नारायणपुर पुलिस की पहल: शासकीय उच्चतर माध्यमिक स्कूल, बेनूर में ‘‘यातायात जागरूकता कार्यक्रम’’ का हुआ आयोजन

नारायणपुर पुलिस की पहल: शासकीय उच्चतर माध्यमिक स्कूल, बेनूर में ‘‘यातायात जागरूकता कार्यक्रम’’ का हुआ आयोजन

आज दिनांक 14.12.2021 को पुलिस अधीक्षक श्री गिरिजा शंकर जायसवाल के निर्देशानुसार अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री नीरज चन्द्राकर के विशेष मार्गदर्शन में शासकीय उच्चतर माध्यमिक स्कूल, बेनूर में ‘‘यातायात जागरूकता कार्यक्रम’’ का आयोजन हुआ। आरआई श्री दीपक साव, यातायात प्रभारी, नारायणपुर के नेतृत्व में संचालित इस कार्यक्रम में यातायात जागरूकता पर केन्द्रित विषयों पर स्कूल के छात्रों को अवेयर किया गया, इसके तहत् ट्रैफिक साईन और मौजूदा यातायात नियमों की जानकारी दी गई।

छात्र/छात्राओं को संबोधित करते हुए यातायात प्रभारी श्री साव ने कहा कि ‘‘यातायात नियम आपके आजाद़ी पर पाबंदी लगाने के लिये नहीं बल्कि आपकी और सड़क यात्रा करने वाले सभी लोगों के प्राणों की रक्षा के लिये बनाये गये हैं।’’ अतः इसका पालन करना अत्यंत आवश्यक है। श्री साव ने छात्रों से पुनः कहा कि इसके लिये यह भी आवश्यक है कि आप यातायात नियमों और ट्रैफिक सिग्नल्स की पूरी जानकारी हासिल कर सकें इसीलिये ये जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किये गये हैं। आपसे सभी से व्यक्तिगतरूप से अपेक्षा है कि आप इस वर्कशॉप में सीखी गई बातें जीवन पर्यंत पालन करेंगे और जागरूक नागरिक बनेंगे।

शासकीय उच्चतर माध्यमिक स्कूल, बेनूर में आयोजित ‘‘यातायात जागरूकता कार्यक्रम’’ के दौरान उप पुलिस अधीक्षक श्री रितेश श्रीवास्तव (एसडीओपी, बेनूर), आरआई श्री दीपक साव, निरीक्षक श्री तोपसिंह नवरंग (थाना प्रभारी, बेनूर) प्राचार्य श्री दीनदयाल शोरी (शासकीय उच्चतर माध्यमिक स्कूल, बेनूर) एवं, स्कूल के अन्य स्टॉफ व यातायात पुलिस के अधिकारी सहित लगभग 200 छात्र/छात्राएं उपस्थित रहे।

Related Images:




Share:

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment



यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/व्यक्ति अपनी मौलिक पोस्ट प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कैसे करें?

सबसे अधिक बार पढ़ा गया लेख