Friday, March 31, 2017

मेक्रोमेनेजमेंट योजना - एकीकृत अनाज विकास कार्यक्रम-धान



मेक्रोमेनेजमेंट योजना - एकीकृत अनाज विकास कार्यक्रम-धान


कार्य क्षेत्र - राज्य के 08 जिले (महासमुंद, धमतरी, दुर्ग, बिलासपुर, जगदलपुर, कांकेर, नारायणपुर एवं बीजापुर)

योजना का उद्देश्य - धान फसल के क्षेत्र एवं उत्पादन में वृद्धि करना हितग्राही की पात्रता - सभी श्रेणी के कृषक योजना में लाभान्वित किये जाते हैं परंतु लघु सीमांत, अनु.जाति/ जनजाति एवं महिला कृषकों को
प्राथमिकता दी जाती है।

मिलने वाला लाभ - 
1. प्रमाणित बीज वितरण पर अनुदान दस वर्ष के भीतर अथवा विपुल उत्पादन देने वाली अधिसूचित किस्मों के धान बीज
पर रू. 500 अथवा 50 प्रतिशत/क्विं. अनुदान देय

2. प्रदर्शन
1. उन्नत तकनीकी प्रदर्शन 2500/- रुपये/एकड़
2. मेडागास्कर पद्धत्ति तथा हाईब्रिड तकनीकी प्रदर्शन ३०००/- रुपये/एकड़
3. सूक्ष्म तत्व
4. चूना उपयोग (अम्लीय भूमि हेतु)
5. पौध संरक्षण दवा एवं बायो पेस्टीसाइड्स 500/- रुपये/हेक्टेयर अथवा 50 प्रतिशत जो भी कम हो
6. कृषक खेत पाठशाला 17000/- रुपये / पाठ- शाला
Share:

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

"करा समर्पण" हल्बी गीत

यह वेबसाइट /ब्लॉग भारतीय संविधान की अनुच्छेद १९ (१) क - अभिव्यक्ति की आजादी के तहत सोशल मीडिया के रूप में तैयार की गयी है।
यह वेबसाईड एक ब्लाॅग है, इसे समाचार आधारित वेबपोर्टल न समझें।
इस ब्लाॅग में कोई भी लेखक/व्यक्ति अपनी मौलिक पोस्ट प्रकाशित करवा सकता है। इस ब्लाॅग के माध्यम से हम शैक्षणिक, समाजिक और धार्मिक जागरूकता लाने तथा वैज्ञानिक सोच विकसित करने के लिए प्रयासरत् हैं। लेखनीय और संपादकीय त्रूटियों के लिए मै क्षमाप्रार्थी हूं। - श्रीमती विधि हुलेश्वर जोशी

सबसे अधिक बार पढ़ा गया लेख