आत्मनिर्भर बनने और आर्थिक आजादी के लिये बस्तर फाईटर बनना चाहती हैं अबूझमाड़ की युवतियाँ; शासकीय बालक हाई स्कूल मैदान नारायणपुर में चल रही है आरक्षक बस्तर फाईटर की भर्ती - अनुसूचित जनजाति (महिला) अभ्यर्थियों कल भी हो सकती हैं भर्ती में शामिल


आत्मनिर्भर बनने और आर्थिक आजादी के लिये बस्तर फाईटर बनना चाहती हैं अबूझमाड़ की युवतियाँ; शासकीय बालक हाई स्कूल मैदान नारायणपुर में चल रही है आरक्षक बस्तर फाईटर की भर्ती - अनुसूचित जनजाति (महिला) अभ्यर्थियों कल भी हो सकती हैं भर्ती में शामिल

दिनाँक 09.05.2022 से शासकीय बालक हाई स्कूल, मैदान नारायणपुर जिला नारायणपुर में बस्तर फाईटर आरक्षक भर्ती प्रक्रिया चल रही है, जिसमें नारायणपुर शहर से लेकर अबुझमाड़ के बीहड़ की युवतियाँ और विवाहित महिलाएँ सम्मिलित हो रही हैं। कल दिनाँक 11.05.2022 को अनारक्षित - महिला (रोलनंबर 10001 से 10031 तक), अन्य पिछड़ा वर्ग- महिला (रोलनंबर 11001 से 11093 तक) एवं अनुसूचित जाति - महिला (रोलनंबर 12001 से 12020 तक) बुलाया गया है।


यहाँ उल्लेखनीय है कि दिनाँक 09.05.2022 को अनुसूचित जनजाति वर्ग (महिला) अभ्यर्थी (रोलनंबर 13001 से 13400 तक) तथा दिनाँक 10.05.2022 को अनुसूचित जनजाति वर्ग (महिला) अभ्यर्थी (रोलनंबर 13401 से 13736 तक) को बुलाया गया था। ऐसे महिला अभ्यर्थियों जो दिनाँक 09.05.2022 एवं 10.05.2022 को कतिपय कारणों से पुलिस भर्ती में शामिल नहीं हो सकी हैं वो दिनाँक 11.05.2022 को भर्ती में शामिल हो सकती हैं। अर्थात् अनुसूचित जनजाति वर्ग (महिला) अभ्यर्थी, रोलनंबर 13001 से 13736 तक के अभ्यर्थी दिनाँक 11.05.2022 को प्रातः 07ः00 बजे से दोपहर 3ः00 बजे तक शासकीय बालक हाई स्कूल, मैदान नारायणपुर में उपस्थित होकर भर्ती में सम्मिलित हो सकती हैं।



-----




Share:

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment



प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कैसे करें?


यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/व्यक्ति अपनी मौलिक पोस्ट प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

सबसे अधिक बार पढ़ा गया लेख