आईपीएस श्री सदानंद कुमार अबूझमाड़ के गाँवों में दिनभर बाइक से करते रहे जनसंपर्क; लोगों को नक्सलवाद के हानि और प्रसाशन के कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी

आईपीएस श्री सदानंद कुमार, पुलिस अधीक्षक, नारायणपुर अबूझमाड़ क्षेत्रान्तर्गत विभिन्न ग्रामों में किये विज़िट, लोगों से मिलकर की बातें और सुनी समस्याएँ

आईपीएस श्री सदानंद कुमार अबूझमाड़ के गाँवों में दिनभर बाइक से करते रहे जनसंपर्क; लोगों को नक्सलवाद के हानि और प्रसाशन के कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी

दिनाँक 31.05.2022 को आईपीएस श्री सदानंद कुमार, पुलिस अधीक्षक नारायणपुर अपने टीम के साथ अबूझमाड़ क्षेत्रान्तर्गत किहकाड, मुरनार, बेचा, कोसपाड़का और सोनपुर के प्रवास पर रहे इस दौरान उन्होंने लोगों से जाकर मिले, इस हेतु आईपीएस श्री सदानंद कुमार अबूझमाड़ के जंगलों और गाँवों में दिनभर बाइक सवार होकर जनसंपर्क करते रहे और लोगों को नक्सलवाद के हानि और प्रसाशन के कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी। सुदूरवर्ती गाँवों में विजिट के बाद जनसंपर्क विभाग द्वारा साप्ताहिक बाजार स्थल, सोनपुर में लगाये गए चौपाल कार्यक्रम में सम्मिलित होकर स्थानीय नागरिकों को संबोधित करते हुए आश्वासन दिया कि नारायणपुर पुलिस अबूझमाड़ की उन्नति, शांति और सुरक्षा के लिए संकल्पित है। अतः आप सबसे आग्रह है कि अपने बच्चों को पढ़ाएँ और सरकार के कल्याणकारी योजनाओं का लाभ उठाने के लिए आगे आएँ। जो आपके अस्पताल, सड़क, पुल-पुलिया, आंगनबाड़ी और स्कूल को तबाह करते हैं वो आपकी और आपके बच्चों की उन्नति नहीं चाहते, वही आपके असली दुश्मन हैं।

सोनपुर बाजार में दीदी लोग समोसा, भजिया, पकौड़ा आदि बनाकर बेच रहे थे तभी एक छोटा बच्चा समोसा खाने का ज़िद करने लगा। उसे देखकर एसपी श्री सदानंद कुमार ने दीदी से सभी समोसे भजिया खरीदकर बाजार में आये सभी बच्चों में वितरित करवा दिये। जिसे देखकर सभी बच्चे एवं उनके माता-पिता के चेहरे में मुश्कान आई और धन्यवाद दिए। हाट बाजार क्लीनिक में एसपी श्री सदानंद कुमार ने अपना बीपी चेक कराया और डॉक्टरों को प्रोत्साहित किया तथा बाजार में आये ग्रामीणों को भी अपना स्वास्थ्य जाँच कराने हेतु प्रोत्साहित किया।
Share:

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment



यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/व्यक्ति अपनी मौलिक पोस्ट प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कैसे करें?

सबसे अधिक बार पढ़ा गया लेख