Monday, January 07, 2019

सिटीजन कॉप मोबाइल एप्लीकेशन के माध्यम से आईजी जीपी सिंह ने 185 मोबाइल/फ़ोन किये रिकवर और लौटाए उसके मूल मालिकों को

सिटीजन कॉप मोबाइल एप्लीकेशन के माध्यम से आईजी जीपी सिंह ने 185 मोबाइल/फ़ोन किये रिकवर और लौटाए उसके मूल मालिकों को

जी.पी. सिंह, दुर्ग आईजी अपने अंतिम कार्यदिवस के दिन लौटाये 34 नग मोबाईल फोन

सिटीजन काॅप ने लगभग 20 लाख, 45 हजार रूपये के मोबाईल फोन रिकवर किये


श्री जी.पी. सिंह, पुलिस महानिरीक्षक, दुर्ग रेंज, दुर्ग के निर्देशन में संचालित सिटीजन काॅप सेल द्वारा सिटीजन काॅप - मोबाईल एप्लीकेशन पर दर्ज मोबाईल फोन के गुम होने की शिकायतों पर कार्यवाही करते हुये 34 नग मोबाईल फोन रिकवर किया गया। श्री सिंह द्वारा इन 34 नग मोबाईल फोन को उनके मूल मालिको को आवश्यक दस्तावेज देखकर आज दिनांक 06/01/2019 को अपने कार्यालय में वापस सुपुर्द किया गया। गौरतलब है कि ये मोबाईल फोन दीगर राज्य जैसे मध्यप्रदेश के बालाघाट, सीधी, महाराष्ट्र के गोंदिया एवं देवरी, एवं ओडिसा के तितलागढ़ से रिकवर किये गये है तथा कुछ मोबाईल फोन राज्य के रायपुर, बलौदाबाजार, धमतरी, महासमुंद, बालोद, बेमेतरा, राजनांदगांव एवं दुर्ग से भी रिकवर किये गये हैं।

श्री सिंह ने बताया कि ’’सिटीजन काॅप - मोबाईल एप्लीकेशन पुलिस का डिजिटल रूप है जो पुलिस के कार्यप्रणाली को आम नागरिकों के लिए सरल और सुविधाजनक बनाती है। सिटीजन काॅप के दुर्ग संभाग में कुल 27772 सक्रिय उपयोगकर्ता हैं जो लगातार पुलिस के साथ मिलकर अपराधमुक्त समाज की स्थापना में अपना योगदान दे रहे हैं। इस एप्लीकेशन के माध्यम से कुल 3064 सूचनाएं एवं शिकायतें प्राप्त हुई हैं कुल सूचनाओं/शिकायतो मे 1825 एक्षनेबल है जिसपर पुलिस द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए 1432 लोगों को सीधे लाभ पहुचाया गया है। वहीं रिपोर्ट लाॅस्ट आर्टिकल के तहत् 3591 रिपोर्ट प्राप्त हुआ है जिसपर कार्यवाही करते हुए 185 मोबाईल फोन रिकवर कर मोबाईल फोन के वास्तविक मालिकों को लौटाया गया है जिसकी अनुमानित कीमत लगभग 20 लाख 45 हजार रूपये के करीब है। गुम चोरी मोबाईल फोन प्राप्त करने वाले लोगों ने पुलिस के कार्यप्रणाली की प्रशंसा करते हुए अपनी खुशी जाहिर की है।"
Share:

"करा समर्पण" हल्बी गीत

यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/व्यक्ति अपनी मौलिक पोस्ट प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

सबसे अधिक बार पढ़ा गया लेख