन के साधन न होने के कारण यहॉं के लोगों को पास के मुख्य बाजार सोनपुर जाने-आने में भी भारी समस्याओं का सामना करना पड़ता है, छोटी दूरी तय करने के लिये भी नदी-नाले, झील-झरने और पहाड़-पर्वत से होकर सोनपुर तक की पैदल सफर करने पर विवश हैं इसी कारण यहां के लोग शिक्षा और उपचार से भी वंचित हैं। ग्रामीणों की समस्याओं दृष्टिगत रखते हुए पुलिस अधीक्षक श्री जायसवाल ने जिला नारायणपुर को महाराष्ट्र से जोड़ने वाली सड़क, सोनपुर-से-डोण्डरीबेडा तक के रूके हुए निर्माण कार्य को पुनः प्रारंभ कराया गया। इस सड़क के निर्माण हो जाने से सोनपुर क्षेत्रांतर्गत सैकड़ो गाँव के हजारों लोग लाभान्वित होंगे, अब यहाँ के बच्चे अच्छी और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त कर सकेंगे तथा बिमारी होने पर इलाज के अभाव में लोगों की जानें नही जाएगी। जिन ग्रामीणों को वनोपन विक्रय हेतु सोनपुर जाने-आने में असुविधा होती थी वे अब न सिर्फ सोनपुर और नारायणपुर वरन् महाराष्ट्र में भी व्यापारिक संबंध स्थापित कर सकेंगे।

श्री जायसवाल की सोनपुर क्षेत्रांतर्गत गाँवों में प्रवास के दौरान उनके साथ श्री अनुज कुमार (उप पुलिस अधीक्षक), श्री लोकेश बंसल (एसडीओपी, नारायणपुर) एवं श्री मालिक राम केंवट, (निरीक्षक) उपस्थित रहे।

Related Images:



Share:

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment



प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कैसे करें?


यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/व्यक्ति अपनी मौलिक पोस्ट प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

सबसे अधिक बार पढ़ा गया लेख