नारायणपुर: जिले के एसपी और कलेक्टर ने अंजरेल हिल्स का किया आकस्मिक निरीक्षण, विभिन्न विकास कार्यों, सुरक्षा व्यवस्था और कल्याणकारी कार्यो का किया समीक्षा

नारायणपुर: जिले के एसपी और कलेक्टर ने अंजरेल हिल्स का किया आकस्मिक निरीक्षण, विभिन्न विकास कार्यों, सुरक्षा व्यवस्था और कल्याणकारी कार्यो का किया समीक्षा

आज दिनांक 14.11.2021 को कलेक्टर श्री धर्मेश कुमार साहू, (आईएएस) और पुलिस अधीक्षक श्री गिरिजा शंकर जायसवाल, (आईपीएस) अंजरेल हिल्स के आकस्मिक निरीक्षण के लिये पहुंचे। इस दौरान पुलिस अधीक्षक श्री जायसवाल द्वारा बीएसएफ कैम्प की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेकर अधिकारियों और जवानों से बातचीत करते हुए जवानों के वेलफेयर, मनोरंजन, साफ-सफाई और शारीरिक स्वास्थ्य को प्राथमिकता में रखने की बात कही। इसके बाद उत्खनन स्थल, सड़क निर्माण, शिविर सुरक्षा व्यवस्था और विभिन्न प्रकार के विकास मार्गों की खोज के लिये ड्रोन सर्वेक्षण किया गया। भिलाई स्टील प्लांट के अधिकारियों से बात कर उन्हें निर्देशित किया गया कि यह सुनिश्चित करें कि किसी भी स्थिति में आम नागरिकों को कोई समस्या का सामना करना न पड़े। इसके उपरांत एसपी और कलेक्टर ग्रामीणों से मिलकर चर्चा किये, ग्रामीणों से उनकी समस्याएं सुनीं तथा समस्याओं के निराकरण हेतु उन्हें आश्वासन दिया गया।

पुलिस अधीक्षक श्री गिरिजा शंकर जायसवाल ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि "जिला नारायणपुर के पुलिस आपके अपने सुरक्षा और सुविधाओं के लिये तैनात किये गये हैं। कोई भी अधिकारी और जवान चाहे जिला पुलिस बल के हों, केन्द्रीय सशस्त्र बल के हों, छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल के हों या फिर क्यों न डी.आर.जी. अथवा एस.टी.एफ. के हों आपको उनसे अपनी सुरक्षा पाने का अधिकार है। आप किसी भी प्रकार की सुरक्षा, सहयोग और मार्गदर्शन के लिये सीधे मेरे कार्यालय में आकर मुझसे बात कर सकते हैं और अपेक्षित सहयोग प्राप्त कर सकते हैं।"

Related Images:




Share:

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment


प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कैसे करें?


यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/व्यक्ति अपनी मौलिक पोस्ट प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

सबसे अधिक बार पढ़ा गया लेख